Thursday, July 25, 2024
होमTagsBahujan

TAG

bahujan

बहुजन समाज के छुटभैये राजनीतिक दल ही बहुजनों के वोटों को बाँटने में लगे हैं

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए बहुजन समाज से बसपा के अतिरिक्त अनेक राजनीतिक दल भी मैदान में उतरने का दंभ भर रहे हैं। विदित...

एक तरफ चाँद पर, दूसरी तरफ जातीय उत्पीड़न

वाराणसी। भारत को आजाद हुए 76 साल हो गए पर आज भी देश का एक बड़ा हिस्सा वंचना, अस्पृश्यता और गैर बराबरी की समस्या...

आरक्षण नहीं भागीदारी और हिस्सेदारी की बात होनी चाहिए

तीन मई से कुकी और मैतेई समुदाय के बीच जारी संघर्ष से मणिपुर जल रहा है, जिसकी तपिश पूरा देश महसूस कर रहा है।...

बहुजन नायकों-विचारकों के प्रति उपेक्षा और चुप्पी वामपंथ के लिए घातक साबित हुई

वक्ता, चिंतक, विचारक शैलेंद्र कुमार से हुई बेबाक बातचीत का यह तीसरा और अंतिम भाग है। इसमें उन्होंने जोतिबा फुले और पेरियार की उपेक्षा...

क्या यादव बहुजनों के वर्ग शत्रु हैं?

यादवों के प्रति बहुजनों और सवर्णों का नजरिया जानने और उसका मनोवैज्ञानिक अध्ययन सामने लाने के मकसद से मैंने 26 फ़रवरी को फेसबुक पर...

आखिर कौन करता है मुसहरों के साथ भेदभाव

मुसहर अपने को अन्य दलित जातियों से ऊंचा मानते हैं और मौक़ा मिले तो वैसा ही करने से नहीं चूकते जैसे तथाकथित बड़ी जातियां उनके साथ करती हैं। इन्हीं गाँवों में घूमते समय मैंने मुसहरों को डोम लोगों के साथ भेदभाव करते देखा और अपने नल से पानी भरने से साफ़ तौर पर मना करते हुए देखा।

दर्द के दरिया से वही पार हुआ जिसने सहा नहीं कहा

गालिब कहते हैं कि दिल ही तो है न संग-ओ-खिश्त दर्द से भर न आए क्यूँ / रोएँगे हम हज़ार बार, कोई हमें सताये...

बहुजनों के समक्ष शेष विकल्प : आज़ादी की लड़ाई !

आज़ादी के सपने ! आज 15 अगस्त है: भारत का स्वाधीनता दिवस! 74 साल पूर्व आज ही के दिन भारत के लोग विदेशियों की हजारों...

बहुजन साहित्य का हिस्सा नहीं है आदिवासियों का साहित्य (14 जुलाई, 2021 की डायरी )

बात उन दिनों की है जब मुझे साहित्य और संस्कृति की परिभाषा की समझ नहीं थी। चूंकि विज्ञान का छात्र रहा तो इससे दूर...

ताज़ा ख़बरें