Sunday, May 26, 2024
होमपर्यावरणबीज वितरण और ऑक्सीजन उत्सर्जन के लिए हुआ फलदार वृक्षों का वृक्षारोपण

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

बीज वितरण और ऑक्सीजन उत्सर्जन के लिए हुआ फलदार वृक्षों का वृक्षारोपण

वाराणसी | पारुल शर्मा एवं 200 स्वीडिश डोनर्स इंटरनेशनल रिसर्च काउंसिल फॉर टॉर्चर विक्टिम के आर्थिक सहयोग से जनमित्र न्यास/मानवाधिकार जननिगरानी समिति, चाइल्ड राइट्स एंड यू एवं सावित्रीबाई फुले महिला पंचायत के संयुक्त तत्वाधान में नीम, पीपल, आम, अमरुद, नींबू, अनार कुल छ: प्रकार के फलदार एवं आक्सीजन उत्सर्जन करने वाले 350 (साढ़े तीन सौ) […]

वाराणसी | पारुल शर्मा एवं 200 स्वीडिश डोनर्स इंटरनेशनल रिसर्च काउंसिल फॉर टॉर्चर विक्टिम के आर्थिक सहयोग से जनमित्र न्यास/मानवाधिकार जननिगरानी समिति, चाइल्ड राइट्स एंड यू एवं सावित्रीबाई फुले महिला पंचायत के संयुक्त तत्वाधान में नीम, पीपल, आम, अमरुद, नींबू, अनार कुल छ: प्रकार के फलदार एवं आक्सीजन उत्सर्जन करने वाले 350 (साढ़े तीन सौ) पेड़ बड़गांव, हरहुआ, पिंडरा एवं आराजीलाईन ब्लाक के सैकड़ों मुसहर परिवारों को देकर उनका रोपण किया | वहीं पोषण स्तर में वृद्धि के उद्देश्य से दलित एवं पिछड़ी जातियों के लगभग 2000 परिवारों को किचन गार्डेन के लिए मौसमी हरी सब्जियों नेनुआ, सेम, कोहड़ा, कद्दू, करेला आदि के बीज उपलब्ध कराया गया | कोरोनाकाल में  परिवार की कमजोर अर्थव्यवस्था की चुनौतियों से जूझने वाले 26 लघु किसानों को गोभी, बोड़ा  टमाटर आदि के बीज उपलब्ध कराया गया |
वृक्षारोपण की शुरुआत अनेई ग्राम के पंचायत भवन पर ग्राम प्रधान व संस्था के पदाधिकारियों के हाथो से अनार का पेड़ लगाकर किया गया | इसके बाद मुसहर बस्ती में सैकड़ो फलदार और ऑक्सीजन उत्सर्जन करने वाले वृक्षों का रोपण किया गया | मुसहर परिवार पेड़ो के महत्व को समझते हुए उनके देखभाल की जिम्मेदारी अपने बच्चों की तरह करने का संकल्प लिया | हर परिवार में इन पौधों के रोपण के लिए खासा उत्साह दिखाई दिया, वृक्षारोपण के लिए उन्होंने पहले से स्थान चयन करके गड्ढ़े तैयार करके रखा था | शाम के समय धान की रोपाई करके लौटे परिवार जल्दी तैयार होकर अपने लिए पौधे लेने पहुंचने लगे | अधिकांश महिलाओं ने बढ़ चढकर पौधों  को लेकर तुरंत उनका रोपण किया | साथ ही वृक्षों को सुरक्षित रखने के लिए ब्रिक गार्ड भी बनाकर पौधे को सुरक्षित घेरा | नीम लगाते हुए किसी को आस थी की मेरे दरवाजे पर छाँव नही है जब नीम बड़ा हो जाएगा तब इसके छाँव तले मेरा परिवार चैन से बैठकर सुस्ता पाएगा वहीँ आम, अमरुद, अनार, नींबू जैसे फलदार वृक्षों को लगाते हुए उनके आँखों में उम्मीद किरण साफ झलक रहा था कि, उनके बच्चे भी फल खा सकेंगे |

वृक्षारोपण करते PVCHR के सदस्य

गत वर्ष 465 (चार सौ पैंसठ ) परिवारों के बीच किचन गार्डेन से लगभग 8 हजार कुंतल मौसमी हरी सब्जियों का उत्पादन हुआ जिनका भरपूर उपयोग परिवारों ने अपने खानपान में किया और अपने आसपास के लोगों के साथ सब्जियों को साझा किया |
ग्राम प्रधान श्री प्रवीण कुमार सिंह एवं संस्था के पदाधिकारी श्रुति नागवंशी, शिरीन शबाना खान, अनूप श्रीवास्तव, छाया कुमारी, मंगला राजभर, संध्या राव एवं रूबी कुमारी की उपस्थिति रही |
श्रुति नागवंशी जनमित्र न्यास/मानवाधिकार जननिगरानी समिति की प्रबन्ध निर्देशक हैं | 
गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें