Monday, June 24, 2024
होमराज्यउत्तरकाशी पहुंचे धामी, सुरंग में फंसे हैं 40 मजदूर

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

उत्तरकाशी पहुंचे धामी, सुरंग में फंसे हैं 40 मजदूर

उत्तरकाशी (भाषा)। उत्तरकाशी जिले में ब्रह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा से डंडालगांव के बीच निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा रविवार सुबह अचानक ढह गया जिससे 40 श्रमिक उसके अंदर फंस गए। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी ने बताया था  कि पुलिस, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, राज्य […]

उत्तरकाशी (भाषा)। उत्तरकाशी जिले में ब्रह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा से डंडालगांव के बीच निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा रविवार सुबह अचानक ढह गया जिससे 40 श्रमिक उसके अंदर फंस गए।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी ने बताया था  कि पुलिस, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, राज्य आपदा प्रतिवादन बल, अग्निशमन, आपातकालीन 108 व सुरंग का निर्माण करा रही संस्था राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड (एनएचआईडीसीएल) के कर्मचारी मलबा हटाने और सुरंग खोलने के काम में जुटे हुए हैं। उन्होंने बताया कि हादसा सिलक्यारा की तरफ सुबह छह-सात बजे के बीच हुआ।

ताजा जानकारी के अनुसार  उत्तरकाशी जिले में यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक निर्माणाधीन सुरंग के एक हिस्से के ढहने से उसके अंदर फंस गए सभी 40 श्रमिक सुरक्षित हैं और उनसे संपर्क स्थापित करने में सफलता मिल गयी है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर बचाव एवं राहत कार्यों का निरीक्षण किया। सिलक्यारा—डंडालगांव सुरंग में पिछले 24 घंटे से ज्यादा समय से फंसे श्रमिकों तक पहुंच बनाने के लिए बचाव कर्मी रात भर मलबा हटाने के काम में जुटे रहे। श्रमिकों तक खाना, पानी और ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है । सिलक्यारा में बनाए गए पुलिस नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार, वॉकी-टॉकी के जरिए सुरंग में फंसे लोगों से संपर्क हुआ है और सभी सुरक्षित हैं। नियंत्रण कक्ष के अनुसार, अंदर फंसे लोगों द्वारा खाने की मांग की गई है और उन्हें पाइप के जरिए खाने के पैकेट भेजे जा रहे हैं। श्रमिक फिलहाल 60 मीटर दूर हैं।

सुरंग में पानी के लिए बिछी पाइपलाइन के जरिए ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है । इसी पाइपलाइन के जरिए कंप्रेसर की मदद से दबाव बनाकर श्रमिकों तक खाने के पैकेट भेजे जा रहे हैं । मुख्यमंत्री धामी गढ़वाल आयुक्त विनय शंकर पांडेय के साथ सिलक्यारा पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया । स्थलीय निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां तेजी से मलबा हटाने का काम किया जा रहा है और अंदर फंसे मजदूरों के लिए खाद्य सामग्री कम्प्रेसर के माध्यम से भेजी जा रही है । उन्होंने आशा व्यक्त की कि जल्द ही बचाव कार्य पूरा कर लिया जाएगा और श्रमिकों को बाहर निकाल लिया जाएगा ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले को लेकर राज्य और केंद्र सरकार गंभीर हैं । उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और रेल मंत्री ने उनसे घटना को लेकर विस्तार से बातचीत की है और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है। उन्होंने श्रमिकों के परिजनों से कहा कि अंदर फंसे लोगों को जल्द से जल्द सकुशल बाहर निकालने के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। उत्तरकाशी जिले में ब्रह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा रविवार की सुबह अचानक ढह गया था जिससे उसमें 40 श्रमिक फंस गए थे। सुरंग का ढहने वाला हिस्सा उसके मुहाने से करीब 200 मीटर दूर है। सुरंग का निर्माण कर रही नवयुग इंजीनियरिंग लिमिटेड के अनुसार सुरंग में फंसे मजदूर बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के हैं।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें