Browsing Tag

#gyanvapimasjid

अदालतों में कहानियां लिखी नहीं, गढ़ी जाती हैं (डायरी 20 मई, 2022) 

कहानियाें का लेखन सुंदर काम है। यह कहानियां लिखनेवाला ही समझ सकता है। परकाया प्रवेश के जैसा होता है बाजदफा यह। मतलब यह कि जो आप नहीं हैं, आप…
Read More...

माननीय न्यायाधीश महोदय को डर (डायरी 14 मई, 2022) 

डर सभी को लगता है। यह एक ऐसी बात है, जिसके लिए किसी की आलोचना नहीं की जानी चाहिए। लेकिन इस पर विचार जरूर किया जाना चाहिए कि आदमी…
Read More...

मुल्क में जहर घोलता आरएसएस (डायरी 13 मई, 2022)

भाजपा अब सियासत करना जान गई है। यह इस वजह से भी संभव हुआ है क्योंकि वह 2014 से सत्ता में है। दरअसल, सियासत करने के लिए सत्ता में होना जरूरी…
Read More...