Browsing Category

पानी/पर्यावरण

आखिर क्यों विषगंगा में बदलती जा रही है कोल्हापुर में पंचगंगा नदी

महाराष्ट्र के कोल्हापुर शहर में बहने वाली पंचगंगा नदी शहर की शान है लेकिन बढ़ते प्रदूषण ने इस शान में बट्टा लगा दिया है। पंचगंगा कृष्णा नदी…
Read More...

मुंबई : कूड़ा जो उड़ता और रिसता हुआ फैल रहा है साँसों और धमनियों तक

मनुष्य को जीने के लिए हवा और पानी एक बुनियादी जरूरत है। इसके साथ ही यह सवाल उठता है कि क्या हमारे पास ये दोनों चीजें हैं? बेशक यह एक जटिल और…
Read More...

जल संकट के कारण खेत सूख रहे हैं और लोग आर्सेनिक वाला पानी पी रहे हैं!

आज से कुछ साल पहले भी जल संकट पर चर्चा होती थी, पर इसकी याद तब आती थी जब गर्मियों का मौसम नजदीक होता था। पानी के लिए लोगों की लंबी कतारें,…
Read More...

कहाँ है ऐसा गाँव जहाँ न स्कूल है न पीने को पानी

अगर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मानें तो अगले हफ्ते आने वाले आज़ादी के अमृत महोत्सव तक भारत के हर आदमी को पक्का घर, घर में नल, नल में जल,…
Read More...

मछुआरों की उपेक्षा भी है नदी प्रदूषण का एक बड़ा और गम्भीर कारण

नदी एवं पर्यावरण संचेतना यात्रा अब गाँव से शहर की तरफ बढ़ने लगी है। 31 जुलाई दिन रविवार को शास्त्री घाट से निषाद राज घाट तक हम लोगों ने…
Read More...

सिंजाजेविना पहाड़ों और वहां के पशुपालक समुदायों की रक्षा की लड़ाई

लोग सिंजाजेविना की रक्षा के लिए क्यों लड़ रहे हैं? क्या है पूरा मामला और उसका महत्व? सिंजाजेविना मोंटेनेग्रो का सबसे बड़ा पर्वत…
Read More...

बावड़ियों और तालाबों के बिना पर्यावरण की कल्पना अधूरी है

आज हम अपनी बात तालाब से शुरु करेंगे। तालाब जब सबके थे जनसमुदाय के थे और सबको तालाबों से काम था। जन और तालाब की पारस्परिकता ने तालाब को…
Read More...

भू-जल की अनदेखी का एक और वर्ष

यूएन वाटर द्वारा इस वर्ष विश्व जल दिवस की थीम के रूप में 'ग्राउंड वाटर:मेकिंग द इनविजिबल विज़िबल' का चयन किया गया है। भूजल अदृश्य जरूर है…
Read More...

विकास के बोझ तले क्यों रौंदी जा रही है हमारी संस्कृति ?

उत्तराखंड सरकार को चमोली जिले के जोशीमठ कस्बे से करीब 90 किलोमीटर दूर ग्राम नीति से करीब दो किलोमीटर आगे और गमसाली गांव से करीब एक किलोमीटर…
Read More...

नदियों के मामले में आत्मघाती निर्णयों से बचना होगा

उत्तराखंड सरकार को चमोली जिले के जोशी मठ कस्बे से करीब 90 किलोमीटर दूर ग्राम नीति से करीब दो किलोमीटर आगे और गमसाली गांव से करीब एक…
Read More...