गाँव देस आज 19 जुलाई

अपर्णा और अमन विश्वकर्मा

0 282

गाजीपुर

अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का ऐलान

मरदह थाना परिसर में शनिवार की देर शाम को क्षेत्राधिकारी विजय आनंद शाही की अध्यक्षता में पीस कमेटी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में बकरीद व सावन महीने के त्योहारों को आपसी सहयोग व शांतिपूर्वक भाईचारे के साथ मनाने का अपील किया गया। गड़बड़ी के हालात कड़ी कानूनी कार्रवाई का चेतावनी भी दी गई। क्षेत्राधिकारी कासिमाबाद विजय आनंद शाही ने बताया कि बकरीद के त्योहारों पर बड़े जानवरों की कुर्बानी नहीं दी जाएगी। केवल छोटे जानवरों की होगी भी तो चारदीवारी और घर के अंदर होगी । उनके बचे हुए अवशेषों को जमीन के अंदर दफन करना होगा। दफन नहीं करने से आवारा कुत्ते-बिल्लियाँ उसे इधर-उधर फैला देंगे,जिसके चलते आपसी माहौल बिगड़ सकता है। उन्होंने कहा कि कांवर यात्रा पर भी सरकार की तरफ से अभी रोक लगी है। साथ ही साथ मेला का आयोजन, डीजे पूर्ण रूप से बंद है। नमाजियों को बकरीद के त्यौहार के दिन सभी लोगों से मिलकर त्यौहार मनाने का अपील की गई । किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान देते और उसे समाज में फैलाते पाया गया तो सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। अफवाह फैलाने की सूचना पर तुरंत पुलिस गिरफ़्तार कर सकती है ।  इस मौके पर थानाध्यक्ष केके सिंह,उप निरीक्षक हरिश्चन्द्र, दीवान कमलेश यादव, प्रधान रामसुधार यादव, गंगा गोड़, अनिल यादव, करन चौहान, इम्तियाज अहमद, सादिक हुसैन, आजाद कुमार, उमाशंकर यादव, समुसुद्दीन, बृजेश गुप्ता, अब्दुल सलाम, संदीप, अखिलेश, रामनरायण यादव, बेचन राजभर, अजय राजभर, सुर्दशन यादव, बेचू प्रजापति, शिवकुमार गोड़, संतोष कुमार गौतम,वीरेन्द्र यादव आदि लोग मौजूद थे ।

दो

डीजल-पेट्रोल के लगातार बढ़ते दाम से लोगों में आक्रोश

डीजल-पेट्रोल की बेतहाशा बढ़ती कीमतें वाहन चालकों से लेकर किसानों तक के सामने भारी संकट पैदा कर दिया है । पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़े दाम की वजह से मंहगाई कुलांचे मार रही है। आम आदमी महंगाई की मार से जूझ रहा है। पेट्रोल की कीमत 100 रुपए प्रति लीटर के करीब यानी (99.64) पहुंच गई है। डीजल की कीमत भी उफान पर है। पेट्रोल और डीजल का दाम बढ़ने का सीधा असर परिवहन से लेकर किसानों तक है। ढुलाई खर्च बढ़ने के कारण सारे समान महंगे हो गए हैं। सबसे ज्यादा परेशान किसान है क्योंकि इस समय धान की खेती का सीजन है लेकिन डीजल से लेकर पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हैं। से खेत की रोपाई ट्रैक्टरों से कराने में किसानों को अधिक पैसा देना पड़ रहा है। एक तरफ किसानों के सामने डाई खाद और दूसरी जरूरी वस्तुओं की महंगी दरें हैं तो दूसरी ओर डीजल महंगे रेट से खरीदना पढ़ रहा है । ग्रामीण इलाको के मध्यम और सीमित आय के परिवारों के सामने भी संकट बढ़ रहा है। स्थानीय बाजार राजू कुशवाहा, अफजल अहमद, चंदन गुप्ता, रमेश राजभर ने कहा कि पेट्रोल-डीजल महंगा होने से  सभी व्यापारी चिंतित हैं। ट्रांसपोर्ट खर्च से लेकर घर गृहस्ती के सामानों के दाम भी उछाल पर है। सरकार महंगाई को लेकर कतई चिंतित नहीं है । वह अमीरों की तिजोरी भरने में लगी है। यही लोग जब विपक्ष में रहते थे तो महंगाई को लेकर हमेशा तत्परता दिखाते थे। लेकिन आज  महंगाई को लेकर कोई खास चिंतित नहीं हैं ।

बिजली आपूर्ति बाधित होने से पानी को तरसे वार्डवासी

मुहम्मदाबाद नगरपालिका अन्तर्गत क्षेत्र के वार्ड नंबर 17, 18 और 7 के निवासी रविवार को दिनभर पानी और बिजली के लिए परेशान रहे। बिजली विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की उदासीनता और लापरवाही क्षेत्र के लोगों को महंगी पड़ी ।  आज सुबह सात बजे से ही  बिजली आपूर्ति बंद हो गई। परिणामस्वरूप लोगों के घरों में पीने के लिए पानी ही नहीं आया । एक तो बेतहाशा गर्मी ऊपर से पानी की किल्लत। नगरपालिका ने पेयजल आपूर्ति के लिए हैण्ड पम्प की भी व्यवस्था की है, लेकिन स्थानीय लोग बताते हैं कि इन हैण्ड पंपों से निकलने वाला पानी पीला और मुर्चीला होता है। इसे पीने का मतलब अनेक बीमारियों को न्योता देना है।

गहमर स्टेशन पर 19 जोड़ी ट्रेनों का ठहराव बंद होने से लोगों में उबाल

गहमर तहसील क्षेत्र के गहमर रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों के पुन: ठहराव को लेकर रविवार को ट्रेन ठहराव समिति गहमर ने मोर्चा खोल दिया है। सैकड़ों लोग 12 बजे से अनिश्चितकालीन धरना पर बैठ गए और रेल प्रशासन से इसे पुनः शुरू करने की मांग की । धरने को भूतपर्व सैनिक संगठन और व्यापार मंडल ने भी समर्थन दिया। भूतपूर्व सैनिक सेवा समिति गहमर क्षेत्र के अध्यक्ष भूतपर्व सूबेदार मारकंडेय सिंह ने कहा कि कोरोना काल से पहले विभूति, मालदह टाउन,  भिवानी फरक्का एक्सप्रेस, कामाख्या, अमृतसर हावड़ा, पंजाब मेल सहित कुल 19 जोड़ी ट्रेनों का ठहराव गहमर रेलवे स्टेशन पर होता था। वर्तमान में इनका ठहराव गहमर रेलवे स्टेशन पर यह कहते हुए बंद कर दिया गया कि ये स्पेशल ट्रेनें हैं और इनके आगे जीरो लगा है। रेलवे के इस फरमान से ट्रेन ठहराव समिति, सैनिकों व अन्य लोगों को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सिंह के प्रतिनिधि मन्नू सिंह ने अनशन को समर्थन देते हुए कहा कि ओमप्रकाश सिंह की पूरी पलटन इस बेमियादी अनशन के समर्थन में हर वक़्त खड़ी रहेगी। यदि जरूरत पड़ी तो लखनऊ और दिल्ली का घेराव करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। अन्य वक्ताओं ने कहा कि गहमर में ठहराव खत्म किए गए कामाख्या-भगत की कोठी एक्सप्रेस हमें देश के पूर्वोत्तर सीमा और राजस्थान से सटी पाकिस्तान सीमा की तरफ ले जाती है। वहीं पंजाब मेल वाराणसी, लखनऊ, अंबाला और अमृतसर तक सैनिकों को ले जाती है। गहमर ठहराव वाली विभूति एक्सप्रेस, प्रयागराज, दानापुर, मोकामा, दुगार्पुर व हावड़ा सेना छावनी तक ले जाती हैं। अनशन में हेराम सिंह, महेंद्र उपाध्याय, सुधीर सिंह, आनंद सिंह, मास्टर दामोदर सिंह, हृदय नारायण सिंह, ग्राम प्रधान बारा आजाद खां, ग्राम प्रधान करहियां अजय सिंह, धीरेंद्र सिंह, मुरली कुशवाहा, रवींद्र सिंह, नरेंद्र गुप्ता, अमजद हुसैन, आदर्श सिंह सिकरवार, पिंटू सिंह, कामदेव सिंह,विनय सिंह बवाली, अशोक सिंह, कुणाल सिंह, मिथिलेश गहमरी, शिवानंद सिंह, दुर्गा चौरसिया, अनिल यादव, शशि सिंह आदि रहे। अध्यक्षता भूतपर्व सैनिक सूबेदार मेजर मारकंडेय सिंह व संचालन अखंड गहमरी ने किया।

समर्थन में दवा की दुकानें बंद रहीं

आम सभा एवं धरने को दिए स्वत: र्स्फूत समर्थन के चलते व्यापारियों ने रविवार को सुबह दो घन्टे बाजार बन्द रखकर धरने को अपना समर्थन दिया। कैमिस्ट एसोसिएशन ने भी धरने को अपना समर्थन देते हुए दवाई की दुकानें भी इस दौरान बंद रखी। स्वर्णकार समाज एवं अन्य व्यापार मण्डलों के भी प्रतिष्ठान बन्द रखे।

पीएम उज्जवला योजना से गरीब वंचित

उज्ज्वला योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजनीतिक हाथी का दाँत बनकर रह गई है। जखनिया विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में तो बहुत से ऐसे गरीब है जिनको प्रधानमंत्री उज्जवला गैस कनेक्शन का लाभ अब तक नहीं मिल पाया है। आज भी महिलाओं को इधर-उधर घूम कर लकड़ी जुटाने पड़ती है। जलालाबाद की चंद्रावती देवी का कहना है कि लकड़ी न जुट पाने के कारण खाना भी नहीं बन पाता है । अगर प्रधानमंत्री उज्जवला गैस कनेक्शन होता तो ईंधन के लिए इधर-उधर के लिए ज्यादा भागदौड़ नहीं करनी पड़ती। हालांकि भाजपा से जुड़े लोगों का दावा है कि सरकार की तरफ से अभियान चलाकर प्रधानमंत्री उज्जवला गैस कनेक्शन का लाभ दिलाया था लेकिन आज तक गरीबों को लाभ क्यों नही मिला यह बहुत बड़ा सवाल है ।

बकरों की सार्वजनिक कुर्बानी पर रोक

सिकंदरपुर। बकरीद व सावन माह को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के मद्देनजर उपजिलाधिकारी अभय कुमार सिंह की अध्यक्षता में तहसील सभागार में रविवार को पीस कमेटी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में अधिकारियों ने सभी त्यौहारों को कोविड-19 का पालन करते हुए शांतिपूर्ण सकुशल संपन्न कराने की अपील की। उपजिलाधिकारी अभय कुमार सिंह ने कहा कि हम लोग उस क्षेत्र से निवास करते हैं, जहां कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए उचित संसाधन उपलब्ध नहीं हैं। बकरीद के त्यौहार पर सार्वजनिक रूप से किसी भी हाल में कुर्बानी नहीं होगी। सावन के महीने में जलाभिषेक होगा, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का प्रयोग करते हुए। मौके पर मौजूद एडीओ पंचायत अनिल कुमार वर्मा एवं चेयरमैन सिकंदरपुर से क्षेत्र के ईदगाहों के पास साफ-सफाई कराने की बात कही। क्षेत्राधिकारी अशोक मिश्रा ने कहा कि सभी त्योहार कोरोना से प्रतिबंधित चल रहे हैं। किसी भी कीमत पर कुर्बानी का खुला प्रदर्शन नहीं होगा। कुर्बानी के बाद अवशेष को गड्ढा खोदकर ढकने का कार्य आप लोगों द्वारा किया जाय। मीडिया कर्मियों की खबर को भी अधिकारिक पुष्टि कर लीजिए। किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें। बकरीद परंपरागत ढंग अपने घरों में मनाएं। एसएचओ से सूअर पालकों को नोटिस देकर सूअरों को घर से बाहर न निकलने देने की बात कही गई। थानाध्यक्ष राजेश कुमार सिंह ने कहा कि ईद उल अजहा कुर्बानी का पर्व है। कुर्बानी एक धार्मिक प्रक्रिया है। कहीं सार्वजनिक जगह पर इकट्ठा होकर नमाज अदा नहीं की जाएगी। लोग अपने घरों में नमाज अदा करेंगे। कस्बा निवासी फैजी अंसारी ने दरगाह के मैदान में नाली खुली होने की बात उप जिलाधिकारी से कही, जिस पर एसडीएम ने कड़ी नाराजगी जताते हुए चेयरमैन से तुरंत ढक्कन लगाने की बात कही। हाल ही में बनी पुलिस चौकी से जलालीपुर मार्ग को अधूरा होने पर चेयरमैन से तुरंत सड़क पूरी कराने की बात कही गईइनसेट-

कीचड़ से होकर पहुंचे लोग

सिकंदरपुर। पीस कमेटी की बैठक में जाने के लिए लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। शनिवार से हो रही बारिश के कारण तहसील के मुख्य गेट पर पानी भर गया है। परिसर भी कीचड़मय हो गया है। इस दौरान पीस कमेटी की बैठक में शामिल होने जाने वाला हर व्यक्ति नगर पंचायत को कोसता रहा। सभी ने कहा कि यदि जल निकासी की उचित व्यवस्था के साथ सड़क को थोड़ा ऊंचा कर दिया गया होता तो ऐसी स्थिति पैदा नहीं होती। पानी के बीच से गुजर रहे लोगों को वाहन खड़ा करने के लिए पर्याप्त स्थान तक नहीं मिल पा रहा था।

शांतिपूर्ण ढंग से त्योहार मनाने की अपील

नगरा। त्यौहारों के मद्देनजर शान्ति समिति की बैठक स्थानीय थाना परिसर में रविवार को हुई। इसमें बकरीद एवं सावन माह में पड़ने वाले त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए मनाने का आह्वान किया गया।एसडीएम रसड़ा प्रभुदयाल ने कहा कि नमाज के समय कोविड नियमों का पालन करें। त्योहार को आपसी सौहार्द्र के साथ खुशियों भरे माहौल में मनाएं और एक-दूसरे की भावनाओं को ख्याल रखे। साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाय। बकरीद की नमाज के पश्चात कुर्बानी के समय निकलने वाले अपशिष्ट को उचित स्थान पर ही डिस्पोजल करे, ताकि इससे किसी को असुविधा नहीं हो। सावन में जलाभिषेक के दौरान सोशल डिस्टेंस का पालन करें।

फेफना पुलिस का वसूली गैंग सुर्खियों में

बलिया। फेफना पुलिस अपने कारनामों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहती है। इन दिनों पुलिस द्वारा फेफना चौराहा पर अवैध वसूली के लिए बनाया गया गैंग चर्चाओं में बना हुआ है। पूरे बाजार में इनका आतंक व्याप्त है। इनके लिए चौराहा एवं अन्य स्थानों पर किसी के साथ भी मारपीट करना आम बात हो गई है। आलम यह है कि वसूली गैंग रात-दिन फेफना चौराहा पर जमा रहता है।  क्षेत्रवासियों ने इस तरफ पुलिस अधीक्षक का ध्यान आकृष्ट कराया है।

बता दें कि फेफना चौराहा पर पुलिस पिकेट तो बना है, लेकिन वहां ड्यूटीरत सिपाही कम ही बैठते है। सिपाहियों द्वारा अवैध वसूली के लिए चौराहा के बगल में एक गुमटी रखवाया गया है। पुलिस पिकेट पर ड्यूटीरत सिपाही इसी गुमटी के बगल में कुर्सी लगाकर बैठ जाते है और वसूली का क्रम शुरू हो जाता है। यही नहीं, वसूली गैंग बनाकर उनके द्वारा बकायदे आने-जाने वाले वाहनों को रोककर वसूली कराया जा रहा है। वसूली गैंग के लोग सड़क पर लाठी-डंडा लेकर वाहन चालकों से जबरदस्ती वसूली करते है। यह गैंग सिर्फ अवैध वसूली तक ही सीमित नहीं है। इनके द्वारा किसी के साथ मारपीट करना एवं शराब पीकर चौराहा पर हंगामा खड़ा करना आम बात हो गई है। यदि कोई वसूली गैंग पर अंगुली उठाता है तो उसकी खैर नहीं है। अगर यह कहें कि वसूली गैंग फेफना पुलिस के लिए दुधारू गाय से कम नहीं है तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।

सामाजिक कार्यकत्री को सौंपा आक्सीजन कंसंट्रेटर

बलिया में आशा ट्रस्ट के कार्यकर्ता

बलिया। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में आक्सीजन की किल्लत एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने आई थी। इससे लोग काफी असहाय महसूस कर रहे थे। सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर को चुनौती के रूप में स्वीकारते हुए कोविड राहत अभियान का संचालन किया है। चेन्नई की संस्था भूमिका ट्रस्ट के सहयोग से मेड़वरा कलां में आयोजित कार्यक्रम में आशा ट्रस्ट की तरफ से स्थानीय सामाजिक कार्यकत्री कुमारी दिव्या पाण्डेय को एक आक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किया गया।

आशा संस्था के समन्वयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने कहा कि देश में विभिन्न संस्थाएं इस दिशा में काम कर रही हैं। इनका उद्देश्य मात्र इतना ही है कि किसी को भी भविष्य में आक्सीजन की आवश्यकता पड़े तो उसे दूर-दराज भटकना न पड़े। आप-पास के इलाके में सर्व सुलभ स्थान पर कंसंट्रेटर उपलब्ध हो। उन्होंने बताया कि अब तक संस्था द्वारा उत्तर प्रदेश में 43 आक्सीजन कन्सेंट्रेटर स्थापित कराया जा चुका है। अभियान संयोजक महेश पाण्डेय ने आक्सीजन कन्सेंट्रेटर के प्रयोग करने के तरीके से अवगत कराया। कहा कि ट्रस्ट द्वारा संचालित आनलाइन ओपीडी सेवा का लाभ आमजन उठा सकते हैं। इस अवसर पर कोरोना संक्रमण काल में अतुलनीय सेवा प्रदान करने के लिए स्थानीय चिकित्सक अफताब अली और आशा बहु प्रियंका देवी को कोरोना योद्घा सम्मान पत्र एवं मेडिकल किट देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर अजय पटेल, विनय सिंह, दिव्या पाण्डेय, आर्या पाण्डेय,  वंशीधर राय, सुभाष पाण्डेय, मोहन मुरारी राय, शिवजी पाण्डेय, लालजी सिंह, सुनील सिंह, तेजबहादुर पाण्डेय, रजिन्द्र सिंह, ब्रिज विहारी पटेल, प्रेम, गंगा, सुमेर, शिवलाल, स्मृति, खुशी, निक्की, दीपिका, साधना, ऋतु, पिंकी, दिव्या आदि उपस्थित रहे।

प्राथमिक विद्यालय मनिहा के सभी शिक्षकों का रोका वेतन

बलिया। शासन-प्रशासन की मंशा के बाद भी बुनियादी शिक्षा अपनी बदहाली से उबर नहीं पा रही है। कोविड काल के बाद स्कूल खुल गये है, पर कुछ शिक्षक अभी भी ड्यूटी से परहेज कर रहे है। ऐसे कई मामले सामने आ चुके है। इसी बीच, शिक्षा क्षेत्र रसड़ा में स्कूल संचालन रसोईया द्वारा करने का मामला पकड़ में आया है। बीएसए ने सम्बंधित स्कूल के सभी शिक्षकों का वेतन रोक दिया है।

शिक्षा क्षेत्र रसड़ा के प्राथमिक विद्यालय मनिहा का एक वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल हो रहा है। वीडियो में प्रधानाध्यापक कक्ष में ताला लटका दिख रहा है, जबकि रसोइया स्कूल खोलकर बैठी है। वायरल वीडियो में रसोईया यह कहती दिख रही है कि स्कूल वही खोलती है। गुरुजी का कोई ठीक नहीं कि कब आयेंगे? वायरल वीडियो का जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवनारायण सिंह ने न सिर्फ संज्ञान लिया है, बल्कि विद्यालय के सभी शिक्षकों का वेतन रोक दिया है। बीएसए ने कहा कि रसोईया के बयान से स्पष्ट है कि वहां प्रभावी निरीक्षण की कोई व्यवस्था नहीं है। मामले की जांच की जा रही है। सम्बंधित प्रधानाध्यापक और शिक्षकों से स्पष्टीकरण तलब किया गया है।

अध्यक्ष के सामने होगी चुनौती

बलिया। जिला पंचायत के नवनिर्वाचित अध्यक्ष आनंद चौधरी की राह आसान नहीं है। प्रदेश में भाजपा की सरकार है और बलिया के ही पंचायती राज मंत्री है। जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में सपा ने जहां आनंद चौधरी को प्रत्याशी बनाया था, वहीं पंचायती राज्य मंत्री ने भाजपा प्रत्याशी को जिताने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। बावजूद इसके सपा प्रत्याशी आनंद चौधरी ने जीत दर्ज की। अब देखना यह है कि मंत्री के सामने सपा के जिला पंचायत अध्यक्ष आनंद चौधरी जिले के 58 वार्डों में किस तरह से विकास का खाका तैयार करेंगे।

आग से नगदी समेत लाखों रुपये का सामान राख

बैरिया। स्थानीय थाना अंतर्गत मधुबनी बाजार में स्थित पेट्रोल पंप के बगल में शनिवार की रात एक बजे के लगभग ई-रिक्शा स्पेयर पार्ट्स एवं सर्विस सेंटर तथा सोनू बाइक सेंटर की दोनों गुमटियों में आग लग गई। स्थानीय लोगों के शोर गुल पर सुरेमनपुर पिकेट पर तैनात सिपाही दौड़ कर मौके पर पहुंचे और फायर ब्रिगेड को सूचना दिए। स्थानीय लोगों और फायर ब्रिगेड के प्रयास से आग पर काबू पाया जा सका, लेकिन तब तक दोनों गुमटियों का लाखों रुपए का सामान तथा नकदी जलकर राख  हो गया था। पीड़ित ई-रिक्शा सर्विस एवं स्पेयर पार्ट्स के दुकानदार उपेंद्र यादव ने बताया कि हमारे दुकान से लगभग डेढ़ लाख रुपए का सामान तथा 10000 नकद जला है। वही, सोनू बाइक सेंटर के मालिक सोनू ने बताया कि हमारी गुमटी में 10000 का सामान तथा कुछ नकद रुपए थे, जो जलकर खाक हो गया। पीड़ितों ने बताया कि शनिवार होने की वजह से हम लोगों की दुकानें बंद थी। हम अपनी दुकान में अगरबत्ती वगैरह भी नहीं जलाए थे। हमारे आस-पास बिजली भी नहीं है। कैसे आग लगी? समझ में नहीं आ रहा। इस संदर्भ में सुरेमनपुर चौकी प्रभारी मंतोष सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

घाघरा के जलस्तर में घटाव-बढ़ाव से बढ़ी बेचैनी

सिकन्दरपुर। घाघरा के जलस्तर में लगातार घटाव व बढ़ाव देखने को मिल रहा है। इसके कारण नदी के आस-पास के लोग डरे व सहमे हुए हैं। लोगों का कहना है कि नदी का जलस्तर कब बढ़ जाए? कुछ कहा नही जा सकता है। यह तटवर्ती लोंगों के लिए परेशानी का कारण बन गया हैं।

डूहा के शिव शक्ति धाम के अलावा कठौड़ा, शेखपुर, सिसोटार, खरीद, पुरुषोत्तमपट्टी और निपनिया के पास घाघरा की लहरें तेज होने से दबाव बढ़ता जा रहा है। वही, कुछ गांव में कटान से स्थिति खराब होती जा रही है। जलस्तर में उतार-चढ़ाव से कटान की संभावना तेज हो गयी है। उधर, केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार रविवार को डीएसपी हेड पर घाघरा का जल स्तर 63़ 75 मीटर  रिकार्ड किया गया, जबकि शनिवार को यह 63़ 83 मीटर पर था। शनिवार के मुकाबले जलस्तर कम हुआ है, लेकिन बढ़ाव के कारण खतरा बढ़ता जा रहा है।

जिला कारागार में नाश्ता एवं भोजन की होगी विशेष निगरानी

बलिया। विगत् दिनों जिला कारागार में हुए हंगामा के बाद प्रशासन पूरी तरह से गंभीर है। हंगामा का कारण क्या था? इसका अभी तक पता नहीं चल सका है। जेल सूत्रों की मानें तो बाहर से जिला कारागार में बंदियों के पास मोबाइल पहुंची। इसकी जानकारी मिलने पर जेल प्रशासन ने बंदियों के बैरक की चेकिंग करना शुरू कर दिया। इससे बंदी भड़क गये और हंगामा खड़ा कर दिया। जिले के आला अफसरों के पहुंचने के बाद बंदियों ने जेल प्रशासन पर यह आरोप लगाया कि उन्हें जो भोजन एवं नाश्ता दिया जाता है, वह बेहतर नहीं होता।

कई बिन्दुओं पर हुई जांच के बाद जिला प्रशासन ने कड़ा एक्शन लेते हुए यह निर्णय लिया कि बंदियों को दिये जाने वाले भोजन एवं नाश्ता की जांच मजिस्ट्रेट करेंगे। इसके लिए कई अधिकारियों की तैनाती भी की गई है। मजिस्ट्रेट एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी प्रतिदिन जिला जेल में जाकर नाश्ता एवं दोनो वक्त के भोजन की जांच कर उसकी रिपोर्ट नियमित तौर पर देंगे। इसके लिए डीएम ने अधिकारियों का दिनवार तैनाती करते हुए इसका अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा है। वैसे, आये दिन जिला जेल में हंगामा होता रहता है। बंदी बार-बार खराब खाने की शिकायत करते रहे। जेल में हंगामा के बाद डीएम अदिति सिंह, एसपी डा. विपिन ताडा गये थे। उन्होंने बंदियों से बातचीत के दौरान जेल में मिलने वाले नाश्ता एवं भोजन की गुणवत्ता के बाबत शिकायत किया था। इसे गंभीरता से लेते हुए डीएम ने एक नई पहल की है।

मऊ

घाघरा का जलस्तर 15 सेमी घटा लेकिन खतरा बरकरार

दोहरीघाट, मऊ। घाघरा के जलस्तर में विगत कई दिनों से हो रही वृद्धि के बाद बीते चौबीस घण्टे के घटने का क्रम देखने को मिल रहा है। जिससे नगरवासियों समेत तटवर्ती इलाको के लोगो ने राहत को सांस ली है लेकिन फिर भी खतरा पूरी तरह से टला नही है जिससे तटवर्ती इलाकोण के लोगों में  दहशत बनी हुई  है। शनिवार को घाघरा का जलस्तर 69.30 मीटर था जबकि रविवार को जलस्तर 69.15 मीटर रहा । इस तरह बीते चौबीस घण्टे में घाघरा के जलस्तर में 15 सेमी की कमी दर्ज की गई। नदी घटने व बढ़ने के क्रम से लोगो मे भय व्याप्त है न जाने कब घाघरा अपना रौद्र रूप धारण कर ले। नगर के ऐतिहासिक धरोहरो मुक्तिधाम, भारत माता मंदिर, डीह बाबा का मंदिर, लोक निर्माण का डाक बंगला, शाही मस्जिद, हनुमान मंदिर, राम जानकी मंदिर, दुर्गा मंदिर आदि पर खतरा अभी भी बना हुआ है।

 आजमगढ़

सरायमीर थाना परिसर में हुई पीस कमेटी की बैठक

संजरपुर (आजमगढ़)। सरायमीर थाना परिसर में बकरीद त्यौहार को सकुशल संपन्न कराने के लिए रविवार को एसडीएम  निजामाबाद राजीव रत्न सिंह के नेतृत्व में इंस्पेक्टर सरायमीर अनिल सिंह ने क्षेत्र के संभ्रांत लोगों के साथ बैठक की।

बैठक में उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि सभी लोग अपना त्यौहार सकुशल संपन्न कराएं, पुलिस का पूरा सहयोग रहेगा। कुबार्नी में किसी भी प्रकार का प्रतिबंधित जानवर की कुबार्नी नहीं होगी। यह जिम्मेदारी आप जैसे जिम्मेदार लोगों को दी जा रही है कि क्षेत्र में अमन चैन बना रहे। नयी परंपरा कोई नहीं चलेगा जिस तरह से जहां पर जो चल रहा है वह होता रहेगा। साफ सफाई का विशेष ध्यान दिया जाए। कुबार्नी के बाद उसके मलवे को आबादी से हटकर गड्ढा खुदाई कर उस में दफना दिया जाय। यदि कहीं पर  किसी प्रकार की कोई परेशानी आती है तो थाने को तत्काल सूचित करें या हमारे पर्सनल नंबर पर सूचित करें। इस अवसर  पर गोरे सिंह, पंकज सिंह, राम प्रकाश यादव, हाजी वसीम अहमद, बाबा लईक अहमद, जमशेद अहमद, प्रधान नुरुद्दीन, मोहम्मद आरिफ, राजाराम यादव आदि उपस्थित रहे।

कोरोना काल में जीवित युवती को बताया जा रहा मृत

लालगंज (आजमगढ़)। स्वास्थ विभाग की एक बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है। कस्बा देवगांव निवासिनी एक युवती से उसके जिंदा होने का सबूत मांगा जा रहा है।

देवगांव कोतवाली क्षेत्र के कस्बा देवगांव ग्राम निवासी ताहिरा बानो पुत्री स्व.मकबूल अहमद ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर में टेस्ट किए जाने पर उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गई थी जिस पर उन्होंने कोरोना महामारी अधिनियम का पालन करते हुए स्वयं को क्वारंटाइन कर लिया था और दवा लेते रहने के बाद उनकी रिपोर्ट फिर नेगिटिव आ गई थी। अब कुछ महीनो बाद स्वास्थ विभाग की बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है। ग्राम कस्बा देवगांव में कोरोना मृतक की लिस्ट में उसका भी नाम दर्ज होने से उसके होश उड़ गये हैं। जब उन्होंने अपने जिंदा होने की बात कही तो लालगंज ब्लाक से लेखपाल द्वारा अपने जिंदा होने के सबूत देने की बात कही जा रही है जिसकी वजह से पीड़िता काफी हैरान व परेशान है।

दो लाख लिया उधार, अब देने से कर रहा इंकार

लालगंज (आजमगढ़)। स्थानीय क्षेत्र के जेहतमंदपुर निवासी व्यक्ति ने अनंतपुर निवासी व्यक्ति पर 2 लाख रुपये कर्ज देने के बाद मांगने पर इनकार करने व गाली गुप्ता देने की देवगांव कोतवाली में दी तहरीर।

देवगांव कोतवाली क्षेत्र के जेहतमंदपुर गांव निवासी आफताब आलम पुत्र जावेद आलम ने देवगांव कोतवाली में शनिवार को तहरीर देकर बताया कि राम अवतार विश्वकर्मा पुत्र रामधारी निवासी अनंतपुर देवगांव उनके पुराने परिचित हैं। मैंने उन्हें दो लाख रुपए दिए थे। जो मई 2021 में उपरोक्त के लड़के राहुल के खाते में बैंक आॅफ बड़ौदा के खाते में दिये गये थे। उपरोक्त ने माह जून 2021 में पैसा वापसी की बात कही थी परंतु आजकल करते रहे और पैसा नहीं दिए। प्रार्थी को पैसे की सख्त जरूरत है। अब उपरोक्त प्रार्थी को पैसा देने से इनकार और गाली गलौज तथा मारने पीटने की धमकी दे रहा है। उसने पुलिस से न्याय की गुहार लगायी।

देवगांव वासियों को शीघ्र मिलेगा शुद्ध पेयजल

लालगंज (आजमगढ़)। देवगांव में जल निगम की ओर से वर्षों से बंद पड़ी टंकी को दोबारा चालू करने के आदेश के बाद क्षेत्र के तरफकाजी, बेरमा, कस्बा देवगांव, मिजार्पुर, गड़हीपार व अन्य स्थानों पर पाइप लाइन बिछाने के कार्य में तेजी लाई गयी है ताकि लोगों को शुद्ध पेयजल की सप्लाई हो सके।

जल निगम के पम्प ऑपरेटर परवेज अहमद ने बताया कि पाइप लाइन बिछाने का कार्य बड़े स्तर पर किया जा रहा है। कुछ क्षेत्रों में पाइप लाइन बिछाने का कार्य शेष बचा है जो जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा। टंकी की सफाई व रंगाई पुताई का भी कार्य समाप्त होने को है। कोशिश की जा रही है कि अगले महीने से लोगों को शुद्ध पेयजल की सप्लाई प्रारंभ की जा सके। ताकि लोगों को पानी से होने वाली संक्रमित बीमारियों से बचाया जा सके। उन्होंने बताया कि जहां पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा हो चुका है वहां लोगों को कनेक्शन दिया जा चुका है।

बंच केबल जलने से विद्युत व्यवस्था बेपटरी

फूलपुर (आजमगढ़)। स्थानीय कस्बे में पिछले तीन दिनों से बंच केबल जल जाने के चलते कस्बे की बिजली बेपटरी हो गई है। जिसके चलते लोगो को काफी परेशानियों के सामना करना पड़ रहा है।

कस्बे के रोडवेज और मंगल बाजार में अधिक लोड पड़ने के चलते बार-बार बंच केबल जल जा रही है। हालाकि लाइनमैन सुनील राय और उनकी टीम ने जेई के निर्देश पर तीन बार केबल बदलने का काम किया गया। लेकिन शनिवार को पुन: सुबह 10 बजे मंगल बाजार और रोडवेज पर दो स्थानों पर केबल जल कर दो भागों में कट कर गिर गई। इसके चलते बिजली को लेकर हाहाकार मच गया। शनिवार को बारिश होने के चलते केबल को ठीक नही किया जा सका। रविवार को अवर अभियंता के निर्देश पर बंच केबल को लाइनमैन सुनील राय और उनकी  टीम द्वारा मोटी केबल को खोलकर लगाया गया। जिससे कि केबल हीट होकर एक दूसरे न चिपके यह कार्य शाम तक चलता रहा। साइट पर काम कर रहे लाइनमैनो ने बताया कि रात में कस्बे की बिजली आपूर्ति बहाल हो जाएगी।

जौनपुर

नाली के ऊपर किया अतिक्रमण

जौनपुर। मियांपुर में कई लोगों ने नाली के ऊपर अतिक्रमण कर रखा है जिसके कारण नालियों की सफाई होने में कठिनाई होती रहती है। नालियां जाम होने के कारण बरसात के दिनों में नालियां ओवरफ्लो हो जाती है जिसके कारण पानी सड़क पर आ जाता है। पानी भर जाने के कारण आने-जाने में लोगों को काफी दिक्कतें होती हैं। मोहल्लेवालों ने इस मामले को लेकर नगर पालिका परिषद में शिकात दर्ज करायी है।

बारिश से पसरा सन्नाटा मगर गर्मी से मिली राहत

मुफ्तीगंज। स्थानीय विकास खंड के क्षेत्र में बारिस के कारण केराकत जौनपुर मार्ग पर सन्नाटा पसरा हुआ है और उमस भरी गर्मी से लोगो को राहत मिली है। बता दें कि 18 जुलाई को सुबह से बारिस होने के कारण केराकत जौनपुर मार्ग पर सन्नाटा पसरा हुआ है। उमस भरी गर्मी से बारिस के कारण राहत मिली है। मक्के की फसल सूख रही थी लेकिन अब मक्के की फसल को पानी मिलने से संजिवनी का खुराक मिला है बारिश होने से लोगों ने राहत की सांस ली है।

विद्युत विभाग की लापरवाही के कारण हो सकती बड़ी दुर्घटना

करंजाकला। सिद्दीकपुर राजकीय आईटीआई के सामने जौनपुर से शाहगंज रोड मार्ग के बगल में 11 हजार बोल्टेज का खम्भा दुर्घटना को दावत दे रहा है जबकि विद्युत विभाग इस पर नजर अंदाज कर रहे है। जिसमें वहा पर रह रहे लोगों के बीच बड़ी दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। सिद्धीकपुर राजकीय आईटीआई जौनपुर से शाहगंज रोड मार्ग हाईटेंशन तार ले जाया गया जिससे कि खंभे के नीचे का पूरा हिस्सा टूटकर सिर्फ खंभे के लगे निचले तार पर रुका हुआ है और उसी के सहारे खड़ा है। यह विद्युत विभाग की बड़ी लापरवाही है। यह 11 हजार हाइटेंशन तार दे रहा है दुर्घटना की दावत और विद्दुत विभाग इस पर कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है।

ग्रामीण स्टेडियम से छुपी प्रतिभाओं को निखारने का मिलेगा अवसर

चंदवक। क्षेत्र पंचायत डोभी के ग्राम पंचायत अमरौना में उत्तर प्रदेश ग्रामीण स्टेडियम योजना के अंतर्गत बतौर मुख्य अतिथि विधायक दिनेश चौधरी ने ग्रामीण स्टेडियम निर्माण की आधारशिला रखी। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक श्री चौधरी ने कहा कि योगी सरकार ग्रामीण प्रतिभाओं को उचित मंच व अवसर प्रदान करने की नियति से प्रत्येक ब्लॉक में ग्रामीण स्टेडियम का निर्माण करा रही है। अमरौना में स्टेडियम निर्माण हो जाने से क्षेत्र के ग्रामीण प्रतिभाओं को निखारने का अवसर उपलब्ध होगा। प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं के हित में चलाई जा रही योजनाओं की चर्चा करते हुए विधायक ने कहा कि युवाओं में कौशल विकास के लिए विशेष कार्यक्रम चलाया जा रहा है क्योंकि हूनर रहेगा तो रोजगार के अवसर की कमी नहीं होंगी। बताया कि स्टेडियम की चहारदीवारी बनने के बाद पथ वे,पार्क,योग स्थल स्ट्रीट लाइट,बैडमिंटन कोर्ट, स्थापित होने के साथ ही बगल स्थित तालाब का सुंदरीकरण किया जाएगा। विधायक ने स्टेडियम का नाम श्री गणेश राय स्टेडियम रखने की घोषणा की। इससे पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष संजय कुमार सिंह,प्रमुख प्रतिनिधि प्रवीण सिंह बबलू,आर डी चौधरी, राम दयाल सिंह ने विधायक का माल्यार्पण कर स्वागत किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजय प्रकाश सिंह (के.डी.) व संचालन जेई मिथिलेश कुमार ने किया। इस अवसर पर खंड विकास अधिकारी डॉ. छोटेलाल तिवारी, राज बहादुर सिंह बबलू सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

 पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधरोपण जरूरी

जौनपुर। लायन्स क्लब जौनपुर मेन द्वारा स्थान राजकीय बालिका इंटर कालेज स्टेशन रोड पर पर्यावरण संरक्षण हेतु लगभग पचास पौधारोपण किया गया। संस्थाध्यक्ष मदन गोपाल गुप्ता ने आये हुए लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि मौजूदा आबादी को भरपूर आक्सीजन देने के लिए पेड़-पौधों की संख्या नाकाफी साबित हो रही है। इसलिए पौधारोपण जÞरुरी है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि पूर्व अध्यक्ष नगर पालिका परिषद जौनपुर ने कहा कि मानव जीवन पूर्ण रूप से स्वस्थ तभी होगा जब कदम-कदम पर पौधे लगेंगे। पौधरोपण जीवन के लिए बेहद जरूरी है। आक्सीजन देने वाले पौधों की महत्ता को दरकिनार नहीं किया जा सकता। हमें मुफ्त में आक्सीजन पेड़-पौधे ही देते हैं। बढ़ती जनसंख्या और घटते पेड़-पौधे मानव जीवन के अस्तित्व के लिए ख़तरा हैं। पर्यावरण संतुलन से ही मानव सुरक्षित व खुशहाल रहेगा।

कार्यक्रम संयोजक सुरेश चन्द्र गुप्ता ने कहा कि यदि समय रहते हम न चेते तो बहुत देर हो जाएगी। इस असंतुलन से ही पर्यावरण प्रदूषण का खतरा मंडरा रहा है। अरुण त्रिपाठी ने कहा कि मानव का यह नैतिक धर्म होना चाहिए कि पर्यावरण को संतुलित बनाने के लिए अधिक से अधिक पौधों का रोपण करना चाहिए। पौधे हमें न सिर्फ आक्सीजन देते बल्कि फूल, फल, औषधि व इमारती लकड़ियां भी देते हैं। पौधों को खुद रोपने के लिए तत्पर हों और आसपास के लोगों को भी इस नेक कार्य के लिए प्रेरित करें। इस अवसर पर डायबिटीजÞ चेयरपर्सन सैय्यद मोहम्मद मुस्तफा, सचिव अशोक मौर्य, कोषाध्यक्ष संजय श्रीवास्तव, डा. मदन मोहन वर्मा, मनोज चतुर्वेदी, संदीप गुप्ता, राम कुमार साहू, अनिल गुप्ता, संजय केडिया आदि उपस्थित रहे।

पुलिस चौकी कैम्पस में भरा पानी

मुफ्तीगंज। केराकत कोतवाली के मुफ्तीगंज चौकी कैम्पस में बारिश के चलते पानी भर जाने से अफरा तफरी का माहौल हो गया क्योंकि कोई भी पैरोकार चौकीके अंदर पानी घुस जाने से कैसे कचड़े में आये और कैसे बाहर निकला जाए। इसी बात को लेकर चौकी इन्चार्ज मुन्नीलाल कन्नोजिया ने अपने सहयोगियों से कहा कि शीघ्र कोई उपाय कर  पानी बाहर किया जाय नही तो कोई अधिकारी धमक पड़ेंगे तो क्या जबाब दिया जाएगा। पुलिस ने भी इस प्रकरण को अपने प्रेस्टिज की बात समझकर हेड कॉन्सटेबिल जय प्रकाश यादव, एचजी चन्द्र शेखर व लाल बहादुर द्वारा चौकी के कैम्पस का पानी बाहर किया गया। कहा गया है कि कोई भी कार्य छोटा नही होता समय रहते विना किसी भेदभाव के अपने से अपना कार्य कर लेने में कोई दिक्कत महसूस नही करना चाहिए। यह एकता का संदेश देता है। चौकी प्रभारी मुफ्तीगंज ने अपने मातहतों की तारीफ कर उनका हौसला अफजाई किया जो एक सबक प्रदान करता है।

सोनभद्र

मलेरिया निरीक्षक का तबादला

सोनभद्र। जिले में मलेरिया निरीक्षक के पद पर तैनात आनंद मिश्रा का स्थानांतरण शासन ने बांदा जनपद के लिए कर दिया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नेम सिंह ने 17 जुलाई को उनको कार्य मुक्त भी कर दिया है। बता दें कि मलेरिया निरीक्षक आनंद मिश्रा जिले में लम्बे समय से तैनात थे। शासन के निर्देश के क्रम में इनका गैर जनपद स्थानांतरण किया गया है।

उड़ीसा से आगरा ले जायी जा रही थी गांजे की खेप

सोनभद्र। पुलिस अधीक्षक अमरेन्द्र प्रसाद सिंह के निदेर्शानुसार अवैध मादक पदार्थों के व्यापार मे संलिप्त अपराधियों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही की कार्य योजना प्रचलित है इसी क्रम मे अपर पुलिस अधीक्षक मुख्यालय विनोद कुमार सिंह एवं क्षेत्राधिकारी नगर राजकुमार त्रिपाठी के निर्देशन में स्वाट/एसओजी/सर्विलांस टीम तथा प्रभारी निरीक्षक थाना राबर्ट्सगंज की संयुक्त टीम गठित की गयी। इस टीम द्वारा अथक लगन व परीश्रम से अपना आसूचना संजाल तैयार किया गया। शनिवार की रात्रि करीब 9 बजे स्वाट/एसओजी/सर्विलांस टीम तथा प्रभारी निरीक्षक राबर्ट्सगंज को जरिए मुखबिर खास से सूचना प्राप्त हुई कि उड़ीसा से ट्रक द्वारा भारी मात्रा मे नाजायज गांजा मादक पदार्थ लेकर तस्कर आने वाले है,यदि जल्दी किया जाय तो पकड़े जा सकते है इस सूचना पर स्वाट, एसओजी, सर्विलांस व राबर्ट्सगंज कोतवाली की संयुक्त टीम द्वारा छपका पावर हाऊस के सामने मेन रोड पर गाड़ा बन्दी करके दस चक्का ट्रक के साथ दो नफर अभियुक्तों को पकड़ लिया गया तथा क्षेत्राधिकारी नगर की उपस्थिति मे पकड़े गये व्यक्तियों की निशानदेही पर पकड़े गये ट्रक के केबिन के अन्दर बनाये गये गुप्त रिक्त स्थान पर छिपाकर रखा गांजा पाया गया। जिसका वजन किया गया तो कुल 3 कुन्तल 19 किलो 220 ग्राम है। पूछताछ अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि मादक पदार्थ गाजां उड़ीसा से आगरा लेकर जाया जा रहा था जिसे आसपास के सीमावर्ती जनपदों में अच्छी कीमत पर बेचते हैं यही हमलोगों का व्यवसाय है। पूछताछ में अपना नाम जीतू ठाकुर पुत्र रघुवीर सिंह नि0 बाकलपुर थाना शम्शाबाद जिला आगरा, रीजवान पुत्र शमसू नि0 बोदला थाना जगदीशपुरा जिला आगरा बताया। इस टीम में सुभाष चन्द्र राय प्रभारी निरीक्षक थाना राबर्ट्सगंज,  श्यामबहादुर यादव प्रभारी एसओजी, अमित कुमार त्रिपाठी प्रभारी स्वाट टीम, सरोजमा सिंह प्रभारी सर्विलांस सेल, मो0 ऐश खाँ अपने टीम के साथ शामिल रहे। इस सराहनीय कार्य को करने वाली पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु पुलिस अधीक्षक सोनभद्र द्वारा 25 हजार रुपये के नगद पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है।

वन भूमि जोतने में पूर्व प्रधान का ट्रैक्टर सीज

म्योरपुर। वन प्रभाग रेणुकूट के म्योरपुर रेंज क्षेत्र के गंभीरपुर स्थित शिकारी बंधी के जंगल की भूमि जोतने के आरोप में वन विभाग की टीम ने पूर्व प्रधान का ट्रैक्टर मौके से पकड़ कर रेंज कार्यालय ले जाकर सीज कर दिया। वन विभाग की इस कार्रवाई से वन भूमि जोतने वालों में खलबली मच गयी है। वन रक्षक ओम प्रकाश जायसवाल ने बताया कि एक ग्रामीण ने डीएफओ को सूचना दी कि शिकारी बंधी के जंगल में कुछ लोग ट्रैक्टर से वन भूमि की जुताई कर रहे हैं। उनके निर्देश पर टीम मौके पर पहुंची तो ट्रैक्टर वन भूमि जोतते हुए मौके से पकड़ा गया और उसे रेंज कार्यालय ले जाकर सीज कर दिया गया। सूत्रों की मानें तो कई दिन से उक्त वन भूमि पर ट्रैक्टर से जुताई हो रहा था। स्थानीय ग्रामीणों ने शिकायत की तो कर्मचारियों ने पुरानी जोत बता कर अधिकारियों को गुमराह कर दिया था। प्रभागीय वनाधिकारी ने मामले को गंभीरता से लिया और खुद अपने सूत्रों से जानकारी ली और रेंजर को कड़ाई से वन भूमि जोतने वालो पर कार्यवाही का निर्देश दिया, तब ट्रैक्टर पकड़ा गया। बताया जा रहा है कि रेंज क्षेत्र के चितपहरी जंगल में भी वन भूमि जोती गयी है। उसकी भी शिकायत वन दरोगा से ग्रामीणों ने की तो वन रक्षक ने यही गढ़ी गयी कहानी दोहरा दी कि पुराना कब्जा है। जबकि, पिछले साल भी शिकायत पर उक्त वन भूमि पर वन विभाग ने बबूल और खैर के पेड़ का पौधा लया था, जिसे जोत दिया गया। मामले को लेकर डी एफ मनमोहन मिश्रा ने कहा है कि वह खुद स्थलीय निरीक्षण कर कार्रवाई करेंगे।

33 हजार लाइन में आई तकनीकी खराबी, गर्मी व उमस से लोग बेहाल

म्योरपुर। म्योरपुर सहित दर्जनों गांवों में बीते 24 घण्टे से बिजली आपूर्ति ठप्प हो जाने से उमस व गर्मी से उपभोक्ता बेहाल हैं। शनिवार को लगभग 4 बजे गरज के साथ हुई बारिस से बिजली गुल हुई थी, जो रविवार शाम तक भी नही आई। बिजली विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि 33 हजार लाइन में तकनीकी खराबी आने से बिजली आपूर्ति ठप हो गयी है। काम चल रहा है, जल्द ही बिजली आपूर्ति बहाल हो जाएगी। उपभोक्ताओं का कहना है कि हल्की बारिस होते ही बिजली गुल हो जाना आम बात हो गयी है। जर्जर उपकरणों की वजह से आये दिन बिजली आपूर्ति बाधित होती रहती है। बरसात के बाद हो रही उमस भरी गर्मी से लोग परेशान हैं। ऊपर से बिजली भी गुल है। जितेंद्र कुमार, रमाशंकर, प्रवीण कुमार, उमाशंकर, गौरीशंकर, सुनील, इरफान अहमद, श्यामू प्रसाद, अशर्फीलाल ने जिलाधिकारी का ध्यान इस ओर आकृष्ट कराया है।

विस्थापितों को मुआवजा देकर खाली कराया जाए डूब क्षेत्र

दुद्धी। कनहर सिंचाई परियोजना का रविवार को निरीक्षण करने मुख्य अभियंता हर प्रसाद अमवार पहुंचे। उन्होंने सर्वप्रथम नए सिरे से बन रहे पुनर्वास प्लाटिंग एरिया का निरीक्षण कर अभियंताओं को जल्द प्लाटिंग पूरा करने का निर्देश दिया।

सिंचाई विभाग गेस्ट हाउस पहुंचे मुख्य अभियंता ने ड्राइंग के माध्यम से बांध निर्माण की प्रगति देखी और मिट्टी बांध की पिचिंग जल्द पूरा कराते हुए पिचिंग के पीछे मिट्टी बांध पर जमे हुए घास को कार्यदायी संस्था को साफ कराने का निर्देश दिया। प्रेस वार्ता में प्रमुख अभियन्ता ने बताया कि अभी जो पैसा है, उससे स्पिलवे के काम को पूरा करने पर ध्यान दिया जा रहा है। कहीं वन विभाग से जमीन अभी तक अर्जित नही हो पाने के कारण नहर का कार्य रुका हुआ है। वन विभाग की अनुमति मिलने के बाद आगे का कार्य चालू करा दिया जाएगा। वे कोशिश में लगे हैं कि जल्द सभी विस्थापितों को मुआवजा देकर डूब क्षेत्र खाली कराया जाए। इस मौके पर अधीक्षण अभियंता दीपक कुमार, अधिशासी अभियन्ता विनोद कुमार, सत्य प्रकाश चौधरी, मोइनुद्दीन, सहायक अभियंता रवि श्रीवास्तव, त्रिलोकीनाथ झा, नर सिंह राम, सुनील यादव, संजय गुप्ता, अवर अभियन्ता संतोष कुमार राम, संजय कुमार, ज्ञानेन्द्र श्रीवास्तव, सत्यनारायण आदि मौजूद थे ।

 श्रमिकों का भुगतान नहीं हुआ तो होगा आंदोलन

डाला। स्थानीय सेक्टर सी हनुमान मंदिर परिसर में रविवार को राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक द्वारा भवन निर्माण एवं पंजीकृत मनरेगा मजदूरों के खाते एक हजार अभी तक न आने को लेकर बैठक आयोजित हुई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाध्यक्ष हरदेव नारायण तिवारी व अध्यक्षता डाला नगर अध्यक्ष लालजी साहनी ने किया।

मुख्य अतिथि ने कहा कि सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में असंगठित क्षेत्र के कामगारों का पंजीकरण 9 जून 21 को माननीय मुख्यमंत्री द्वारा पोर्टल का शुभारंभ किया गया था। रावर्टसगंज से 80 श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन हेतु श्रम प्रवर्तन अधिकारी कार्यालय में जमा किया गया था। अभी तक रजिस्ट्रेशन न होने से श्रमिकों में आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के खाते में बकाया पैसा नहीं भेजा गया और रजिस्ट्रेशन नहीं किया गया तो भारी संख्या में मजदूर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन हेतु बाध्य होंगे। साथ ही विगत चार वर्ष पूर्व ग्राम पंचायत वेलछ में केरवा बांध के निर्माण हेतु लगभग सात हजार मजदूर एवं किसानों ने हस्ताक्षर कर जिला प्रशासन को पत्र दिया था जिसके बाद उस पर कुछ कार्यवाही भी हुई लेकिन बांध का निर्माण कार्य अभी तक प्रारंभ नहीं किया गया। जिसके कारण पच्चीस हजार आबादी वाले पच्चीस हजार बीघा जमीन की सिंचाई न हो पाने के कारण वहां के तीन ग्राम पंचायत बेलछ, रुदौली,मकरीबारी के किसान मजदूर की दशा दिनों-दिन खराब होती जा रही है जिला प्रशासन से मांग की गई कि इस पर शीघ्र कार्रवाई करें। संचालन शमीम अख्तर खान ने किया। इस दौरान दीनानाथ शर्मा, राजेश देव पांडे, सुभाष भारती, हरिशंकर गौड़, आशा शर्मा,राजाराम भारती, उदल यादव, स्वतंत्र साहनी, अजय पांडे, फकरुद्दीन, रमाशंकर गोंड, सुरेंद्र गोड़,शांति देवी, कौशल्या देवी, सीतामनी देवी,बुधनी देवी,अब्दुल गफ्फार आदि लोग मौजूद रहे।

नगर कांग्रेस कमेटी की बैठक सम्पन्न                 

ओबरा। नगर कांग्रेस कमेटी ओबरा की प्रथम बैठक रविवार को पार्टी कार्यालय में नगर अध्यक्ष जय शंकर भारद्वाज की अध्यक्षता में की गयी।बैठक में जिले तथा नगर के पदाधिकारी उपस्थित रहे।बैठक को संबोधित करते हुए जिले से आए वरिष्ठ वक्ताओं ने अपने अपने वक्तव्य से ओबरा नगर कांग्रेस कमेटी के कार्यकतार्ओं का मार्गदर्शन किया।वही वरिष्ठ सदस्यों ने नगर की प्रमुख समस्या मुख्य पांच बिंदु जो आम जनता और समाज के हित की है उस पर विस्तार से चर्चा किया। कहा कि प्रतिदिन बढ़ रही महंगाई क्षतिग्रस्त सड़क पेट्रोलियम गैस के बढ़ते दामों और नगर पंचायत द्वारा संचालित गौ शाला की व्यवस्था ठीक कराए जाने को लेकर कार्य करने की आवश्यकता है। साथ ही संगठन को मजबूत बनाने के विषय पर अपने अपने विचार दिए गए।संचालन मो अहमद खान नूर ने किया। बैठक में महिला अध्यक्ष सोनू गुप्ता, जिला कांग्रेस कमेटी सचिव ओबरा प्रभारी उषा चौबे, पीसीसी सदस्य नूरुद्दीन खान, जिला उपाध्यक्ष अरविंद सिंह, सतुन्जय मिश्रा, आर पी त्रिपाठी, कन्हैया पाण्डेय, जिला महासचिव बृजेश तिवारी, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष उमाशंकर सिंह, कामरेड लालचंद्र, केएन सिंह, इंतजामिया कमेटी के सचिव मो शरीफ, मो अशरफ, शिव वचन चौहान, सुजीत कुमार, श्याम जी पाठक, योगेंद्र दुबे, सुनीता तिवारी, अहमद रजा राइन, पंकज मिश्रा, श्रीकृष्ण धर दुबे, निसार खान, कृष्णानंद वर्मा आदि लोग मौजूद रहे।

जरूरतमंदों में बांटी मच्छरदानी

ओबरा। राष्ट्रीय नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष आनन्द पटेल दयालु की अध्यक्षता में रविवार को मच्छर के प्रकोप से बचने के लिए लोगों में जागरूकता अभियान चला कर लोगों को मच्छरदानी दिया गया गया।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राम कृपाल यादव एवं ग्राम सेवा समिति के अध्यक्ष शिवदत्त दुबे ने मच्छरदानी बांट कर कार्यक्रम प्रारंभ किया।विशिष्ट अतिथि रूप में रामनारायण यादव रहे।इस दौरान 101 जरूरत मन्द लोगों में मच्छरदानी वितरित किया गया।श्री दयालु ने बताया कि जरूरतमंद लोगों की मदद करना संगठन का मूल उद्देश्य है।बताया की आवश्यकता अनुसार संगठन द्वारा विभिन्न तरीके से जरूरतमंदों की मदद करने का प्रयास किया जाता रहा हैं।इस अवसर पर राष्ट्रीय नवनिर्माण सेना के जिला अध्यक्ष संतोष कनौजिया, संतरा यादव, मनिया कोल, शोभनाथ यादव, किस्मतिया, मुकेश गुप्ता आदि लोग मौजूद रहे।

ईदुलजुहा को लेकर पीस कमेटी की बैठक संपन्न

दुद्धी। स्थानीय कोतवाली परिसर में आगामी त्यौहार ईदुलजुहा को लेकर शांति समिति की बैठक सम्पन्न हुई। अध्यक्षता कर रहे एडिशनल एस पी राजीव प्रताप सिंह मुस्लिम बंधुओ से त्यौहार के बावत आने वाली दिक्कतों के बारे में  चर्चा की। त्यौहार पर विद्युत व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए। साथ ही उन्हें स्थायी रूप से दुद्धी में ही रहने की ताकीद की, जिससे तहसील मुख्यालय पर विद्युत व्यवस्था सुचारू रूप से चल सके।

एडिशनल एसपी ने कहा कि सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार क्षेत्र के ईदगाहों में कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए केवल 5 -5 लोंग ही नमाज पढ़ेंगे। इसके अलावा अकीदतमंद अपने घरों में रहकर ही ईदुलजुहा का नमाज अदा करें। सीओ राम आशीष यादव ने कहा कि क्षेत्र में शांति व्यवस्था से त्यौहार मनाएं, कहीं भी कोई दिक्कत व गड़बड़ी होने की सूचना तत्काल दें, जिससे समय रहते उसका निदान हो सके। राजकुमार ने साफ सफाई व्यवस्था चाक चौबंद करने की बात कही। कहा कि त्यौहार व नमाज के दौरान कोई गंदे जानवर व आवारा पशु बाजार में नहीं दिखाई देगा। इसका अनुपालन तत्परता से किया जाएगा। इस मौके पर नगर पंचायत अध्यक्ष राजकुमार अग्रहरी, अक्षयबर नाथ, मनीष जायसवाल, कमलेश कमल, कन्हैया अग्रहरी, आलोक अग्रहरी, मो. शमीम अंसारी, इब्राहिम खान, फतेह मोहम्मद, रिजवान, गुड्डू खान, शाहिद, मेराज समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

मीरजापुर

प्रधानमंत्री आवास बनाने के नाम पर लेखपाल पर रूपए मांगने का आरोप

हलिया। स्थानीय थाना क्षेत्र के अहुगी कलां ग्राम पंचायत में शासन द्वारा लाभार्थियों को दिए गए प्रधानमंत्री आवास बनाने के नाम पर लेखपाल पर धन उगाही का आरोप लगाते हुए ग्राम प्रधान पति राजेश अग्रहरि के नेतृत्व में कोलआवास के लाभार्थियों ने रात दस बजे हलिया थाने पर पहुंचकर राजस्व लेखपाल संतोष सरोज पर आवास बनाने के नाम पर प्रति लाभार्थियों से दस हजार रुपए रिश्वत की मांग का आरोप लगाते हुए लेखपाल के विरुद्ध तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। दी गई तहरीर में ग्राम प्रधान नगीना देवी ने आरोप लगाया है कि शासन ने गरीब भूमिहीन व्यक्तियों को आवास आवंटित किया है। ग्राम समाज की अकृषिक भूमि पर लाभार्थी कोल आवास बना रहे हैं, किंतु हल्का लेखपाल प्रति लाभार्थी से आवास बनाने के नाम पर दस हजार रुपए की मांग कर रहे हैं। जिसे गरीब मजदूर देने में असमर्थ हैं। लाभार्थियों द्वारा रुपए नही देने पर हल्का लेखपाल लाभार्थियों से गाली गलौज कर जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं। लेखपाल के इस कदम से गरीब दलित अत्यंत पीड़ित हैं। अहुगी कलां ग्राम पंचायत के पहरी पर 50 वर्षों से भी अधिक समय से कोल जाति के लोग कच्चा मकान बनाकर निवास करते चले आ रहे हैं। शासन द्वारा मिले सरकारी आवास को बनाए जाने पर लेखपाल द्वारा अड़ंगा लगाया जा रहा है और कहा जा रहा है कि यह जमीन सरकारी है। जब तक प्रति लाभार्थी दस हजार रुपए नही देंगे आवास नही बना सकते हैं। आवास लाभार्थी रात दस बजे प्रधानपति राजेश अग्रहरि के साथ थाने पहुंचे आवास लाभार्थी विजय शंकर कोल, बबलू कोल, महेश कोल, सुबे चंद, सागर कोल, इन्द्रमणि कोल, चानिका कोल, जनक कोल, राम बालक कोल, प्रेम शंकर कोल, लल्लू कोल, बृजलाल कोल, गंगेश्वर कोल ने आरोप लगाया कि शनिवार शाम सात बजे राजस्व लेखपाल धन उगाही करने के लिए मुहल्ले में पहुंचकर दस हजार रुपए की मांग करने लगे। हम गरीब लोग दस हजार रुपए देने में असमर्थ हैं। जबकि हम लोग बंजर भूमि पर पचासों वर्ष से कच्चा मकान बनाकर रह रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि यदि भ्रष्टाचार में लिप्त लेखपाल के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की जाती है तो तहसील मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे।

वनक्षेत्र में हुए अतिक्रमण को वनक्षेत्राधिकारी ने हटवाया

हलिया। ड्रमंडगंज वनरेंज के बबुरा रघुनाथ सिंह वनक्षेत्र के कंपार्टमेंट नंबर 6 का रविवार को वनक्षेत्राधिकारी ड्रमंडगंज वीके तिवारी ने स्थलीय निरीक्षण किया। वन क्षेत्र में अतिक्रमणकारियों द्वारा चढ़ाए गए मड़हा तथा टटिया को वनक्षेत्राधिकारी वीके तिवारी के निर्देश पर वनकर्मियों ने उजाड़ कर फेंक दिया। वनविभाग की टीम को वनक्षेत्र में देखकर वनभूमि पर मड़हा तथा टटिया लगाकर अतिक्रमण करने वाले भाग निकले। वनक्षेत्राधिकारी ड्रमंडगंज वी के तिवारी ने बताया कि वनरेंज के बबुरा सिंह वनक्षेत्र के कंपार्टमेंट नंबर छह में दस स्थानों पर वनभूमि पर मड़हा तथा टटिया लगाकर अतिक्रमण पाए जाने पर वनभूमि से उजाड़ कर फेंक दिया गया है। वनभूमि पर अतिक्रमण करने वालों का पता लगाया जा रहा है। वनभूमि पर अतिक्रमण करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान वनरक्षक संजीव कुमार पटेल, सर्वेश पटेल, सियाराम पाल, आदि मौजूद रहे।

ग्राम प्रधानों को दिया गया प्रशिक्षण

राजगढ़। शासन की ओर से संचालित उन्मुखीय वर्चुअल प्रशिक्षण कार्यक्रम राजगढ़ विकास खंड अन्तर्गत सकुशल सम्पन्न हुआ। वरिष्ठ एवं अनुभवी विभागीय अधिकारियों के दिशानिर्देशन में जिले के सभी ग्राम प्रधानों को प्रशिक्षण दिया गया। स्थानीय विकास खंड के पटिहटा सरिया खनजादीपुर न्याय पंचायत के अन्तर्गत आने वाले ग्राम पंचायतों को चौथे व आखिरी चरण में सम्मिलित किया गया। जिसमें कुल 20 ग्राम प्रधान कार्यशाला में उपस्थित रहे और प्रशिक्षण प्राप्त किया। जिलेभर में संचालित कार्यक्रम को राजगढ़ विकास खंड क्षेत्र में न्यायपंचायतवार कुल 4 भागों में विभाजित किया गया जिसके तहत प्रथम चरण में धौरहां व देवपुरा न्याय पंचायत के कुल 21 ग्राम प्रधानों को प्रशिक्षण दिया गया। दूसरे चरण में राजगढ़ व खटखरियां न्याय पंचायत के 21, तीसरे चरण में तेन्दुआं कला व सक्तेषगढ़ न्याय पंचायत के 21, वहीं चौथे व अन्तिम चरण में सरिया खनजादीपुर एवं पटिहटा न्याय पंचायत के कुल 20 ग्राम प्रधानों को उन्मुखीय वर्चुअल प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम में एडिओ पंचायत पंकज वर्मा, विशाल श्रीवास्तव बीसी, दिव्या सिंह बीसी, विकेट सिंह सचिव, मुकेश कुमार सचिव, एवं प्रधानगण उपस्थित रहे। 

डीएफओ का औचक निरीक्षण वनकर्मियों को चेतावनी

हलिया। डीएफओ मीरजापुर पी एस त्रिपाठी ने रविवार शाम पांच बजे ड्रमंडगंज वन कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान डीएफओ ने अभिलेखों का निरीक्षण किया और वनक्षेत्राधिकारी वी के तिवारी से पौधरोपण तथा राजस्व से संबंधित जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अभिलेखों में आय दर्ज नहीं करने पर नाराजगी जताई और अभिलेखों को ठीक से दुरुस्त करने की हिदायत दी। डीएफओ ने मौजूद वनकर्मियों से वनरेंज में खनन तथा अतिक्रमण पाए जाने पर कार्रवाई की हिदायत दी। उन्होंने वनक्षेत्र में अतिक्रमण करने वालों के विरुद्ध अभियान चलाकर कार्रवाई करने का रेंजर को निर्देश दिया। डीएफओ ने वनकर्मियों को वन तथा वन संपदा की सुरक्षा में लापरवाही नही बरतने का निर्देश दिया। कार्य में लापरवाही बरतने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। डीएफओ ने वन क्षेत्राधिकारी से वनरेंज में कराए गए पौधारोपण तथा बीज बुआन के संबंध में जानकारी प्राप्त की और लगाए गए पौधों की सुरक्षा में लापरवाही नही बरतने का निर्देश दिया। उन्होंने रेंजर को वनक्षेत्र में रात्रिगश्त बढ़ाए जाने पर बल दिया। इस दौरान वनक्षेत्राधिकारी वी के तिवारी, वनरक्षक संजीव कुमार पटेल, सर्वेश पटेल, सियाराम पाल, संजय पाठक, रमाशंकर चौरसिया आदि मौजूद रहे।

पुल निर्माण कार्य अधर में लटका

भावां। राजगढ़ प्रखंड क्षेत्र के चौखडा, रामपुर 38, दरवान गांव के नहर का पुल अभी तक पुल निर्माण नहीं होने से राहगीरों को काफी परेशानी हो रही है। धनरौल बांध से निकलने वाले घाघर नहर पर स्थित चौखडा, रामपुर 38, दरवान गांव मे अंग्रेजों के जमाने से पुल का निर्माण कराया गया था। पुल के चौड़ीकरण करने के लिए विगत दो वर्ष पहले पुल को तोड़ कर नया बनाया जाना था, पुल का निर्माण कार्य शुरू भी हुआ पर अभी तक पूरा नहीं किया जा सका। बरसात के मौसम में तो इस मार्ग से गुजरना ओर भी अधिक खतरनाक हो जाता है। न चाहते हुए भी ग्रामीण जान हथेली पर लेकर इस पुल पर आवागमन कर रहे हैं। अब तक पुल निर्माण कार्य शुरू नहीं किए जाने को लेकर स्थानीय क्षेत्र के लोग प्रशासनिक उदासीनता का आरोप लगाते हुए कहा कि अगर प्रशासन चाहती तो आज इस पर पुल निर्माण कार्य लगभग पूरा होने के कगार पर रहता। यदि समय रहते इसके निर्माण पर तत्परता दिखाई जाती तो आम लोगों को होने वाली परेशानी से निजात मिल जाती। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से इस दिशा में पहल करने की मांग की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.