Friday, March 1, 2024
होमवीडियोबेटी नहीं है बोझ आओ बदलें सोच- डॉ शिप्राधर

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

बेटी नहीं है बोझ आओ बदलें सोच- डॉ शिप्राधर

  हमारे देश में जहाँ बेटियों के जन्म पर बहुत से लोग दुखी होते हैं, वहीँ उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले की स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ. शिप्रा धर पिछले कई सालों से अपने नर्सिंग होम में बेटियों के जनम पर कोई फीस नहीं लेती हैं बल्कि बेटी होने पर मिठाइयाँ बँटवाती हैं और खुशियां मनाती हैं। […]

 

हमारे देश में जहाँ बेटियों के जन्म पर बहुत से लोग दुखी होते हैं, वहीँ उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले की स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ. शिप्रा धर पिछले कई सालों से अपने नर्सिंग होम में बेटियों के जनम पर कोई फीस नहीं लेती हैं बल्कि बेटी होने पर मिठाइयाँ बँटवाती हैं और खुशियां मनाती हैं। इस तरह बेटी की पैदाइश पर माँ-बाप के साथ समाज में भी एक सकारात्मक सन्देश जाता है कि आज के समय में बेटी बोझ नहीं है।अब तक उन्होंने सैकड़ों बेटियों के जन्म पर कोई फीस नहीं ली है। इस काम में उनके पति डॉ. एम के श्रीवास्तव भी बखूबी साथ देते हैं। उनका यह काम अन्य डॉक्टर्स के लिए भी प्रेरणादायक हो सकता है। उन्होंने बातचीत करते हुए इस काम के बारे में पूजा को जो बताया, आप भी सुनिए …

गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें