Browsing Tag

atal tiwari

ज़्यादातर लेखक संघ एक तरह से वृद्धाश्रम होकर रह गए हैं

बातचीत का चौथा और अंतिम हिस्सा भालचन्द्र नेमाडे को ज्ञानपीठ सम्मान देने के लिए आयोजित समारोह के मुख्य अतिथि नरेन्द्र मोदी थे, जिसकी…
Read More...

प्रेमचंद के बाद ऐसा कोई कथाकार नहीं हुआ है जिसकी रचनाओं में मुस्लिम समाज का सांस्कृतिक वैभव हो

बातचीत दूसरा हिस्सा आप अपने उपन्यासों में खुद उपदेश देने के बजाय पात्रों के जरिए गंभीर बातें कहलाते हैं। मेवात जैसे अलक्षित क्षेत्र की…
Read More...

राजेंद्र यादव और मैंने 1857 की अवधारणा पर सवाल उठाया

मैंने समाजवादी पार्टी की आलोचना की तो कुछ यादवों को मेरे यादव जाति में पैदा होने पर ही शक हो गया (बातचीत का चौथा और अंतिम भाग) आपने…
Read More...