कोरोना की तीसरी लहर के खिलाफ आशा ट्रस्ट की तैयारियां

ग्रामीण चिकित्सकों को उनके आवास पर कोरोना योद्धा सम्मान से सम्मानित किया गया

1 157

वाराणसी। कोरोना की तीसरी लहर की भविष्यवाणी विभिन्न विशेषज्ञों और सरकार द्वारा की गयी है, इससे निपटने के लिए युद्धस्तर पर तमाम सरकारी और गैर सरकारी प्रयास जारी है। दूसरी लहर में आक्सीजन की किल्लत एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने आई थी. जिससे लोग काफी असहाय महसूस कर रहे थे। विभिन्न अध्ययनों से स्पष्ठ हुआ है कि गांव-गिरांव में चिकित्सा कार्य में लगे चिकित्सक जन को आवश्यक स्वास्थ्य उपकरणों से लैस होना आवश्यक है, क्यूंकि एक बड़ी आबादी की स्वास्थ्य रक्षा की जिम्मेदारी इनके ऊपर है। सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट ने संभावित तीसरी लहर को चुनौती के रूप में स्वीकारते हुए ‘कोविड राहत अभियान’ का संचालन किया है। इस क्रम में ऐसे ग्रामीण चिकित्सकों को चिन्हित किया जा रहा है जिन्होंने दूसरी लहर के दौरान उल्लेखनीय सेवा समाज को प्रदान की। संस्था द्वारा इन चिकित्सकों को कोरोना योद्धा सम्मान पत्र एवं स्वास्थ्य किट देकर सम्मानित किया जा रहा है। यह अभियान पूर्वांचल के विभिन्न जिलों में संचालित किया जा रहा है।

काशी के कबीर का सम्मान

सामाजिक सोच को दिया बढ़ावा
संस्था के कार्यकताओं ने शुक्रवार को चौबेपुर क्षेत्र के डॉ. मेवालाल, डॉ. अशोक पाण्डेय, अशोक पाल, डॉ. अरविन्द चौबे, प्रेम कुशवाहा एवं आशा बहू ममता पाल को उनके आवास पर पहुंच कर समान पत्र एवं स्वास्थ्य किट देकर सम्मानित किया। आशा ट्रस्ट द्वारा चेन्नई की सामाजिक संस्था भूमिका ट्रस्ट के सहयोग से चौबेपुर क्षेत्र में कुल पांच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराया है, जिसे कैथी, भगवानपुर, भंदहा कला, कादीपुर खुर्द और चौबेपुर बाजार में सामाजिक सोच वाले लोगों के यहाँ स्थापित कराया गया है जो आवश्यकता पड़ने पर सार्वजनिक रूप से लोगों को इसकी सेवा उपलब्ध कराएंगे।
आपदा के समय में ग्रामीण चिकित्सकों की सेवा सराहनीय
भगवानपुर ग्राम में नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान राजेन्द्र यादव और कादीपुर में चिकित्सक अशोक पाल को कंसंट्रेटर प्रदान करते हुए आशा संस्था के समन्वयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने कहा कि देश में विभिन्न संस्थाएं इस दिशा में काम कर रही हैं इनका उद्देश्य मात्र इतना ही है कि किसी को भी भविष्य में आक्सीजन की आवश्यकता पड़े तो उसे दूर दराज भटकना न पड़े आप पास के इलाके में सर्व सुलभ स्थान पर कंसंट्रेटर उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि ग्रामीण चिकित्सकों ने पिछली आपदा के समय खतरे से खेलते हुए लोगों की सेवा की है हमे उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करनी चाहिए।
कार्यकर्ताओं ने किया सहयोग
इसके पूर्व आशा ट्रस्ट के भंदहा कला स्थित केंद्र पर काशी में लावारिस, लाचार और घायल लोगों की अदम्य सेवा करने वाले युवा समाजसेवी अमन यादव ‘कबीर’ को भी कोरोना योद्धा सम्मान से सम्मानित करते हुए उन्हें स्वास्थ्य किट एवं एक पांच लीटर क्षमता का ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किया जिसका उपयोग वे अपनी एम्बुलेंस सेवा में कर सकेंगे। कार्यक्रम में प्रदीप कुमार सिंह, सूरज पाण्डेय, महेश पाण्डेय, स्वयं प्रकाश, रामजनम भाई आदि का विशेष योगदान रहा।

1 Comment
  1. VKP says

    Radiation meter भी दुरुस्त रखें और हमेशा साथ रखें मरीज के परिवेश में भी Radiationकी तीव्रता की जाॅच अवश्य कराई जाय

Leave A Reply

Your email address will not be published.