Saturday, March 2, 2024
होमविविधजरूरी मुद्दों पर प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

जरूरी मुद्दों पर प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

आज के दौर में पढ़ाई, दवाई और कमाई पर जरूरी है चर्चा : वल्लभाचार्य पाण्डेय वाराणसी। आम जनता के दैनिक जीवन से जुड़े शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, खेती जैसे मुद्दों पर चर्चा की बजाय नफरत, वैमनस्य और दिखावे की राजनीति के दौर में एक देश समान शिक्षा अभियान और आशा ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में राजातालाब […]

आज के दौर में पढ़ाई, दवाई और कमाई पर जरूरी है चर्चा : वल्लभाचार्य पाण्डेय

वाराणसी। आम जनता के दैनिक जीवन से जुड़े शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, खेती जैसे मुद्दों पर चर्चा की बजाय नफरत, वैमनस्य और दिखावे की राजनीति के दौर में एक देश समान शिक्षा अभियान और आशा ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में राजातालाब तहसील परिसर में सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर आज पढ़ाई, दवाई और कमाई पर जन संवाद का आयोजन किया गया। इस दौरान पर्चा वितरण, हस्ताक्षर अभियान और पोस्टर प्रदर्शनी जैसी गतिविधियों के माध्यम से लोगों से अपील की गयी कि इन जमीनी मुद्दों पर अधिक बात करें और जनप्रतिनिधियों से भी सवाल करे।

संवाद के दौरान किसान नेता योगिराज पटेल ने कहा कि आज आम आदमी की कमाई का बड़ा हिस्सा शिक्षा और स्वास्थ्य में खर्च हो जा रहा है, युवाओं के समक्ष रोजगार का बड़ा संकट है। ऐसे में शिक्षा और स्वास्थ्य का पूर्ण सरकारीकरण किया जाना जरूरी है जिससे ये सेवाएं सभी को सस्ते और सुलभ तरीके से मिल सकें। सामाजिक कार्यकर्ता महेंद्र राठौर ने कहा कि राष्ट्रीय रोजगार कानून बनना चाहिए जिसमें सभी युवाओं को उनकी योग्यता और क्षमता के अनुसार आजीविका के साधन की उपलब्धता सुनिश्चित हो। मनरेगा मजदूर यूनियन के संयोजक सुरेश राठौर ने कहा कि किसानों की समस्याओं के स्थायी समाधान के लिए प्रभावी उपाय जरूरी हैं।

महिलाओं और बच्चियों ने हस्ताक्षर अभियान में दिखाई जागरूकता

आशा ट्रस्ट के समन्वयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने कहा कि आज युवा दिग्भ्रमित है। चट्टी-चौराहों और सोशल मीडिया पर द्वेष, वैमनस्य और धार्मिक कट्टरता से जुड़ी खबरों पर ही चर्चा होती रहती है जबकि असली मुद्दा पढ़ाई, दवाई और कमाई ही होना चाहिए। इसी से अंतिम व्यक्ति का भला होगा और समाज में स्थायी खुशहाली आ सकेगी।

प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन में शिक्षा और स्वास्थ्य का पूर्ण सरकारीकरण करने, स्वास्थ्य का अधिकार कानून बनाने, शिक्षा और स्वास्थ्य के मदों में बजट बढ़ाने, सभी के लिए सम्मानजनक रोजगार के अवसर की उपलब्धता होना और कृषि क्षेत्र में विशेष ध्यान देने जैसे मुद्दों पर सकारात्मक पहल लेने का अनुरोध किया गया। इस दौरान दीनदयाल सिंह, अमित राजभर, राजकुमार पटेल, प्रदीप सिंह, राजकुमार गुप्ता, मुस्तफा, शिवकुमार, रोहित बनवासी, रामबचन, गणेश प्रसाद, शिवकुमार, प्रियंका आदि की प्रमुख भूमिका रही।

राजकुमार गुप्ता सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें