शिक्षा एक आग है जो गुलामी को जला डालती है

गाँव के लोग

0 93

तसनीम पटेल आज महाराष्ट्र शिक्षा जगत की एक महत्वपूर्ण शख्सियत हैं। कॉलेज से रिटायर होने के बाद वे फिलहाल महात्मा गाँधी मिशन विश्वविद्यालय में मानद प्रोफेसर हैं लेकिन अपनी सेवाओं के बदले वे कोई मानदेय नहीं लेतीं। एक दौर था जब तसनीम महाराष्ट्र की राजनीति में एक प्रखर वक्ता के रूप में अपना जवाब नहीं रखती थीं। वे लम्बे समय तक कांग्रेस के मंचों पर उम्मीदवारों के पक्ष में भाषण देतीं और बाद में शरद पवार के प्रेरित करने पर राष्ट्रवादी कांग्रेस में शामिल हो गईं।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.