Browsing Tag

संविधान

क्या दलित हिंदू नहीं, पृथक अल्पसंख्यक वर्ग हैं?

बाबासाहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की किताब  राज्य और अल्पसंख्यक आकार की दृष्टि से बहुत बड़ी नहीं, छोटी-सी किताब है, लेकिन आज के समय में अत्यंत…
Read More...

आरएसएस का खिलौना बन रहे नरेंद्र मोदी, नीतीश और मायावती जैसे शूद्र (डायरी  21 फरवरी, 2022) 

सत्ता महत्वपूर्ण है। इतनी महत्वपूर्ण कि सत्ता जिसके पास जबतक रहती है, उसे इस बात का अहसास होता है कि वह सर्वशक्तिमान है और वह जो चाहे सो…
Read More...

सभी जाति धर्म की स्त्रियों की तकलीफें एक जैसी हैं- सुगंधि फ्रांसिस (भाग -तीन)

तीसरा और अंतिम हिस्सा विवेक ने समाज को बदलने का जो बीड़ा उठाया था उसका एक रंग यह भी था कि स्वयं भी झोपड़पट्टी में रहकर झुग्गी - झोपड़ियों के…
Read More...

सरकार जनता से डरी हुई है इसलिए आंदोलनों को बेरहमी से कुचल देना चाहती है

बनारस में जातिगत जनगणना और किसान आन्दोलन जैसे विभिन्न मुद्दों को लेकर जाने-माने अधिवक्ता और सामाजिक चिंतक प्रेम प्रकाश सिंह यादव बहुत दिनों…
Read More...

बुतपरस्ती करके उसकी अपने को चमकाए है

मूर्तियां लोगों को मूर्ख बनाकर उनके अधिकारों को छीनने का तरीका है जबकि सरकार में उनकी जनसंख्या के हिसाब से उनका प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने…
Read More...

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का कराची प्रस्ताव : 1931

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की बम्बई में 6, 7, 8 अगस्त, 1931 को हुई मीटिंग में मौलिक अधिकारों और आर्थिक कार्यक्रमों पर कराची प्रस्ताव की…
Read More...