Browsing Tag

सांप्रदायिक

कैराना से ‘पलायन’- समाज को बांटकर वोट बटोरने की कवायद

सन 2014 के लोकसभा चुनाव के ठीक पहले, उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में भड़के सांप्रदायिक हिंसा के दावानल में 80 मुसलमान मारे गए थे और हज़ारों को…
Read More...

इंदौर की घटनाओं के पीछे सांप्रदायिकता फैलाने का सुनियोजित एजेंडा

फिल्म रईस का एक मशहूर डायलॉग है ‘अम्मी जान कहती थीं, कोई धंधा छोटा नहीं होता और धंधे से बड़ा कोई धर्म नहीं होता’ लेकिन पिछले दिनों मध्य…
Read More...