Browsing Tag

raigarh

अभाव और बदहाली में जीने वाले कोई पहले कलाकार नहीं हैं गोविंदराम झारा

एकताल गाँव की कहानी - एक  ग्राम एकताल और गोविंदराम झारा एक दूसरे के पर्याय बन चुके हैं। गोविंद राम झारा, इस झारा शिल्प या जिसे ढोकरा शिल्प…
Read More...

बारह वर्षों में कहाँ तक पहुँचा है तमनार का कोयला सत्याग्रह

ऊपर की तस्वीर में गाँव के कुछ लोग मंच बनाते दिख रहे हैं। ये किसी टेंट हाउस के कर्मचारी नहीं है बल्कि उरवा और आसपास के गाँव के ग्रामीण हैं।…
Read More...

क्या सोच रहे हैं विस्थापन की दहशत के बीच तमनार के लोग

तमनार विकासखंड में महाजेनको यानी महाराष्ट्र स्टेट पावर जनरेशन कंपनी लिमिटेड को खनन के लिए 2015 में खदान आबंटित हुई है। तमनार विकासखण्ड में…
Read More...

सामुदायिक वन अधिकार से कितना बदलेगा आदिवासियों का जीवन

जंगल आदिवासियों का ही है लेकिन उन्हीं को वहाँ से बेदखल करने की कोशिशें लगातार होती रही हैं। वन विभाग और पुलिस द्वारा आदिवासियों के दमन और…
Read More...

जनता की लड़ाई के सिवा मेरे पास कुछ भी नहीं है

सविता रथ के बारे में उनके रिश्तेदारों और जाननेवालों ने जो भविष्यवाणियाँ की थीं वे सब झूठी साबित हो गईं, क्योंकि सविता ने कभी हार नहीं मानी।…
Read More...

इस सरकार का संकल्प किसानों को मजदूर बनाने का है

चार सौ एकड़ ज़मीन और पांच गाँव का मालिकाना अधिकार रखने वाले गाँव के गौंटिया और किसान के पास जब केवल कुछ एकड़ ज़मीन ही रह जाये तब उनकी रोजी-रोटी…
Read More...

अब हम लोग क्या करें सुभाष भैया?

शहीद कर्नल विप्लव त्रिपाठी के पिता श्री सुभाष त्रिपाठी को मैं अग्रज का दर्जा देता हूँ। त्रिपाठी परिवार से मेरे परिवार का पुराना प्रगाढ़ संबंध…
Read More...

हमारा लक्ष्य – (लघु नाटक)

( आज 6 अगस्त है, आज से 76 वर्ष पहले दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान अमेरिका ने जापान पर परमाणु बम गिराया. कभी न भुलाए जाने वाले दिनों में से एक.…
Read More...