Browsing Category

गतिविधियाँ

किशोरियों को दी गई संकट काल में आत्मरक्षा की ट्रेनिंग 

बच्चों को सुरक्षित रखने और यौन शोषण से सतर्क रहने के लिए जरूरी बातों का ज्ञान कराने के उद्देश्य से सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट और महिला…
Read More...

गांधीजी के जीवन पर आधारित पुस्तक देकर किया पुरस्कृत 

2660 बच्चे हुए शामिल, 234 का प्रदर्शन रहा उल्लेखनीय  सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में अध्ययनरत बच्चों की प्रतिभा को पहचानने और उन्हें…
Read More...

सरकारी स्कूल में बच्चों के लिए आशा ट्रस्ट की ने टेबुल-बेंच की व्यवस्था

स्कूलों की प्रगति के लिए समाज को आगे आना होगा: वल्लभाचार्य  वाराणसी। सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट द्वारा एक देश समान शिक्षा अभियान के तहत…
Read More...

पीएम के संसदीय क्षेत्र में पुलिस ने छात्राओं को नहीं निकालने दी शिक्षा अधिकार रैली

अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन (ऐपवा) ने भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले और फातिमा शेख को लेकर बीएचयू गेट पर कार्यक्रम…
Read More...

जिस मज़हब में मानव को छू लेने भर से पाप लगे, तू उसमें सुख से रह लेगा, इस ग़फ़लत में मत रहना…

नवदलित लेखक संघ (नदलेस) द्वारा आयोजित 2022 की आखिरी गोष्ठी स्वतंत्र काव्य पाठ पर केंद्रित रही। इसकी अध्यक्षता डा. कुसुम वियोगी ने की और…
Read More...

पीढ़ियों से चली आ रही पितृसत्तात्मक सोच को बदलना पड़ेगा

घरेलू महिला उत्पीड़न व लैंगिक भेदभाव के मुद्दों पर जागरुकता एवं संवेदनशीलता प्रसार हेतु बसंता महिला महाविद्यालय, राजघाट की छात्राओं के बीच…
Read More...

डॉ. अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस एवं बाबरी मस्जिद शहादत दिवस पर विचार गोष्ठी

दरभंगा। लोकतंत्र के अमर शिल्पी बाबासाहेब डॉ. अम्बेडकर के परिनिर्वाण दिवस तथा बाबरी मस्ज़िद शहादत दिवस के मौके पर जन संस्कृति मंच, दरभंगा…
Read More...

जब-जब जनांदोलन उभरेंगे, विद्रोही हमारे आगे-आगे मशाल लेकर चलेंगे

संवेदनात्मक ज्ञान और ज्ञानात्मक संवेदना के लोकधर्मी कवि और फ़ासीवाद विरोधी कार्यकर्ता रमाशंकर विद्रोही की जयंती के सुअवसर पर जन संस्कृति मंच…
Read More...

पुरुष क्यों महिलाओं को घर की मुर्गी समझता है?

आज 2 दिसंबर 2022 को महिला उत्पीड़न व लैंगिक मुद्दों पर जागरुकता एवं संवेदनशीलता प्रसार हेतु हरिश्चन्द्र महाविद्यालय में दखल संगठन के द्वारा…
Read More...

हिंसा और यातना लोकतंत्र और स्थायी विकास के लिए खतरा है

यातना मुक्त समाज के लिए बहुलतावाद क्यों जरूरी है? विषय पर संवाद का आयोजन वाराणसी में बघवानाला स्थित मिर्ज़ा ग़ालिब ग्लोबल सेंटर फॉर…
Read More...