कुम्हार समाज पर अत्याचार के खिलाफ राज्यपाल और मुख्यमंत्री को ज्ञापन

राजेश कुमार प्रजापति

1 564
लखनऊ स्थित जिला कारागार में कुम्हार समुदाय के विचाराधीन कैदी रुपेश कुमार प्रजापति की हत्या और हमीरपुर में मिट्टी निकालने गए कुम्हार समुदाय की महिला को निर्वस्त्र करने समेत कुम्हार समुदाय पर लगातार हो रहे हमलों के खिलाफ प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) ने वाराणसी स्थित शास्त्री घाट पर विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पीएस4 ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।
ज्ञापन
लखनऊ स्थित जिला कारागार में कुम्हार समुदाय के विचाराधीन बंदी रुपेश कुमार (27 वर्ष) पुत्र मेवालाल की हत्या और हमीरपुर में मिट्टी निकालने गई कुम्हार समुदाय की महिला को निर्वस्त्र करने के संबंध में। 
महोदय!
अवगत कराना है कि सीतापुर जिले के बिसवा थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव निवासी मेवालाल प्रजापति का 27 वर्षीय बेटा रुपेश कुमार लखनऊ स्थित जिला कारागार में बंदी के रूप में निरुद्ध था। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, गत 25-26 अक्टूबर की रात को जेल में बंदी रुपेश कुमार की हत्या कर दी गई। इसके बाद उसे बैरक के शौचालय में गमछे से लटका दिया गया। रुपेश कुमार की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी उसके शरीर पर गंभीर चोट के निशानों की पुष्टि हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि उसका सिर फटा हुआ था और पैरों में बेरहमी से डंडे से पिटाई की गई थी। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि रूपेश के सिर में गहरा घाव था। यह चोट किसी भारी चीज से मारने से हुई थी। पैरों के तलवों में डंडे से इतना मारा गया था कि खून जम गया था। यह सभी चोट मौत से पहले की हैं। उसके गर्दन में कसाव का निशान तो था लेकिन न तो कोई नस डैमेज हुई थी न ही हड्डी टूटी मिली। इससे इसकी संभावना बढ़ जाती है कि पिटाई से मौत के बाद शव को लटकाया गया हो। वहीं, रुपेश के भाई राकेश प्रजापति का साफ कहना है कि पुलिस ने उनके भाई को लूट के मामले में फंसाया है जबकि वह गाड़ी चलाने के लिए लखनऊ गया था। वहीं, हमीरपुर के ललापुरा थाना के स्वासा बुजुर्ग गांव में गत 25 अक्टूबर को मिट्टी निकालने गए संतोष कुमार प्रजापति और उनकी पत्नी विनिता को दबंगों ने बुरी-तरह से मारा-पीटा। इतना ही नहीं, संतोष कुमार की पत्नी को निर्वस्त्र कर दिया और उनके गुप्तांगों पर लात भी मारी। जब वे लोग थाने में एफआईआर दर्ज कराने गए तो पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं किया। बाद में उन्होंने उनकी पहली तहरीर से अलग जाकर मामले में एनसीआर दर्ज किया।

प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) आप से मांग करता है कि उपरोक्त लखनऊ जिला कारागार के मामले का संज्ञान लेते हुए मामले की सीबीआई जांच या उच्च न्यायालय में कार्यरत न्यायमूर्ति से न्यायिक जांच कराने का कष्ट करें ताकि पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके। साथ ही कानपुर में विवेक तिवारी और गोरखपुर में मनीष गुप्ता की हत्या के मामले की तरह रुपेश कुमार के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और उनके परिवार के एक सदस्य को 'ओ.एस.डी.' पद की सरकारी नौकरी देने का कष्ट करें।

 

अतः प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) आप से मांग करता है कि उपरोक्त लखनऊ जिला कारागार के मामले का संज्ञान लेते हुए मामले की सीबीआई जांच या उच्च न्यायालय में कार्यरत न्यायमूर्ति से न्यायिक जांच कराने का कष्ट करें ताकि पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके। साथ ही कानपुर में विवेक तिवारी और गोरखपुर में मनीष गुप्ता की हत्या के मामले की तरह रुपेश कुमार के परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और उनके परिवार के एक सदस्य को ‘ओ.एस.डी.’ पद की सरकारी नौकरी देने का कष्ट करें। वहीं, हमीरपुर की घटना में पीड़ित संतोष कुमार प्रजापति की मूल तहरीर के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कराने का कष्ट करें। इनके अलावा उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के दौरान कुम्हार समुदाय के 50 से ज्यादा लोगों की हत्याएं हुई हैं, उन सभी मामलों की सीबीआई जांच कराने और पीड़ित परिवार को 50-50 लाख रुपये की मुआवजा और समूह ‘क’ वर्ग की सरकारी नौकरी देने का कष्ट करें। अगर उपरोक्त मांगे नहीं मांगी गई तो प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) और कुम्हार समुदाय पीड़ितों को न्याय दिलाने के बड़ा आंदोलन करने के लिए मजबूर होगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश शासन और सरकार की होगी।

ज्ञापन के बाद पत्रकारों से बात करते छेदी लाल निराला
उत्तर प्रदेश में पिछले दो सालों के दौरान कुम्हारों की हुई प्रमुख हत्याओं का विवरणः
(1) 25 अक्टूबर 2021,   लखनऊ स्थित जिला कारागार में रुपेश कुमार प्रजापति की हत्या , पुत्र मेवालाल प्रजापति, निवासी ग्राम-जलालपुर, थाना-बिसवा, जिला-सीतापुर
(2) 13 अक्टूबर 2021         कौशाम्बी में किसान देवराज प्रजापति की हत्या, ग्राम- बिशारा, थाना-कोखराज, जिला-कौशाम्बी
(3) 30 सितंबर 2021          गोरखपुर में वेटर मनीष प्रजापति की हत्या, स्थान- मॉडल शॉप, थाना- रामगढ़ ताल, जिला गोरखपुर, पिता का नाम- श्रवण प्रजापति, ग्राम- पनगढ़ी, जिला- रिवा, राज्य-मध्य प्रदेश
(4) 10 सितंबर 2021          गोरखपुर में विजय प्रजापति का फर्जी एनकाउंटर, ग्राम- जगदीशपुर भलुआन, थाना- गगहा, जिला गोरखपुर
(5) 13 जुलाई 2021           वाराणसी में प्लंबर कन्हैया लाल प्रजापति की दिन-दहाड़े हत्या, ग्राम- केराकतपुर, थाना लोहता, जिला-वाराणसी
(6) 6 जून 2021                 प्रयागराज में सोनी प्रजापति की हत्या, शांतिनगर, राजरूपपुर, प्रयागराज/इलाहाबाद
(7) 27 मई 2021               हमीरपुर में कर्ज से डूबे इंडियन बैंक का ग्राहक सेवा केंद्र संचालक ओम प्रकाश प्रजापति की हत्या, ग्राम कुरारा, जिला-हमीरपुर
(8) 13 फरवरी, 2021         अमेठी में शुभम प्रजापति की हत्या, ग्राम- परसावा छोटा बेनीपुर, कोतवाली-अमेठी, जिला अमेठी  पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का भतीजा
(9) 31 जनवरी 2021          प्रतापगढ़ में छात्र लकी प्रजापति की हत्या, ग्राम- सराय सुजान सुजहा, थाना- मान्धाता, जिला- प्रतापगढ़
(10) 25 सितंबर 2020          महराजगंज में ग्राम प्रधान के पिता श्रीनंद प्रजापति की हत्या, ग्राम- विसोखोर, थाना-  के कोठीभार, जिला-महाराजगंज
(11) 13 जुलाई 2020         जौनपुर में चंदन प्रजापति की हत्या, ग्राम कुसवा, तहसील- केराकत, थाना- जलालपुर, जिला- जौनपुर
(12) 17-18 जून 2020        मैनपुरी में कुम्हार परिवार के पांच लोगों को जिंदा जलाया गया। राम बहादुर प्रजापति, सरला देवी, संध्या प्रजापति उर्फ रोली, शिखा प्रजापति, ऋषि प्रजापति, माधोनगर मोहल्ला, खरपरी गांव, मैनपुरी
(13) 14 जनवरी 2020        जौनपुर में लेखपाल अनिल प्रजापति की हत्या, घटनाः ग्राम- बगेरवां (बम्बावन), थाना-केराकत, जिला जौनपुर, निवासी ग्राम-मिर्जापुर देवगांव, थाना-देवगांव कोतवाली, लालगंज, जिला आजमगढ़

राजेश कुमार प्रजापति पीएस-4 के महासचिव हैं।

1 Comment
  1. दीपक शर्मा says

    बहुत दुःखद घटना।
    ऐसे मामलों पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए।
    यदग कार्रवाई नहीं होती षमझा समझा जायेगा, प्रशासन भी सामंतियों के साथ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.