Sunday, April 14, 2024
होमTags#Farmer

TAG

#Farmer

आत्महत्या : मौसम की मार और कर्ज के बोझ ने फिर ली यूपी के एक किसान की जान

एनसीआरबी द्वारा ज़ारी ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में प्रतिदिन 30 किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं।

बनारस के किसान क्यों ‘काशी द्वार प्रोजेक्ट’ की वजह से अपनी जान दे रहे हैं?

वाराणसी में पिंडरा ब्लॉक में काशी द्वार परियोजना प्रस्तावित है, जिसका विरोध यहाँ के किसान कर रहे हैं।

महाराष्ट्र : किसानों की पत्नियाँ कर्ज चुकाते जी रही हैं बदतर ज़िंदगी

आज समूचे देश में कृषि-क्षेत्र में 72 प्रतिशत से ज़्यादा लड़कियाँ और महिलाएँ दिन-रात पसीना बहा रही हैं। मगर उनका अस्तित्व आज भी उनके पति के अस्तित्व पर निर्भर करता है। फिर भी इन औरतों ने परिस्थितियों  से जूझना बंद नहीं किया है। महाराष्ट्र में किसानों की आत्महत्या के बाद उनकी पत्नियाँ किस तरह उनका कर्ज उतारकर जीवन जी रही हैं, पढ़िये ग्राउंड रिपोर्ट

आजमगढ़ : मोदी के लिए खड़ी फसल रौंदी गई, प्रशासन ने मुआवजा देने से किया इंकार

एक तरफ जहां देश के प्रधानमंत्री किसानों के हित की बात करते हैं वहीं दूसरी तरफ उनका आचरण किसान विरोधी नजर आता है। आजमगढ़ में किसानों की खड़ी फसल रौंद दी गई, अब जिला प्रशासन उचित मुआवजा देने में आनाकानी कर रहा है।

महाराष्ट्र : कर्ज़ से छुटकारा पाने के लिए आत्महत्या करें या गुलामगीरी पर गुलेल चलाएँ?

महाराष्ट्र का विदर्भ क्षेत्र का नाम किसानों की आत्महत्या के मामले में अक्सर सुनाई देता रहा है। लेखिका डॉ लता प्रतिभा मधुकर ने विदर्भ के यवतमाल और वर्धा जिले के मृतक किसानों की पत्नियों से मिलकर उनके संघर्ष और जीजीविषा को नजदीक से देखा। ये आत्महत्या न कर ज़िंदगी से क्यो और कैसे लड़ती हैं? पढ़िये ग्राउंड रिपोर्ट का भाग एक-

वाराणसी : काशी द्वार योजना के विरोध में किसानों का अनशन शुरू

काशी द्वार के नाम पर किसानों से ली जायेंगी 10 गांवों की 15 सौ बीघा जमीनें। किसानों ने चेताया है कि यदि योजना जल्द ही रद्द नहीं हुई तो लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे।

मिर्जापुर : सरकारी खरीद केंद्र न होने के कारण किसान एमएसपी से कम दाम पर बेच रहे हैं सरसों

किसान चाहते हैं कि सरसों भी तय की गई एमएसपी पर बिके। ब्लॉक और जिले स्तर पर सरसों के लिए कोई भी खरीदी केंद्र न होने से किसान खुले बाजार में औने-पौने दाम में सरसों बेचने के बाद खुद को छला हुआ महसूस कर रहे है

दिल्ली की सरहदों पर जुटेंगे देशभर के किसान, इस बार एमएसपी की गारंटी कानून बनवाने के लिए करेंगे संघर्ष

देश के किसान एक बार फिर आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं। प्रमुख मुद्दा ‘एमएसपी की गारंटी’ है। 13 फरवरी को दिल्ली के प्रमुख...

आज़मगढ़ में वृद्धा ने लगाया पेंशन के नाम पर ज़मीन रजिस्ट्री कराने का आरोप

आजमगढ़। जिले के स्थानीय तहसील क्षेत्र में ज़मीन विवाद का मामला सामने आया है। यह मामला रसूलपुर पासीपुर गाँव का है। यहाँ गाँव की...

यूपी में किसान बेहाल, सरकार की नज़र में सब हैं खुशहाल

वाराणसी। 'पहले किसान कर्ज में डूबा था आज खुशहाल है', यह बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने एक बयान  में कही। यह भी कहा...

मेरठ : वन विभाग पर जमीन कब्जा करने का आरोप लगा किसान ने किया आत्मदाह का प्रयास किया, हालत गंभीर

मेरठ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में कथित तौर पर एक किसान ने उसकी भूमि को सरकारी बताकर उस पर वन विभाग द्वारा...

मौसम में परिवर्तन ने बढ़ा दी है किसानों की चिंताएँ

मौसम ने करवट बदला। फिजा में चारों तरफ गलन बढ़ी। गलन के साथ ही कुहरे ने भी वातावरण को अपनी आगोश में ले लिया।...

संयुक्त किसान मोर्चा ने किया ऐलान, 15 और किसान महापंचायतों करेंगे आयोजन

बेंगलुरु (भाषा)। किसान संगठन संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) ने सात प्रमुख मांगों के साथ 26 फरवरी को 'दिल्ली चलो' का आह्वान किया है और...

बलिया: किसान की पिटाई के आरोप में चार लेखपालों समेत छह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

बलिया (भाषा)। जिले के बांसडीह तहसील में खतौनी का सत्यापन करने को लेकर कथित रूप से एक किसान की पिटाई के मामले में चार...

बिहार : उचला गांव में सिंचाई के बिना प्रभावित हो रही सैकड़ों किसानों की खेती

सिंचाई की सुविधा उपलब्ध नहीं होने या आर्थिक स्थिति कमज़ोर होने के कारण नई पीढ़ी का इसे छोड़ना चिंता की बात है, क्योंकि यह न केवल अर्थव्यवस्था का मज़बूत स्तंभ है, बल्कि देश की आबादी के पेट भरने का माध्यम भी है। ऐसा नहीं है कि सरकार इस दिशा में प्रयास नहीं कर रही है। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के माध्यम से इस समस्या का हल संभव है।

पंजाब में किन्नू की बंपर पैदावार के चलते लागत भी नहीं निकाल पा रहे किसान

चंडीगढ़ (भाषा)।  बंपर पैदावार के बीच किन्नू की कीमतों में अप्रत्याशित गिरावट के कारण पंजाब में किसान काफी परेशान हैं। कीमतों में गिरावट की वजह...

छत्तीसगढ़: संयुक्त किसान मोर्चा के साथ बनी सहमति को लागू करें केंद्र सरकार

रायपुर। देशव्यापी किसान आंदोलन के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा के साथ बनी लिखित सहमति के आधार पर केंद्र सरकार अपने वायदों पर अमल करें।...

उत्तर प्रदेश : समितियों से नहीं मिल रही है खाद, संकट से जूझ रहे हैं किसान

गेंहू की खेती शुरू होने के साथ किसानों के लिए डीएपी और यूरिया का संकट एक बार फिर से शुरू हो गया है। सरकार...

वाराणसी: बेमौसम बारिश ने किसानों की उम्मीद पर पानी फेरा

बीते दो-तीन दिनों से बनारस सहित आसपास के जिलों में बेमौसम बारिश हो रही है, जिसकी वजह से खेतों में काटकर रखा हुए धान...

तेलंगाना के कोडंगल विधानसभा के किसानों में असंतोष, बीआरएस-कांग्रेस के लिए आसान नहीं राह

कोडंगल, तेलंगाना (भाषा)। तेलंगाना के कोडंगल विधानसभा क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी की कमी और बेरोजगारी एक प्रमुख चुनावी मुद्दा है, जो 30...

ताज़ा ख़बरें