Browsing Tag

virendra yadav

प्रेमचंद एक साथ सामंतवादी शक्तियों और सामाजिक विषमता के खिलाफ लड़ रहे थे -वीरेंद्र यादव

‘प्रेमचंद बीसवीं सदी के सबसे बड़े रचनाकार हैं। उन्होंने सोजे वतन लिखकर स्वाधीनता-संग्राम को गति देने की कोशिश की। प्रेमचंद ग्रामीण जीवन और…
Read More...

राजेंद्र यादव और मैंने 1857 की अवधारणा पर सवाल उठाया

मैंने समाजवादी पार्टी की आलोचना की तो कुछ यादवों को मेरे यादव जाति में पैदा होने पर ही शक हो गया (बातचीत का चौथा और अंतिम भाग) आपने…
Read More...