Wednesday, February 28, 2024
होमअर्थव्यवस्थाग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए निवेशकों की 83 इकाइयां तैयार

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए निवेशकों की 83 इकाइयां तैयार

सबसे अधिक रोजगार हाउसिंग डिपार्टमेन्ट में सृजित होंगे। इस क्षेत्र में 8,150 रोजगार सृजन होंगे। इसके बाद ग्रीन एनर्जी का क्षेत्र आता है जिसमे 1300 रोजगार का सृजन होगा। जनपद के बेरोजगार युवाओं के लिए इससे रोजगार के बड़े अवसर मिलेंगे।

10,046 करोड़ के प्रोजेक्ट पर कार्य शुरू होने की दहलीज पर। इकाइयों से 12,749 रोजगार का होगा सृजन

प्रयागराज। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्राथमिकता वाली यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के सफल समापन के बाद अब ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए निवेशकों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। प्रयागराज में इन्वेस्टर्स समिट के लिए किये गए एमओयू पर निवेशकों ने प्रोजेक्ट कार्य शुरू करने के लिए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी की तैयारियों तेज कर दी हैं।

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट पर निवेशकों के हस्ताक्षर के पश्चात् प्रयागराज जनपद में 83 इकाइयों में काम या तो शुरू हो चुका है या शुरू होने की दहलीज पर पहुँच गया है। संयुक्त आयुक्त उद्योग लाल जीत सिंह बताते हैं कि जिले में उद्यमियों ने ₹10,046 करोड़ के प्रोजेक्ट के कार्य प्रारम्भ होने की स्थिति में पहुँच चुके हैं। उनका कहना है कि 83 निवेशकों ने अभी तक ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के सभी मानक पूरा करते हुए कार्य करना शुरू करने के चरण पर आ गए हैं। इनमे सबसे अधिक निवेश अतिरिक्त ऊर्जा क्षेत्र में ₹3,702करोड़ का है। इसके अतिरिक्त सबसे अधिक इकाइयां 34 एमएसएमई क्षेत्र से हैं जो ₹1081.45 करोड़ का निवेश कर रही हैं। वैसे इन 83 इकाइयों में 6 फीसदी इकाइयों ने अभी से अपना उत्पादन भी शुरू कर दिया है। शेष बची औद्योगिक इकाई भी जुलाई के आखिर तक अपना काम शुरू कर सकती हैं।

जनपद में यह निवेश अपने साथ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर भी सृजित करेगा। संयुक्त आयुक्त उद्योग बताते हैं कि इस निवेश से विभिन्न विभागों में 12,749 रोजगार का सृजन होगा। सबसे अधिक रोजगार हाउसिंग डिपार्टमेन्ट में सृजित होंगे। इस क्षेत्र में 8,150 रोजगार सृजन होंगे। इसके बाद ग्रीन एनर्जी का क्षेत्र आता है जिसमे 1300 रोजगार का सृजन होगा। जनपद के बेरोजगार युवाओं के लिए इससे रोजगार के बड़े अवसर मिलेंगे।

योगी सरकार की उद्योग स्थापना एवं निर्यात प्रोत्साहन नीति के चलते निवेशकों का प्रदेश में निवेश को लेकर भरोसा बढ़ा है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 10 से 12 फरवरी तक चली यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बड़ी संख्या में प्रदेश स्तर पर उद्यमियों ने निवेश करते हुए एमओयू साइन किए थे। सरकार ने जनपद स्तर पर निवेशकों के उद्योग को धरातल पर उतारने के लिए जिला स्तर पर अधिकारियों को निर्देश दिए। इसके बाद उद्यमियों को इकाई स्थापना के लिए आवश्यक जानकारी और सुविधाएं प्राथमिकता में उपलब्ध कराई जा रही हैं जिससे निवेशक अपने लक्ष्य के अनुरूप उद्योग स्थापित कर रहे हैं। जनपद प्रयागराज में 53 हजार करोड़ से अधिक के निवेश पर हस्ताक्षर हुए थे। जिसके पश्चात निवेशकों के प्रस्तावों को धरातल में उतारने के काम ने गति पकड़ी। संयुक्त आयुक्त उद्योग लाल जीत सिंह के मुताबिक़ सरकार के निर्देश पर निवेश के सभी प्रस्तावों के जमीनी क्रियान्वयन के लिए जनपद में इन्वेस्टमेंट इंप्लीमेंटेशन यूनिट और कॉल सेन्टर का गठन किया गया। इसी का परिणाम है की जिले में ₹10,046 करोड़ से अधिक के निवेश के कार्य हेतु ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के लिए तय मानक पूरे कर लिए गए हैं।

गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें