Tuesday, April 16, 2024
होमविविधखिरिया बाग धरना समाप्त कराने पहुंचे SDM से बोले किसान, हमें लिखित...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

खिरिया बाग धरना समाप्त कराने पहुंचे SDM से बोले किसान, हमें लिखित शासनादेश चाहिए

खिरिया बाग में महाड़ आंदोलन को किया गया याद 23 मार्च को भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु का शहादत दिवस और डॉ. राम मनोहर लोहिया की जयंती मनाई जाएगी खिरिया बाग, आजमगढ़। खिरिया बाग में 159वें दिन चल रहे धरने के दौरान एसडीएम सगड़ी पुलिस फोर्स के साथ पंहुचे। एसडीएम सगड़ी ने आंदोलनरत किसानों से धरना […]

खिरिया बाग में महाड़ आंदोलन को किया गया याद

23 मार्च को भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु का शहादत दिवस और डॉ. राम मनोहर लोहिया की जयंती मनाई जाएगी

खिरिया बाग, आजमगढ़। खिरिया बाग में 159वें दिन चल रहे धरने के दौरान एसडीएम सगड़ी पुलिस फोर्स के साथ पंहुचे। एसडीएम सगड़ी ने आंदोलनरत किसानों से धरना समाप्त करने को कहा। सीओ और कंधरापुर थानाध्यक्ष भी मौजूद रहे।

आंदोलनरत किसानों मजदूरों ने कहा कि उन्हें लिखित शासनादेश दिया जाए कि अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट के नाम पर हवाई पट्टी विस्तारीकरण की परियोजना रद्द की जा रही है। प्रशासन स्थगित करने की जो बात कर रहा है वह भी मौखिक है, कागजी दस्तावेजों में लगातार कहा जा रहा है की भूमि अधिग्रहण किया जाएगा। जब शासन की मंशा अनुरूप सर्वे किया गया तो यह लिखकर देने में क्या दिक्कत है कि उस सर्वे को रद्द किया जाएगा और एयरपोर्ट का विस्तारीकरण नहीं किया जाएगा। एसडीएम ने गांव में विकास कार्यों की पुनर्बहाली की बात कही तो आंदोलनकारियों ने कहा कि गांव को बेहतर करने की परियोजनाओं को किसने रोका था। यह स्पष्ट करता है कि शासन की यहां एयरपोर्ट बनाने की मंशा रही है। किसानों ने कहा कि जब आप पिछली बार कहे थे कि एयरपोर्ट का विस्तारीकरण रद्द कर दिया गया है तो उसे लिखित में देने में क्या दिक्कत है।

बातचीत के दौरान

20 मार्च, 1927 को बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के महाड़ आंदोलन को याद करते हुए वक्ताओं ने कहा कि उस दौर में पानी से वंचित किया जा रहा था और आज जमीन से वंचित करने की कोशिश की जा रही है।

धरने में शामिल रामनयन यादव, राजीव यादव, दुखहरन राम, राम कुमार, निशांत राज, नीलम, कुटबी, किस्मती ने एसडीएम के समक्ष अपनी बातों को रखा।

रामनयन यादव, जमीन-मकान बचाओ संयुक्त मोर्चा, आजमगढ़ के अध्यक्ष हैं।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें