Wednesday, February 28, 2024
होमवीडियोकबीर से सावित्रीबाई फुले वाया कुमार गन्धर्व

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

कबीर से सावित्रीबाई फुले वाया कुमार गन्धर्व

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के किसान परिवार में जन्मे शास्त्रीय गायक डॉ परमानन्द यादव की एक महत्वपूर्ण जीवन और संघर्षयात्रा रही है. बीएचयू से पढ़ाई करने के बाद वे कुमार गंधर्व से सीखने के लिए देवास गए। पिछले अट्ठाइस वर्षों से मुंबई में रह रहे परमानंद जी ने संगीत शिक्षण से आजीविका कमाई और […]

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के किसान परिवार में जन्मे शास्त्रीय गायक डॉ परमानन्द यादव की एक महत्वपूर्ण जीवन और संघर्षयात्रा रही है. बीएचयू से पढ़ाई करने के बाद वे कुमार गंधर्व से सीखने के लिए देवास गए। पिछले अट्ठाइस वर्षों से मुंबई में रह रहे परमानंद जी ने संगीत शिक्षण से आजीविका कमाई और कुमार गंधर्व फाउंडेशन के मंच से अपने गायन को विस्तार दिया। कुछेक वर्षों से वे बहुजन वैचारिकी के आधार संत-कवियों और नायकों को गा रहे हैं। जातिवादी समाज की संरचना की उनकी समझ विकसित हुई और अब वे एक नए समाज की परिकल्पना के साथ लगातार गा रहे हैं। रामजी यादव ने  उनसे बातचीत की  आप भी देखिये और सुनिए उनका गायन।

गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें