Tuesday, April 16, 2024
होमवीडियोछोटे अंतर्विरोधों को बड़ा और बड़े अंतर्विरोधों को छोटा बना दिया गया

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

छोटे अंतर्विरोधों को बड़ा और बड़े अंतर्विरोधों को छोटा बना दिया गया

प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता और लेखक विद्या भूषण रावत के साथ रामजी यादव के संवाद की इस आखिरी कड़ी में भारत में अस्मितावादी संकीर्णता के मजबूत होने और जेनुइन मुद्दों और आंदोलनों पर इसके दुष्प्रभाव तथा छोटे-छोटे अंतर्विरोधों को उभारकर बड़े मुद्दों और सवालों से ध्यान हटाने की प्रवृत्ति पर को रेखांकित किया गया है। रावतजी […]

प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता और लेखक विद्या भूषण रावत के साथ रामजी यादव के संवाद की इस आखिरी कड़ी में भारत में अस्मितावादी संकीर्णता के मजबूत होने और जेनुइन मुद्दों और आंदोलनों पर इसके दुष्प्रभाव तथा छोटे-छोटे अंतर्विरोधों को उभारकर बड़े मुद्दों और सवालों से ध्यान हटाने की प्रवृत्ति पर को रेखांकित किया गया है। रावतजी ने वैकल्पिक मीडिया के निर्माण की दिशा में अपने प्रयासों के पीछे मण्डल आयोग और अंबेडकरवाद के गहरे प्रभावों को बुनियादी घटक बताया क्योंकि उन्होंने उस दौर को देखा है जब मुख्यधारा की मीडिया ने अपने जातिवादी अपने दुराग्रहों और नफरत को पूरी नंगई के साथ फैलाया।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें