Saturday, July 13, 2024
होमराज्यदिल्ली : पुलिस वैन से कूदकर व्यक्ति घायल, चार सरकारी अस्पतालों...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

दिल्ली : पुलिस वैन से कूदकर व्यक्ति घायल, चार सरकारी अस्पतालों में नहीं थीं सुविधाएं, इलाज के अभाव में मौत

नई दिल्ली (भाषा)। दिल्ली में बुधवार तड़के चलती पुलिस वैन से कूदने के बाद घायल हुए 47 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। यह जानकारी देते हुए पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पुलिसकर्मी अस्पतालों में बिस्तरों या उपकरणों की अनुपलब्धता की वजह से पीड़ित प्रमोद को चार अलग-अलग सरकारी अस्पतालों में ले […]

नई दिल्ली (भाषा)। दिल्ली में बुधवार तड़के चलती पुलिस वैन से कूदने के बाद घायल हुए 47 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई। यह जानकारी देते हुए पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पुलिसकर्मी अस्पतालों में बिस्तरों या उपकरणों की अनुपलब्धता की वजह से पीड़ित प्रमोद को चार अलग-अलग सरकारी अस्पतालों में ले गए थे। उन्होंने कहा कि किसी अस्पताल में भर्ती न हो पाने के बाद सुबह करीब 5 बजकर 45 मिनट पर उसकी मौत हो गई।

पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) जॉय तिर्की ने कहा कि शांति मोहल्ले के निकट एक महिला से छेड़खानी और गाली-गलौच करने के मामले में गश्तकर्मियों ने आरोपी को न्यू उस्मानपुर थाने ले जाने के लिए वैन में बिठा लिया। आरोपी नशे में था और उल्टी कर रहा था। तभी अचानक वह खिड़की की शीशा खोलकर चलते वाहन से कूद गया।

अधिकारी ने कहा कि वह सड़क पर गिरने से वह घायल हो गया था। उसे तुरंत जगप्रवेश चंद्र अस्पताल (जेपीसी) ले जाया गया, जहां उसे दूसरे अस्पताल ले जाने के लिए कहा गया।

इसके बाद घायल को एंबुलेंस से जीटीबी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन सीटी-स्कैन की अनुपलब्धता के कारण उसे भर्ती नहीं किया जा सका। उसे एलएनजेपी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन आईसीयू वेंटिलेटर में बिस्तर न होने की वजह से उसे वहां भर्ती नहीं किया जा सका।

डीसीपी ने कहा कि इसके बाद घायल को आरएमएल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन अस्पताल प्राधिकारियों ने उसे भर्ती करने से इनकार कर दिया। उसे फिर से जगप्रवेश चंद्र अस्पताल लाया गया, जहां सुबह करीब 5 बजकर 45 मिनट पर उसे मृत घोषित कर दिया गया।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें