Browsing Tag

Mumbai

भविष्य के अंदेशों के बीच बम्बइया मिठाई

बहुत दिनों के बाद आज अचानक कालोनी में डमरू की आवाज सुनाई दी। तुरंत बाद गाने की आवाज आई ... छोटे-बड़े-बच्चों का ध्यान किधर है, बम्बइया मिठाई…
Read More...

यह फिल्म नफ़रत की शिकार युवती और वर्तमान समय के एक युवा के बीच संवेदनाओं पर आधारित है।

https://www.youtube.com/watch?v=y0zcZgNO7OQ&t=465s एलियन-फ्रेंक नामक आनेवाली फिल्म के लेखक-निर्माता राजेश प्रसाद , निर्देशक अमर दुबे…
Read More...

स्त्री-शिक्षा व राष्ट्रमाता सावित्रीबाई फुले               

आधुनिक भारत के सामाजिक परिवर्तन के इतिहास में स्त्री-शिक्षा के लिए सबसे पहले मशाल जलाने वाली एक ऐसी महिला शख्सियत का नाम आता है। जिनको हम…
Read More...

नफरत फैलाना, हिंसा भड़काना अब नहीं है अपराध!

सूरजपाल अमु ने अत्यंत घटिया और नफरत फैलाने वाला भाषण दिया। उसके बाद उन्हें भाजपा की राज्य इकाई का प्रवक्ता बना दिया गया। गौरक्षा-बीफ के…
Read More...

सूपवा ब्यंग कसे तो कसे, चलनियों कसे, जिसमें बहत्तर छेद

मैं चार दिसंबर को महानगरी से स्लीपर क्लास में मुम्बई आ रहा था। हमारे सीट के पास एक परिवार सफर कर रहा था। वे सभी लोग भी हाथ में नया-नया कलावा…
Read More...

सात समंदर पार ले जाइके, गठरी में बांध के आशा….

वर्तमान पीढ़ी का एक गंभीर संकट जड़हीनता है। ऐसा इसलिए कि अधिकांश 'राजपत्र' और 'कनेक्टिविटी' से घिरी हुई जीवन शैली का आनंद लेते हैं, जहां कोई…
Read More...

वह चला गया मुझे आधे रास्ते पर उतारकर ….

मैं साल में कम से कम एक बार दीपावली के बाद 3-4 सप्ताह की छुट्टी लेकर गांव अवश्य जाता हूँ। इस छुट्टी में से एक तिहाई हिस्सा मैं अपने मूल गांव…
Read More...

स्त्री सशक्तीकरण और जागरुकता के लिए स्त्री विमर्श एक कारगर औजार है

बातचीत का दूसरा हिस्सा • अपनी कहानियों या किताबों में से आप किसे अधिक सफल मानती हैं और क्यों? एक किताब आयी है–आम औरत: ज़िदा सवाल। पिछले…
Read More...

हिम्मत नगर के अच्छेलाल

‘नमस्कार, चाचा। मैं हिम्मत नगर से अच्छेलाल बोल रहा हूँ।’ हर दूसरे-तीसरे महीने किसी रविवार की सुबह मोबाइल पर यह वाक्य सुनने को मिल ही जाता…
Read More...