Wednesday, February 28, 2024
होमराज्यमऊ में दीवार गिरने से आठ लोगो की मौत

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

मऊ में दीवार गिरने से आठ लोगो की मौत

वाराणसी/मऊ। यूपी के मऊ स्थित घोसी कोतवाली क्षेत्र के मदापुर समसपुर स्थित संकरे रास्ते के पास एक खाली प्लॉट की दीवार शुक्रवार की दोपहर तीन बजे अचानक ढह गई। घटना के समय दीवार के पास ही महिलाएं हल्दी की रस्म अदा करने जा रही थीं।  यह दीवार गिरने से वह उसकी जद में आ गईं। […]

वाराणसी/मऊ। यूपी के मऊ स्थित घोसी कोतवाली क्षेत्र के मदापुर समसपुर स्थित संकरे रास्ते के पास एक खाली प्लॉट की दीवार शुक्रवार की दोपहर तीन बजे अचानक ढह गई। घटना के समय दीवार के पास ही महिलाएं हल्दी की रस्म अदा करने जा रही थीं।  यह दीवार गिरने से वह उसकी जद में आ गईं। घटना में 23 लोग लोग दब गए, राहत कार्य के बाद दो बच्चे और चार महिलाओं की हादसे में मौके पर ही मौत हो गई। जबकि 17 गंभीर रूप से घायल हो गईं। हादसे के बाद इन घायलों को जिला अस्पताल के अलावा जिला मुख्यालय के दो निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया। शनिवार को मिली जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल में दो और लोगों की मौत हो गयी। घटना की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मृतकों के परिजन को दो—दो लाख रुपये और घायलों को 50—50 हजार रुपये की सहायता का ऐलान करते हुए सभी घायलों को मुफ्त चिकित्सा सुविधाएं सुनिश्चित करने का अधिकारियों को निर्देश दिया।

जानकारी के अनुसार घोसी कोतवाली क्षेत्र के मदापुर समसपुर स्थित असकरी मेमोरियल स्कूल के पीछे संकरे रास्ते के पूर्वी छोर पर तसौवर खान और गयासुद्दीन आदि का खाली प्लॉट है। जहां एक दीवार बनी थी, यह दीवार करीब 10 फीट ऊंची, 15 फीट लंबी थी। दीवार से सटे ही दक्षिण-पूरब पर एक पोखरी है। जहां हिंदू रीति रिवाज संबंधी वैवाहिक कार्यक्रम किए जाते हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को घोसी कोतवाली के स्टेशन रोड निवासी बृजेश गुप्ता के बेटे बालेंदु की शादी नौ दिसंबर को है। जहां बारात जाने से एक दिन पहले हल्दी की रस्म अदा करने के लिए इस घर की बड़ी संख्या में महिलाएं, रिश्तेदार कार्यक्रम स्थान पर पहुंचकर अपना कार्य करने वाली थीं।

इसी दौरान दीवार पूरब की दिशा में रखी मिट्टी और बालू के दबाव से अचानक ढह गई। जिसके जद में महिलाएं आ गईं। आस-पास के लोग हादसे की सूचना पर एकत्रित हो गए और मलबे से घायलों को निकालने लगे। घटना की जानकारी मिलते ही एसडीएम सुमित कुमार सिंह, सीओ घोसी दिनेश दत्त मिश्रा दल बल के साथ मौके पर पहुंचकर बचाव एवं राहत कार्य में जुट गए। दो जेसीबी से दीवार का मलबा हटाने का कार्य शुरू हुआ।

हादसे की सूचना मिलते ही स्थानीय सपा विधायक सुधाकर सिंह, मधुबन विधायक रामविलास चौहान भी घटनास्थल पर पहुंचे। करीब 30 मिनट से भी कम समय में जिलाधिकारी अरूण कुमार और पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडेय भी मौके पर पहुंचे और घायलों और मृतकों के बारे में जानकारी ली। वहीं हादसे की सूचना पर 108 की 10 तो 102 की 13 एंबुलेंस मौके पर पहुंचकर घायलों को अस्पताल पहुंचाने का कार्य में जुटी रहीं। एक घंटे बाद आईजी अखिलेश कुमार ने भी घोसी आकर जानकारी प्राप्त की।

हादसे के मृतक और घायल 

  1. चंदा देवी पत्नी यशवंत कुमार चौरसिया निवासिनी मदापुर समसपुर थाना घोसी जनपद मऊ
  2. एनवी पुत्री हर्ष राज श्रीवास्तव निवासिनी मडिया थाना कोतवाली जनपद आजमगढ़ उम्र 03
  3. पूनम शर्मा पत्नी विजय शर्मा उम्र 42 वर्ष घोसी जनपद मऊ
  4. माधव पुत्र सतवान निवासी रेलवे सटेशन घोसी जनपद मऊ 04 वर्ष

      5.पूजा उर्फ पारुल अग्रवाल पत्नी गोवर्धन अग्रवाल निवासिनी रानी की सराय जनपद आजमगढ़ उम्र 35

  1. मीरा पत्नी सुखदेव निवासिनी प्रभुनाथ गली थाना घोसी जनपद मऊ उम्र 40
  2. सुशीला शर्मा पत्नी राधेश्याम शर्मा निवासिनी थाना घोसी जनपद मऊ उम्र लगभग 57 वर्ष..
  3. लालती पत्नी नामवर निवासी बनगावां घोसी उम्र 60 वर्ष

हादसे में निर्मला (50), रेशमी (40), प्रभावती (60), अन्नया (20), गायत्री (18), अनसुईया (50), इंद्रावती (50), नम्रता (30), रूही अग्रवाल (35), पुप्पा यादव (40) घायल हो गई सहित कई अन्य लोग शामिल हैं।

स्थानीय लोगों ने बताया कि गली का सकरी होना हादसे का बड़ा कारण बना। बताया कि हादसे के वक्त किसी को भी वहां से भागने का मौका नहीं मिला। अचानक दीवार गिरने से लोग एक दूसरे के ऊपर गिर गए, यह भी मौत का कारण बना। जो 16 फीट ऊंची दीवाल गिरी उसके सामने वाली दीवाल भी इतनी ही ऊंची थी जिसके कारण लोग दीवाल गिरने के बाद इधर-उधर भाग नहीं पाये और दीवाल के अंदर ही रह गए।

अस्पताल में नेताओं का लगा रहा जमावड़ा

घोसी की घटना के बाद जिला अस्पताल में सभी दलों के नेताओं का जमावड़ा लगा रहा। मौके पर भाजपा नेता योगेंद्र नाथ राय, संतोष सिंह, घोसी के पूर्व ब्लाक प्रमुख सुजीत सिंह, घोसी विधायक सुधाकर सिंह, भाजपा जिला पंचायत सदस्य अखिलेश राजभर आदि पहुंचे थे। सभी ने घायलों व मृतक के परिजन का ढ़ांढ़स बधाया।

घोसी कोतवाली के मदा समसपुर में हल्दी रस्म के दौरान दीवार गिरने के बाद हुए हादसे में घायलों के जिला अस्पताल में पहुंचने के बाद अफरातफरी का माहौल रहा। सूचना मिलने के बाद घायलों के पहुंचे परिजन अपने घायलों को ढूंढते रहे। जितनी एंबुलेंस पहुंच रही थी, उसमें लोग अपनों को तलाशते दिखे।

अस्पताल के गेट से लेकर आपातकाल तक चीखती पुकारती आवाज सुनाई दे रही थी। प्रशासनकी ओर से घटना में कुल 23 लोग के घायल होने की जानकारी दी गई। जबकि आठ की मौत की पुष्टि की गई। हादसे में घायलों में जिला अस्पताल में पूनम शर्मा पत्नी विजय निवासी घोसी, माधव (उम्र साढ़े तीन वर्ष) पुत्र सत्यवान निवासी घोसी, चंदा चौरसिया पत्नी जयचंद चौरसिया घोसी, पूजा अग्रवाल पत्नी गोवर्धन अग्रवाल रानी की सराय आजमगढ़ का नाम पता चल सका।

करीब 50 की संख्या में महिला, बच्चे और अन्य लोग घर से कुछ दूर स्थित पोखरी पर जा रहे थे। इसी दौरान करीब 16 फीट ऊंची दीवार अचानक गिर गई। गली इतनी जर्जर थी कि दीवार गिरने के बाद लोग एक-दूसरे के ऊपर गिर गए और किसी को भी वहां से भागने का मौका तक न मिला।

उधर, हादसे के बाद दुल्हन के घर भी सन्नाटा छाया रहा। घायलों को अस्पताल ला रही एंबुलेंस के हूटर से घोसी कस्बा सहित राष्ट्रीय राजमार्ग से लेकर मऊ नगर दहल उठा। वाहन चालक जागरुकता दिखाते हुए हूटर बजाते चल रही एंबुलेंस को रास्ता देते रहे। जिला अस्पताल पहुंचने के बाद लोग सहायता देते दिखाई दिए।

घोसी कस्बा नगर के स्टेशन रोड निवासी बृजेश कुमार उर्फ मुन्ना मोबिल के थोक विक्रेता है। बृजेश के छोटे बेटे बालेंदु की शादी नौ दिसंबर को है। इसे लेकर घर में तैयारियां अपने जोरों पर थी। जहां बारात जाने से पहले हल्दी की रस्म अदा करने को लेकर घर की महिलाएं मदा समसपुर स्थित पोखरी के पास धार्मिक स्थल पर जा रहे थे। जहां बृजेश कुमार अपने पुत्र और पत्नी ऊषा देवी व सात से आठ महिलाओं के साथ आगे निकल गए।

वहीं, पीछे से महिलाएं गीत गाते हुए आ रही थी। जहां दीवार गिरने से वह उसकी जद में आ गई। उधर, इस हादसे से पहले जहां जिस घर में शादी का माहौल था। बरात जाने की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा था। वहीं, हादसे ने इस परिवार के साथ बलिया जहां बालेंदु का रिश्ता तय हुआ था। उस परिवार में हादसे के बाद मातम पसर गया।

जिलाधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि शुक्रवार को नगर पंचायत स्थित टाउन मार्केट में एक विवाह समारोह से पहले हल्दी की रस्म के दौरान अनेक महिलाएं और बच्चे मंगल गीत गाते हुए एक गली से गुजर रहे थे, तभी एक निर्माणाधीन मकान की दीवार उन पर अचानक ढह गयी और कई महिलाएं और बच्चे मलबे में दब गये। उन्होंने बताया कि घायलों को विभिन्न चिकित्सालयों में भर्ती कराया गया है।

गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें