Wednesday, July 24, 2024
होमराजनीतिभाजपा नेताओं ने नाबालिग से किया गैंगरेप, मरने के बाद फेंका सड़क...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

भाजपा नेताओं ने नाबालिग से किया गैंगरेप, मरने के बाद फेंका सड़क किनारे

बस्ती। यूपी के बस्ती जिले में बीते सोमवार को नाबालिग लड़की के साथ हुई बर्बर घटना की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि हो गई है कि उसके साथ एक से ज़्यादा लोगों ने वजाइनल और एनल रेप (प्राकृतिक और अप्राकृतिक दुष्कर्म) किया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि नाबालिग के वजाइनल और एनल […]

बस्ती। यूपी के बस्ती जिले में बीते सोमवार को नाबालिग लड़की के साथ हुई बर्बर घटना की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि हो गई है कि उसके साथ एक से ज़्यादा लोगों ने वजाइनल और एनल रेप (प्राकृतिक और अप्राकृतिक दुष्कर्म) किया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि नाबालिग के वजाइनल और एनल हिस्सों से काफी ब्लीडिंग हुई है, जिससे पीड़िता कोमा में चली गई और उसकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि नाबालिग की मौत आंत फटने से हुई है। इससे पहले पुलिस को दिए बयान में शालिनी यादव की माँ ने मोनू साहनी, राजन निषाद और कुंदन सिंह पर बेटी के गैंगरेप और हत्या करने का मामला दर्ज़ कराया था। रिपोर्ट के अनुसार, कुंदन सिंह बीजेपी किसान मोर्चा गौर मंडल का उपाध्यक्ष है, जबकि बाकी दो आरोपी BJP के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं।

वहीं, भाजपा के मौजूदा मंडल अध्यक्ष रामअचल मौर्य ने लेटर लिखकर कहा है कि ‘मुख्यारोपी कुंदन सिंह सिर्फ़ कुछ महीनों के लिए ही बीजेपी के किसान मोर्चा का मंडल उपाध्यक्ष बना था लेकिन 15 अप्रैल, 2022 को उसे पद से हटा दिया गया।’ भाजपा मंडल अध्यक्ष के बयान से जाहिर है कि कुंदन भाजपाई रहा है। रामअचल ने एक लिस्ट जारी करके दावा किया है कि आरोपी कुंदन सिंह फिलहाल भाजपा किसान मोर्चा का मंडल उपाध्यक्ष नहीं है।

[bs-quote quote=”पुलिस टीम ने घटनास्थल से लेकर कुंदन सिंह के मकान की सघन जांच की। भाजपा से जुड़े रहे आरोपी कुंदन सिंह के मकान की दूसरी मंजिल पर पुलिस को एक कमरे में बेड पर खून से सना गद्दा मिला है। साथ ही पुलिस ने कपड़ों के ढेर से खून से सनी एक बेडशीट और अन्य कपड़ा भी बरामद किया है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी की निशानदेही पर अन्य साक्ष्य भी जुटाए हैं। पुलिस की जांच में सीढ़ियों पर भी खून के निशान पाए गए हैं।” style=”style-2″ align=”center” color=”” author_name=”” author_job=”” author_avatar=”” author_link=””][/bs-quote]

क्या है घटना

बस्ती जिले के गौर थाना क्षेत्र के रानीपुर बाबू गांव निवासी रामजीत यादव की नाबालिग लड़की शालिनी यादव (14) बीते 5 जून (सोमवार) की शाम अपने घर से सब्जी लेने के लिए साईकिल से बिरुऊपुर चौराहे की तरफ निकली थी। काफी देर होने पर भी जब लड़की घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू की। घरवालों को सूचना मिली कि कछिया-बिरऊपुर रास्ते पर एक मकान के पास शालिनी की लाश पड़ी है। लड़की के परिजन आनन-फानन में घटनास्थल पर पहुंचे। रोवन-पीटन के बीच परिजनों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।

पुलिस के अनुसार, घर से निकलने के बाद रानीपुर बाबू गांव का रहने वाला मोनू साहनी शालिनी को लेकर बगल के गांव निवासी कुंदन सिंह के मकान पर पहुंचा था। वहां किशोरी के गांव का ही रहने वाला राजन निषाद भी मौजूद था। तीनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उनकी हैवानियत से किशोरी के शरीर से अत्यधिक रक्तस्राव हुआ और उसकी मौत हो गई। तीनों उसे सीढ़ी से घसीटते हुए बाहर लाए और सड़क किनारे फेंक दिए। देर रात खून से लथपथ किशोरी का शव मिला। कुंदन सिंह, मोनू साहनी और राजन निषाद पर गैंगरेप, हत्या एवं पॉक्सो (PACSO) की धाराएं लगाई गई हैं। तीनों पकड़े गए हैं। पुलिस के अनुसार एक आरोपी ने नाबालिग किशोरी का तीनों के द्वारा रेप करने और ब्लीडिंग ज्यादा होने से मौत की बात स्वीकारी है।

सुनें बस्ती के एसपी का बयान

https://twitter.com/bastipolice/status/1666350322283937792?t=9aPidxK2lF-hv34XuF-wZQ&s=19

बस्ती के एसपी गोपाल चौधरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया है कि आरोपित मोनू साहनी को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। राजन निषाद व कुंदन सिंह को बुधवार को गिरफ्तार किया गया। वहीं, पुलिस पूछताछ में मोनू साहनी ने बताया है कि वह लड़की को पिछले छह-सात महीने से जानता था। बीते 5 जून की शाम उसने लड़की को फोन करके मिलने के लिए बुलाया। जिसके बाद वो नाबालिग लड़की को बहला-फुसलाकर कुंदन सिंह के घर ले गया। जहां उसके साथ तीनों ने रेप किया गया। बाद में लड़की की मौत हो गई। तब आरोपियों ने मौका देखकर नाबालिग का शव सड़क किनारे फेंक दिया।

आरोपी ने खुद फोन करके बताया कि लाश घर के पीछे पड़ी है

पीड़िता की माँ ने बताया कि वह अपनी बेटी को हमेशा बाज़ार भेजती रही हैं। पर उस दिन जब वे देर तक घर नहीं लौटी तो चिंता होने लगी। इसी बीच, गांव के सुधीर नामक लड़के ने आकर बताया कि उनकी बेटी की लाश अंजनी सिंह के मकान के पीछे पड़ी मिली है। जब परिजन वहाँ पहुँचे तो अंजनी सिंह के मकान के दरवाजे और सीढ़ियों पर ख़ून के धब्बे मिले। इसके अलावा रास्ते में भी ख़ून के निशान मिले। पीड़िता की माँ ने बताया कि आरोपी मोनू ने ही गांव के एक लड़के को फोन करके बताया कि अंजनी सिंह के मकान के पीछे शालू मृत पड़ी है।

पुलिस को भाजपा नेता के घर से मिले खून से सने गद्दे

पुलिस टीम ने घटनास्थल से लेकर कुंदन सिंह के मकान की सघन जांच की। भाजपा से जुड़े रहे आरोपी कुंदन सिंह के मकान की दूसरी मंजिल पर पुलिस को एक कमरे में बेड पर खून से सना गद्दा मिला है। साथ ही पुलिस ने कपड़ों के ढेर से खून से सनी एक बेडशीट और अन्य कपड़ा भी बरामद किया है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपी की निशानदेही पर अन्य साक्ष्य भी जुटाए हैं। पुलिस की जांच में सीढ़ियों पर भी खून के निशान पाए गए हैं।

इस नृशंस घटना को लेकर यूपी के पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट करके प्रदेश की प्रशासन व्यवस्था पर सवाल खड़े किये हैं। उन्होंने कहा है कि बस्ती में बलात्कारी के ख़िलाफ़ जनता चीत्कार कर रही है, लेकिन अपनों को बचाने के लिए बीजेपी सरकार बहरी बन गई है। सपा प्रमुख ने आगे कहा है कि बीजेपी बलात्कारियों की आरामगाह बन गई है।

लाश रखकर लोगों ने किया विरोध-प्रदर्शन

रात क़रीब दस बजे किशोरी का शव मिलने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। इस मामले में पुलिस ने पहले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन 24 घंटे बीत जाने के बाद भी जब तीसरे आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी तो परिजनों ने सड़क जाम कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने शव को 48 घंटे तक सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया। लोगों की नाराजगी और धरना-प्रदर्शन के बीच पुलिस ने तीसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद नाबालिग के शव का दाह संस्कार किया गया।

आरोपी भाजपा नेता के मकान में सिपाही भी करते थे पार्टी

भाजपा नेता कुंदन सिंह का परिवार गोरखपुर में रहता है। ऐसे में बस्ती वाला उसका घर अक्सर बंद ही रहता है। इस घर की चाभी मोनू निषाद और राजन के पास रहती है। गांव वालों का कहना है कि भाजपा नेता कुंदन सिंह का परिवार इस मकान में नहीं रहता है। फिर भी यहां आए दिन कुछ लोगों की भीड़ देखी जाती थी। देर रात तक दावतों का दौर भी चलता था। दावत में स्थानीय थाने के तीन सिपाहियों के भी शामिल होने की चर्चा है।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें