Tuesday, February 27, 2024
होमराज्यमहिला पहलवानों के शोषण मामले में पीएम मोदी की चुप्पी पर दख़ल...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

महिला पहलवानों के शोषण मामले में पीएम मोदी की चुप्पी पर दख़ल ने उठाया सवाल

सामाजिक संगठन दख़ल के लोगों ने निकाला कैंडिल मार्च वाराणसी। दिल्ली के जंतर-मंतर पर चल रहे महिला पहलवानों के धरने के समर्थन में बनारस की लड़कियों का प्रदर्शन जारी है। सामाजिक संगठन दख़ल के बैनर तले अस्सी घाट स्थित लक्ष्मीबाई जन्मस्थली तक कैंडल मार्च निकालकर प्रदर्शन सभा किया। साथ ही बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह […]

सामाजिक संगठन दख़ल के लोगों ने निकाला कैंडिल मार्च

वाराणसी। दिल्ली के जंतर-मंतर पर चल रहे महिला पहलवानों के धरने के समर्थन में बनारस की लड़कियों का प्रदर्शन जारी है। सामाजिक संगठन दख़ल के बैनर तले अस्सी घाट स्थित लक्ष्मीबाई जन्मस्थली तक कैंडल मार्च निकालकर प्रदर्शन सभा किया। साथ ही बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग की। दख़ल के लोगों ने मांग की कि पाक्सो (PACSO) सहित यौन शोषण की गम्भीर धाराओं में अभियुक्त बीजेपी सांसद बृजभूषण सिंह को तत्काल जेल भेजा जाए, मामले की निष्पक्ष जाँच हो और शिकायतकर्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित हो। खेल संघों में ICC यानी आंतरिक जांच समिति का गठन किया जाये और उनमें राजनैतिक दखलंदाजी बन्द हो। खेल संघ में मुख्य कार्यकारी पदों पर खिलाड़ी ही नियुक्त हों।

बतादें, यौन उत्पीड़न के आरोपी बृजभूषण शरण सिंह यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर आगामी पांच जून को अयोध्या के रामकथा पार्क में एक रैली कर शक्ति प्रदर्शन करेंगे। दख़ल के लोगों ने इस आयोजन को ‘पॉलीटिकल मैनेजमेंट’ बताते हुए कहा कि आपराधिक छवि वाले भाजपा नेता बृजभूषण पर कानून के मामले में अपनी पीठ ठोंकने वाले मुख्यमंत्री योगी कार्यवाही क्यों नहीं कर रहे हैं? यौन शोषण के आरोपी के कार्यक्रम में अपना नाम जुड़ने से क्या योगीजी की छवि को नुकसान नहीं पहुंचेगा? आपराधिक छवि वाले सांसद के मंच पर साधु-संतों का क्या काम?

महिला पहलवानों के समर्थन में लक्ष्मीबाई जन्मस्थली पर जुटे दख़ल संगठन के लोग

धरनारत इन खिलाड़ियों को भारत का गौरव बताने वाले पीएम मोदी भी इस मामले में क्यों चुप्पी साधे हुए हैं? कहा कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर देश को सम्मान दिलाने वाली साक्षी मलिक और विनेश फोगाट के बहते आँसू इतनी भी कीमत नहीं रखते कि उनकी शिकायत पर कार्यवाही की जाए?

कार्यक्रम स्थल पर वक्ताओं ने कहा कि देश का गौरव बढ़ाने वाली महिला पहलवानों द्वारा लगाये गए आरोप सामान्य नहीं हैं। किसी नाबालिग लड़की के साथ यौन शोषण की बात सुनकर ही सिहरन हो जाती है। इधर बीच, यौन उत्पीड़न, बलात्कार आदि मामले में बीजेपी सरकार की चुप्पी चिंता का विषय है। हाथरस, कठुआ उन्नाव की यौन दुराचार की घटनाएं निंदनीय हैं।

प्रदर्शन के दैरान प्रेरणा कला मंच वाराणसी की ओर से नारीवादी चेतना के गीत गाये गए और नारे लगाए गए। कार्यक्रम में मुख्य रूप से मैत्री, नीति, एकता, विजेता, दीक्षा, साक्षी, शर्मिला, रचना, प्रियंका, वंदना, प्रज्ञा, जिला पंचायत सदस्य सरिता प्रकाश, एकता, धनंजय, अनुज, रवि, महेंद्र, प्रेरणा कला मंच के साथी, हौसला, सतीश, रंजू सिंह, आशुतोष, रौशन, बिंदु, राजेश, नन्दलाल मास्टर, राजीव, अमनरवि, संजीव सिंह, नीरज, रोहित राणा, अतुल मालवीय, प्रजा नाथ शर्मा, शशि, राजेश, गुफरान, ओमप्रकाश, मारुति मानव, ताहिर आदि शामिल रहे।

इन्दु पाण्डेय दख़ल संगठन से सम्बद्ध हैं।

गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें