Browsing Tag

PMO

अग्निवीर यानी नौजवानों को खतरनाक झांसा (डायरी 21 जून, 2022)

पत्रकारिता करने के अनेक तरीके हैं। मुझे तो दो तरह की पत्रकारिता ही अच्छी लगती है। एक खोजी पत्रकारिता और दूसरी वह जिसमें सीधे-सीधे जनता से…
Read More...

नौजवानों को इन कारणों से अग्निवीर बनाना चाहती है सरकार? (डायरी 20 जून, 2022) 

 बचपन अलहदा था। रोज कहानियां सुनने को मिलती थीं। मां कहानियों को ‘खिस्सा’ कहती थी। यह ‘किस्सा’ का अपभ्रंश जैसा भले लगता हो, लेकिन वाकई में…
Read More...

और अब प्रधानमंत्री की करोड़टकिया ‘कार’ (डायरी 30 दिसंबर, 2021) 

खबरों से जुड़ी दुनिया ही अलग होती है। इसको ऐसे समझिए कि एक पत्रकार खबरों के बीच ही जीता है। खबरें भी एक जैसी नहीं होतीं। किस्म-किस्म की…
Read More...

दिल्ली, तुम्हारी निगाहें बहुत बोलती हैं डायरी (14 सितंबर, 2021)

दिल्ली इन दिनों बहुत परेशान है। इसकी परेशानी का आलम यह है कि यहां के राजपथ पर हुक्मरानों की आवाजाही बढ़ गई है। हालांकि अभी कुछ भी कहना…
Read More...