Browsing Tag

डॉ.एन. सिंह

दलित आत्मकथाओं ने हिन्दू समाज का दोरंगा चरित्र पूरी दुनिया के सामने बेनकाब किया है

हिन्दी में दलित साहित्य अस्सी के दशक में अपना आकार लेता हुआ प्रतीत होता है। इस दशक में ही हिन्दी दलित कवियों के काव्य संग्रह प्रकाशित होने…
Read More...

आरक्षण से पहले जाति समाप्त हो और बिना बराबरी के जाति नहीं समाप्त हो सकती

डॉ.एन.सिंह हिन्दी दलित साहित्य का प्रतिष्ठित एवं जाना-पहचाना नाम है | उनका जन्म 1 जनवरी 1956 को सहारनपुर जनपद ,उ.प्र.के चतरसाली गांव में एक…
Read More...