Browsing Category

विश्लेषण/विचार

बिगूचनों का दौर (डायरी, 13 अगस्त, 2022)

शब्द बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। यदि शब्द न हों तो कितनी समस्याएं हों। बचपन में यह ख्याल तब आता था जब पापा के साथ मैं गांव के राधे बड़का बाबू…
Read More...

सीवर की लिंटर गिरने से दो मजदूरों की मौत (डायरी 12 अगस्त, 2022) 

जहाँ पूरे देश में प्रधानमंत्री ने स्वच्छता अभियान जोर-शोर से चलाया  वहीँ वास्तिवक सीवर मजदूरों के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है।सीवर…
Read More...

गीता का लेखक कौन था और उसकी जरूरत क्या थी

गीता किसने लिखी होगी? और इसके पीछे क्या कारण रहा होगा? आखिर इस किताब से किसका हित सधता है? क्या गीता कोई धार्मिक किताब है? वह…
Read More...

मत पढ़िए, अगर आप संवेदनशील नहीं हैं (डायरी 11 अगस्त, 2022)

यह केवल भारत का मसला नहीं है। पूरी दुनिया में दो ही तरह के लोग हैं। एक वे हैं जिनके पास जीने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं और दूसरे वे, जिनके…
Read More...

बिहार – अश्क आंखों में कब नहीं आता (डायरी, 10 अगस्त, 2022)

कल फिर बिहार की सियासत पर पूरे देश की नजर रही। इसकी वजह भी थी। अभी एकदम हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय…
Read More...

लाचार संसद (डायरी, 9 अगस्त, 2022)

बचपन की कहानियां बेकार कहानियां नहीं थीं। हालांकि अब जहन में कुछ ही कहानियां शेष हैं। अनेकानेक कहानियां अब जहन में नहीं हैं। वैसे यह भी एक…
Read More...

धरी की धरी रह गई नरेंद्र मोदी की अंतरिक्ष में अमर होने की तमन्ना (डायरी, 8 अगस्त, 2022) 

अंतरिक्ष में कचरा सुनकर ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं। हालांकि मैं कोई वैज्ञानिक नहीं हूं जो इससे जुड़े अन्य वैज्ञानिक सवालों के बारे में…
Read More...

सब कुछ तराजू पर नहीं तौला जा सकता (डायरी 7 अगस्त, 2022)  

आजकल पारंपरिक तराजू नजर नहीं आते। लोग वजन तौलने की मशीन रखने लगे हैं। यह अच्छा भी है और बुरा भी। अच्छा इस मायने में कि खरीदार अंकों के…
Read More...

मुमकिन है सड़क हादसों का न्यूनीकरण (डायरी, 6 अगस्त, 2022)

भारत सरकार और विभिन्न राज्य सरकारें तमाम दावे कर लें, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारतीय सड़कें दुनिया के स्तर पर सबसे खतरनाक सड़कों की…
Read More...

आखिर मोदी को पसमांदा मुसलमानों की क्या जरूरत पड़ गई है?

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कई अलग-अलग तरीकों से अपनी चुनावी ताकत बढ़ाती रही है। पार्टी को मिलने वाले वोटों का प्रतिशत बढ़ता जा रहा है। परंतु…
Read More...