Wednesday, July 24, 2024
होमराज्यसंदेशखाली में पुलिस ने तृणमूल नेता अजीत मैती को गिरफ्तार किया,शाहजहां के...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

संदेशखाली में पुलिस ने तृणमूल नेता अजीत मैती को गिरफ्तार किया,शाहजहां के खिलाफ एफआईआर

संदेशखाली में तृणमूल काँग्रेस के नेता शाहजहां के करीबी माने जाने वाले अजीत मैती को पुलिस ने महिलाओं की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया है।

 कोलकाता। पश्चिम बंगाल पुलिस ने ग्रामीणों की जमीन हड़पने के आरोप में उत्तरी 24 परगना जिले के अशांत संदेशखाली से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता अजीत मैती को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी।

संदेशखाली के निवासियों की तरफ से 70 से ज्यादा शिकायतें मिलने के बाद पुलिस ने शाहजहां शेख के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। अधिकतर शिकायतकर्ताओं ने आरोप लगाया कि शाहजहां उनकी जमीन के जबरन कब्जा किया और स्थानीय महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप भी लगाते हुए कहा कि इसमें सक्रिय रूप से शामिल था।

तृणमूल नेता शाहजहां शेख फिलहाल फरार हैं और उनके करीबी सहयोगी माने जाने वाले मैती को रविवार शाम को एक व्यक्ति के आवास से हिरासत में लिया गया।  ग्रामीणों ने उसका पीछा किया, उसके बाद खुद को चार घंटे से अधिक समय तक बंद कर रखा था।

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘ग्रामीणों से जमीन हड़पने की शिकायत मिलने के बाद हमने उन्हें गिरफ्तार किया है। हम उन्हें बाद में अदालत में पेश करेंगे।’

गिरफ्तारी से करीब 24 घंटे पहले ही मैती को तृणमूल कांग्रेस ने शाहजहां के भाई शेख सिराजुद्दीन की जगह पार्टी की क्षेत्र इकाई का अध्यक्ष बनाया था।

पुलिस के मुताबिक, जमीन पर जबरन कब्जा करने और महिलाओं के यौन शोषण के आरोप में मैती से रात भर पूछताछ की गई और सुबह उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। मैती ने शाहजहां के प्रभाव में आकर संदेशखाली के बरमादजुर इलाके में कई भूखंड पर कब्जा किया था।

उन्होंने कहा कि उन पर लोगों को धमकाने का आरोप है।

पुलिस ने स्थानीय तृणमूल नेताओं शिवप्रसाद हाजरा और उत्तम सरदार को कथित रूप से जमीन हड़पने और महिलाओं पर अत्याचार के मामले में पहले ही गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें शाहजहां का निकट सहयोगी माना जाता है।

जमीन हड़पने और स्थानीय महिलाओं पर अत्याचार करने के आरोपी शाहजहां और उनके समूह के साथ कथित संबंध रखने से गुस्साए ग्रामीणों ने कुछ दिन पहले चप्पलों से मारते हुए मैती पर हमला किया था।

तृणमूल कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को लगातार दूसरे दिन पश्चिम बंगाल के संदेशखाली का दौरा किया और उन ग्रामीणों की शिकायतें सुनीं जो पार्टी के स्थानीय नेताओं के कथित अत्याचारों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

संदेशखाली में बड़ी संख्या में महिलाओं ने स्थानीय तृणमूल नेता शाहजहां शेख और उनके समर्थकों पर जमीन हड़पने और यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। इस मामले में ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन के बीच सत्तारूढ़ दल के नेताओं का संदेशखाली का यह चौथा दौरा है।

प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों की एक टीम पर पांच जनवरी को भीड़ ने उस समय हमला किया था जब उसने पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में शेख के आवास में प्रवेश करने की कोशिश की थी। हमले में तीन अधिकारी घायल हो गए थे।

इसके बाद से शेख फरार है और स्थानीय लोग वहां प्रदर्शन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें –

क्या संदेशखाली भाजपा के लिए बंगाल में बड़ी जीत का रास्ता तय करेगा

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें