करसड़ा मुसहर बस्ती में नि:शुल्क स्वास्थ शिविर

:राजकुमार गुप्ता

0 281
आज-कल दो दिन देश के गृहमंत्री अमित शाह और प्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ सहित तमाम बड़े-बड़े पदाधिकारी और सत्ताधारी पार्टी के नेता बनारस में रहेंगे। साथ ही करोड़ों रुपए की कई योजनाओं का शिलान्यास भी करेंगे। लेकिन शायद ही कोई स्थानीय बीजेपी नेता आज से एक पखवाड़ा पूर्व उजाड़े गये करसड़ा गांव के मुसहरों की पीड़ाओं को शीर्ष नेतृत्व तक पहुंचाने का काम करें। पहुंचायेंगे क्या, जो उनकी बस्ती में जाकर सहानुभूति और संवेदना नहीं व्यक्त कर सकते हैं, उनसे कुछ उम्मीद रखना उचित नहीं होगा। यह बातें करसड़ा गांव की मुसहर बस्ती में लगे निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर के दौरान मीडिया के समक्ष सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने कही।
करसड़ा गांव की मुसहर बस्ती में लगे निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर में जांच करवाते पीड़ित
राजकुमार गुप्ता ने मीडिया से बताया कि, करसड़ा गाँव के मुसहर बस्ती को उजाड़े हुए आज पूरे 15 हो गये। उन्हें समय से भोजन-पानी नहीं मिल रहा है। ठण्डी में रात गुजारना मुश्किल-सा हो गया है। जब भरपेट भोजन नहीं मिलेगा, रात को नींद नहीं लगेगी तो तबियत बिगड़ना स्वाभाविक है। ऐसी स्थितियों में आशा मोबाइल हेल्थ क्लिनिक ने आज अपना धर्म निभाया है। उसके सदस्यों ने आज नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर लगाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया और जरूरत की दवाइयां भी बांटी। उक्त स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन लोक समिति द्वारा आशा ट्रस्ट के सहयोग से किया गया।
बिना इलाज नासूर बन जाती हैं बीमारियां
डा. जय प्रकाश पाल ने स्वास्थ्य शिविर में स्थानीय लोगों का स्वास्थ्य जांच किया। उन्होंने जांच के दौरान लोगों को बीमारियों से बचने के लिए कई उचित सलाह भी दिये। साथ ही लोगों से स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने की अपील करते हुए कहा कि लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहना चाहिए, क्योंकि यदि समय रहते छोटी-छोटी बीमारियों का इलाज नहीं होता तो वही बीमारियां गंभीर रूप ले लेती हैं। इससे व्यक्ति अर्थात मरीज का जीवन बचना मुश्किल हो जाता है।
लोक समिति के संयोजक नंदलाल मास्टर ने बताया कि पैसे के अभाव में लोग समय पर छोटी बीमारियों का इलाज नहीं करा पाते हैं, जिसके कारण आगे चलकर उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, तो वहीं आर्थिक रूप से काफी नुकसान भी सहना पड़ता है। इसलिए लोगों को बिमारियों का पता चलते ही पहले इलाज करा लेना चाहिए।
स्वास्थ्य और सत्ता की मार से उपजी समस्याओं से जूझ रहे मुसहर परिवारों की पीड़ाओं से आज के नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर से कुछ राहत मिली है। ऐसा बस्ती के उजाड़े गये पीड़ितों का कहना था। इसीलिए उन्होंने आशा ट्रस्ट और लोक समिति के प्रति आभार भी जताया और कहा कि इन दोनों संस्थाओं का काम बेहतर है। इस तरह के कार्यक्रम से हम गरीब व वंचितों को थोड़ी सहूलियत मिलती है। इस नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर के आयोजन में दलित फ़ाउंडेशन से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने विशेष रूप से सहयोग किया। इस मौके पर डा. जय प्रकाश पाल, मनीष कुमार पटेल, शिवकुमार पटेल, अरविंद पटेल, राजेश कुमार, राम प्रसाद, गनेश, शंकर, राहुल, सोमरा देवी, सीता देवी समेत अन्य कई मौजूद रहे।
Leave A Reply

Your email address will not be published.