Browsing Tag

महानगरों

जातिवादी समाज ने चिड़ियों की भी जाति बना दी है

नवंबर 2018 किसी दोपहर को मैं अपने गाँववाले घर के बरामदे में बैठकर निठल्ले चिंतन में मशगूल था कि सामने निगाह पड़ी और बरबस ठहर गई। मैंने देखा…
Read More...