Browsing Tag

संस्कृति

बिरहा के बेजोड़ कवि-गायक लक्ष्मी नारायण यादव

बिरहा लोकगायकी की एक विशिष्ट विधा है। भोजपुरी बोलने वाले इलाक़ों में इसकी लोकप्रियता ज़बरदस्त रही है। कुछ दशक पहले तक बिरहा गायन की धूम थी।…
Read More...

आदिवासियों के पलायन की समस्या गंभीर है

धर्म व सत्ता द्वारा आदिवासी समाज का शोषण सदियों से होता चला आ रहा है। ये समाज मुख्यधारा के समाज से दूर जंगलों में निवास करता है। इनकी…
Read More...

जातिवाद की बीमारी से बचाएगी जाति जनगणना

जाति जनगणना बेहद आवश्यक कार्य है, जिसे होना ही चाहिए। यह भारतीय समाज की सामाजिक बुनावट की विसंगतियों को नंगी आंखों से दिखाने वाला एक…
Read More...