Browsing Tag

गुजरात दंगा

राष्ट्रीयता के मसले को आम जनता को उत्तेजित करने के षड्यंत्र की तरह देखा जाना चाहिए

तीसरा और आखिरी हिस्सा आप तेलुगु के प्राध्यापक भी रहे हैं। लगातार जेल आने-जाने से क्या आपकी सरकारी सेवा सुरक्षित रही? मैं वरंगल के एक…
Read More...

आधुनिक भारत में ब्राह्मणों और राजपूतों के बीच ऐसे हो रही लड़ाई  (डायरी 14 अक्टूबर, 2021)  

भारत के शासकों ने देश के अखबारों के जैसे अपनी परिभाषा बदल ली है। यह बिल्कुल वैसा ही है जैसे इस देश के पुलिस थाने करते हैं। मतलब यह कि सीमा…
Read More...