Tuesday, July 23, 2024
होमराजनीतियोगी मंत्रिमंडल का विस्तार, अखिलेश ने कसा तंज़

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

योगी मंत्रिमंडल का विस्तार, अखिलेश ने कसा तंज़

लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में योगी मंत्रिमंडल का विस्तार जातीय समीकरण को साधने के प्रयास से ज्यादा कुछ नहीं है ।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विपक्षी दलों समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस ने मंगलवार को राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के पहले मंत्रिमंडल विस्तार पर तंज किया है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में बेरोजगारी के मुद्दे का जिक्र करते हुए मंत्रिमंडल विस्तार पर कटाक्ष किया।उन्होंने ‘एक्स’ पर लिखा, ‘शपथ के सामने दूसरी शपथ: हम बेरोज़गार… पेपरलीक से प्रताड़ित… नौकरी के लिए भटक रहे युवा… अपने भविष्य को बचाने के लिए ये शपथ लेते हैं कि हम ऐसे दलों को ही वोट देंगे जिनका लक्ष्य नौकरी-रोज़गार देना है।’

उन्होंने लिखा, ‘साथ ही ये भी शपथ लेते हैं कि हम सक्रिय होकर अपने परिवार और आस-पास के मतदाताओं को सौहार्दपूर्ण-सकारात्मक राजनीति के लिए जागरूक करेंगे व आगामी लोकसभा चुनाव में संविधान में विश्वास करेनवाले दलों को जिताने के लिए समाज से खुलकर अपील करेंगे।’

यादव ने कहा, ‘हम इस नारे को हर परिवार, हर युवक-युवती तक पहुंचाने की भी शपथ लेते हैं : भाजपा हटाओ, नौकरी पाओ।’

कांग्रेस ने भी मंगलवार को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के मंत्रिमण्डल विस्तार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की घबराहट की निशानी करार दिया।

कांग्रेस ने कहा कि बेचैनी का आलम यह है कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को अपशब्द कहने वाले और हाल ही में चुनाव हार चुके नेताओं को सिर्फ जातीय संतुलन साधने के लिये मंत्रिमण्डल में जगह दी गयी है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय ने यहां संवाददाता सम्मेलन में राज्य के मंत्रिमंडल विस्तार का जिक्र किये जाने पर कहा, ‘जब चुनाव सिर पर हैं, उसी वक्त मंत्रिमंडल का विस्तार भाजपा की घबराहट को प्रदर्शित कर रहा है।’

उन्होंने राजभर और चौहान की तरफ इशारा करते हुए किसी का नाम लिये बगैर कहा, ‘एक नेता जो प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री जी को अपशब्द कह रहे थे और एक नेता जो अभी चुनाव हारे हैं, इन सब लोगों को सिर्फ जातीय संतुलन साधने के लिए मंत्रिमंडल में जगह देना यह बताता है कि भाजपा किस कदर घबराई हुई है।’

योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले मंत्रिमण्डल विस्तार के तहत आज सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर, पूर्व मंत्री दारा सिंह चौहान, राष्ट्रीय लोकदल के विधायक अनिल कुमार और साहिबाबाद सीट से भाजपा विधायक सुनील शर्मा को मंत्री बनाया गया है।

राजभर ने वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर काफी तल्ख बयान दिये थे।

वहीं, दारा सिंह चौहान वर्ष 2022 में सपा विधायक के तौर पर जीती गयी घोसी सीट से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में शामिल होकर इसी सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी बनकर उतरे थे, लेकिन उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें