Friday, June 21, 2024
होमराजनीतिप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर बोला हमला, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर बोला हमला, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिया फूल

रायपुर और गोरखपुर के बाद प्रधानमंत्री पहुँचे वाराणसी, 12,000 करोड़ रूपये की योजनाओं की घोषणा की  लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर पक्ष-विपक्ष दोनों अपने-अपने तरीके से सक्रिय हो चुके हैं। विपक्ष जहाँ अभी मोर्चा बनाने में लगा हुआ है वहीँ भाजपा ने अपना चुनावी कैम्पेन शुरू कर दिया है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ […]

रायपुर और गोरखपुर के बाद प्रधानमंत्री पहुँचे वाराणसी, 12,000 करोड़ रूपये की योजनाओं की घोषणा की 

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर पक्ष-विपक्ष दोनों अपने-अपने तरीके से सक्रिय हो चुके हैं। विपक्ष जहाँ अभी मोर्चा बनाने में लगा हुआ है वहीँ भाजपा ने अपना चुनावी कैम्पेन शुरू कर दिया है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश का दौरा कर जिस तरह से लोक को लुभाने वाली योजनाओं की घोषणा की है उससे यह स्पष्ट हो गया है कि यह दौरा कहीं न कहीं चुनावी दौरा है। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में प्रधानमंत्री ने 7600 करोड़ रूपये की परियोजनाओं का शिलान्यास और उदघाटन किया। महत्वपूर्ण यह रहा कि रायपुर में आयोजित इस कार्यक्रम में कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी उपस्थित रहे। भूपेश बघेल ने जहाँ दलगत राजनीति से ऊपर उठकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया वहीँ प्रधानमंत्री कांग्रेस के खिलाफ हमला करते रहे।

पीएम मोदी ने भाजपा की विजय संकल्‍प रैली को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा के लिए माहौल बन चुका है। जनता ठान चुकी है कि इस बार कांग्रेस को बाहर का रास्ता दिखाना है। छत्‍तीसगढ़ी भाषा में उन्होंने बदलबो.. बदलबो.. ये दारी कांग्रेस के सरकार ल बदलबो….का नारा दिया। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मनसुख मां‍डविया भी मौजूद रहे। सुबह राजधानी रायपुर पहुंचने पर पंडित रविशंकर शुक्ल हेलीपैड पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगवानी की। उन्होंने प्रधानमंत्री को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका छत्तीसगढ़ में आत्मीय स्वागत किया।  सीएम भूपेश बघेल के साथ डिप्‍टी सीएम टीएस सिंहदेव और गृहमंत्री ताम्रध्‍वज साहू भी मौजूद रहे।

केंद्रीय मंत्रियों और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल की मौजूदगी में पीएम मोदी ने ग्रीनफील्ड रायपुर-विशाखापत्तनम कॉरिडोर के छत्तीसगढ़ सेक्शन के जिन 3 नेशनल हाई-वे प्रोजेक्ट्स की आधारशिला रखी।

[bs-quote quote=”जिस वाराणसी को अगले चुनाव में विकास का माडल बताये जाने की तैयारी चल रही है वह इस समय अपनी सकरी गलियों में कीचड़ में लत-फत विकास की बाट जोह रहा है। फ्लाई ओवर और सतरंगी लाइटों से सजी सड़कें उन पारंपरिक गलियों को हर रोज मुंह चिढाती रहती हैं जिनके गढ्ढे सालों से अपने ख़त्म होने का इंतज़ार कर रहे हैं।” style=”style-2″ align=”center” color=”” author_name=”” author_job=”” author_avatar=”” author_link=””][/bs-quote]

प्रधानमंत्री ने विकास की योजनाओं पर कम बल्कि कांग्रेस की आलोचना करने पर ज्यादा फोकस किया। जिससे यह समझा जा सकता है कि प्रधानमंत्री 2024 चुनाव की भूमिका बनाने में लग गए हैं।रायपुर में उन्होंने जिस तरह का भाषण दिया वह पूरी तरह से गैर सरकारी भाषण लगा और प्रधानमंत्री देश के प्रधानमंत्री से ज्यादा भाजपा के प्रतिनिधि के रूप में दिखे। फिलहाल छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने प्रदेश में बहुत ही उदारता पूर्वक उनका स्वागत करते हुए कहा कि भगवांन श्री राम के ननिहाल में आपका स्वागत है।

प्रधानमंत्री के जाने के बाद ट्वीट करते हुए भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री द्वारा की गई कांग्रेस की आलोचना  का जवाब देते हुए कहा कि, ‘प्रदेश बीजेपी के नेता लगातार किसानों को गुमराह कर रहे थे कि धान खरीदी केंद्र के पैसों से होती है। आप प्रधानमंत्री हैं, आपको तो सच पता है, लेकिन आप भी झूठ बोल गए। सीएम बघेल ने कहा कि यह किसानों के नाम पर सबसे बड़ा झूठ है कि केंद्र राज्य के धान उपार्जन का 80 फीसदी केंद्र ले लेता है। उन्होंने  पीएम मोदी  पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर आपकी सरकार की भूमिका राज्यों के धान खरीदी में इतनी ही है तो आपके लोकसभा क्षेत्र वाराणसी में किसान 1000-1200 रुपये क्विंटल में धान क्यों बेचने पर मजबूर हैं। आपको छत्तीसगढ़ के बीजेपी नेताओं ने गलत जानकारी दी और आप भाषण पढ़कर चले गए।

सीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़ का बच्चा बच्चा जानता है कि कांग्रेस ने दस दिनों के भीतर किसानों की कर्जमाफी के लिए कसम खाई थी और हमने दो घंटों के भीतर कर्ज माफ कर दिया था। किसान जानते हैं कि कांग्रेस की सरकार उनके लिए क्या कुछ कर रही है। अब छत्तीसगढ़ के किसानों को कोई गुमराह नहीं कर सकता। आप भी नहीं।

रायपुर से गए गोरखपुर

प्रधानमंत्री मोदी रायपुर से सीधे गोरखपुर पंहुचे। गोरखपुर में भी उन्होंने विकास की तमाम नई योजनाओं की शुरआत के साथ वन्दे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। फिलहाल दोनों ही शहरों में प्रधानमंत्री अपनी पूर्व की मह्त्वाकांक्षी योजनाओं का जिक्र भी नहीं किया। कहीं भी वह रोजगार, मंहगाई के मुद्दे या फिर मणिपुर जैसे संवेदनशील मुद्दे पर एक बात भी नहीं बोल सके। जिससे यह समझा जा सकता है कि नरेंद्र मोदी अगले चुनाव में अलग एजेंडे के साथ ही मैदान में जायेंगे। उन्हें अपनी पुरानी उपल्बधियों पर विशवास नहीं है। वह नोटबंदी, स्वच्छ भारत, डिजिटल इण्डिया, लोकल फॉर वोकल, जैसी बातों के साथ गुजरात माडल का जिक्र अब नहीं करना चाहते हैं। वजह साफ़ है कि पूरे देश को लाइन में खड़ा करने वाली योजनायें किसी मायाजाल की तरह अपना अर्थ खो चुकी हैं।

फिलहाल दो बड़े शहर में विगुल बजाने के बाद प्रधानमंत्री अब अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हैं। वाराणसी के आभासी सौन्दर्य से इस बार वह पूरे देश को सम्मोहित करने के मनसूबे के साथ वाराणसी आये हुए हैं। यहाँ उन्होंने 12,110 करोड़ रुपये की 29 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक भी मौजूद रहे। वाराणसी में रात्री विश्राम के बाद वह सुबह तेलंगाना के लिए निकल जायेंगे। जिस वाराणसी को अगले चुनाव में विकास का माडल बताये जाने की तैयारी चल रही है वह इस समय अपनी सकरी गलियों में कीचड़ में लत-फत विकास की बाट जोह रहा है। फ्लाई ओवर और सतरंगी लाइटों से सजी सड़कें उन पारंपरिक गलियों को हर रोज मुंह चिढ़ाती  रहती हैं जिनके गढ्ढे सालों से अपने ख़त्म होने का इंतज़ार कर रहे हैं। क्या यह 12,110 करोड़ रूपये गलियों की सड़क के गड्ढे पाट  पायेंगे या एक बार फिर सिर्फ इस आत्ममुग्धता में अंधे मुंह गिरे रहेंगे की हमने देश को प्रधानमंत्री दिया है।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें