Wednesday, July 24, 2024
होमTagsPm

TAG

pm

संविधान का उल्लंघन करने वाले ही घोषणा कर रहे हैं संविधान हत्या दिवस मनाने का

संविधान की धज्जियां उड़ाने वाली वर्तमान केंद्र सरकार ने 25 जून को संविधान हत्या दिवस मनाने की घोषणा की है। इनका कहना है कि 1975 में 25 जून को आपातकाल का लगाया जाना संविधान की हत्या करना ही था। यह आपातकाल एक बार लगा था लेकिन वर्ष 2014 से जब से भाजपा सरकार सत्ता में है, तब से पूरे देश में अघोषित आपातकाल लगा हुआ है और देश के संविधान के विरुद्ध ही सभी निर्णय लिए जा रहे हैं। सवाल यह है कि ऐसे में संविधान हत्या दिवस की घोषणा करना क्या उचित है?

राहुल गाँधी को बच्चा कह देने से विपक्ष के मुद्दे कमजोर नहीं पड़ सकते

केंद्र की मोदी सरकार के पिछले दो कार्यकाल संसद में विपक्ष के नेता के बिना ही चला और बीजेपी सरकार ने खूब मनमानी की। लेकिन अठारहवीं लोकसभा के चुनाव के बाद इस बार संसद में विपक्ष के नेता की बागडोर राहुल गांधी के जिम्मे है, और वे इस ज़िम्मेदारी को अच्छी तरह निभा रहे हैं। इसे उन्होंने संसद के पहले सत्र में ही दिखा दिया। इस बार सत्ता पक्ष को संसद में उन सवालों से दो-चार होना ही पड़ेगा, जिनसे वह बचता आया था।

वाराणसी : डॉ ओमशंकर के आमरण अनशन के कारण विभागाध्यक्ष पद से हटाया गया

सर सुंदरलाल अस्पताल के हृदय रोग विभाग के विभागाध्यक्ष को प्रशासन ने उनके पद से हटा दिया। जबकि उनके कार्यकाल का 2 माह शेष रह गया था। डॉ ओमशंकर अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ के के गुप्ता द्वारा किए गए भ्रष्टाचार के कारण उन्हें पद से हटाने और हृदय रोग विभाग में बिस्तरों के संख्या (जो उपलब्ध है) मरीजों के लिए खोलने के लिए आमरण अनशन कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी पद की गरिमा के प्रतिकूल बातें क्यों कर रहे हैं?

वर्ष 2014 के बाद देश की स्थिति से सभी वाकिफ हैं। बीजेपी ने सांप्रदायिक घृणा फैला कर ध्रुवीकरण करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और इस काम का नेतृत्व किसके हाथ में है, सभी जानते हैं। इन्हीं बातों को उल्लेखित करते हुए डॉ सुरेश खैरनार ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम खुला पत्र लिखा।

लोकसभा चुनाव : वाराणसी में इस बार ‘स्थानीय बनाम बाहरी’ के मुद्दे पर लड़ेंगे चुनाव, बोले अजय राय

वाराणसी संसदीय क्षेत्र में एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अजय राय आमने-सामने हैं। मोदी से लगातार दो बार परास्त होने के बाद अजय राय इस बार जिन मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं, क्या ये मुद्दे उन्हें संसद तक पहुंचा पाएंगे?

लोकसभा चुनाव : भाजपा ने दूसरी सूची जारी की, नितिन गडकरी नागपुर से चुनाव लड़ेंगे

आज भाजपा ने 72 लोकसभा सीटों के लिए उम्मीदवारों की दूसरी सूची निकाल दी है। इसके पहले 3 मार्च को 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की थी। जल्द ही चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव 2024 के लिए आचार संहिता की घोषणा कर सकता है।

यूपी: आजमगढ़ में पीएम मोदी की जनसभा के लिए खेतों में खड़ी फसल को मशीनों से रौंदा

आजमगढ़ एयरपोर्ट का उद्घाटन करने के लिए 10 मार्च को आजमगढ़ के दौरे पर पहुंच रहे हैं। सभा के लिए मैदान तैयार करने के लिए किसानों की फसलों को मशीनों से रौंदवा दिया गया।

झारखंड : क्यों बिरसा की धरती पर ‘बिरसाइत’ जी रहे मुश्किलों भरी जिंदगी?

उलगुलान के महानायक बिरसा मुंडा करोड़ों आदिवासियों के लिए गौरव और गुमान के प्रतीक हैं। साथ ही उनका बलिदान आदिवासियों के सपनों की बुनियाद के साथ सियासत की धुरी भी है। लेकिन बिरसा की धरती पर ही उनके अनुयायी ‘बिरसाइत’ परिवारों की जिंदगी मुश्किलों में गुजर रही। विकास का पहिया इनके गांवों में पहुंचने से पहले क्यों ठहर जाता है, पड़ताल करती एक रिपोर्ट..

वर्षों पहले गुजरात मॉडल का दावा करने वाले गुजरात में खुला पहला एम्स

देश के प्रधानमंत्री मोदी जिस गुजरात माॅडल की बात करके सत्ता में आए, उस गुजरात के विकास का सच अब सामने आया, जब प्रधानमंत्री ने राज्य के पहले एम्स का 25 फरवरी को उद्घाटन किया।

रविदास जयंती : एक तरफ प्रधानमंत्री प्रतिमा का अनावरण कर रहे थे, दूसरी तरफ अराजक तत्वों ने तोड़ी प्रतिमा

एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथो संत रविदास की 25 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण हुआ तो वहीं दूसरी तरफ मिर्जामुराद के खालिसपुर गाँव में इसी संत की प्रतिमा को अराजक तत्वों द्वारा तोड़ा-फोड़ा गया ।

सिस्टम के डंके ने बजते ही पोल खोलने की दी गारंटी

मोदी सरकार की गारंटी का डंका इतना बज रहा है कि लगातार उन पर परोक्ष हमले जारी हैं, चाहे किसान आंदोलन हो, एलेक्टरोल बॉन्ड पर कोर्ट का फैसला हो, चंडीगढ़ का मेयर चुनाव के फैसले पर बाजी पलटी हो, या फिर गूगल के आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस टूल जैमिनी हो, जिसने मोदी के फासीवादी होने के सवाल का जवाब दिया..सभी जगह उनकी पोल खोलते हुए डंका बज रहा है

मंदिर आयोजनों में मोदी की व्यस्तता उपनिवेशवाद से मुक्ति नहीं है

किसी भी समाज का विकास लोगों को रोजगार देने, रोजगार के नए अवसर पैदा करने से होता है।बजाय मंदिर और मस्जिदों के उद्घाटन करने के। मोदी इन दिनों लगातार देश और विदेश में मंदिर उदघाटन कर रहे हैं, जो उपनिवेशवाद की तरफ बढ़ता एक कदम है।

वाराणसी : सड़कों के जाल से घिरे गाँवों में स्कूल और अस्पताल नहीं, फिर से ज़मीन जाने से आशंकित हैं किसान

वाराणसी से जौनपुर जाने के लिए बनी फोर लेन सड़क के किनारे पिण्डरा तहसील के आसपास के लगभग एक दर्जन से अधिक ऐसे गांव हैं जिनमें न तो विद्यालय हैं और न ही स्वास्थ्य केन्द्र। ऊपर से किसानों को काशी द्वार के नाम पर फिर से जमीनें जाने का भय सता रहा है।

पश्चिम बंगाल में आधार कार्ड निष्क्रिय किए जाने पर केंद्र सरकार की मंशा पर उठे सवाल

केंद्र सरकार द्वारा पश्चिम बंगाल में वंचित, अल्पसंख्यक समुदाय के आधार कार्ड निष्क्रिय किए जाने पर ममता बनर्जी ने पीएम पर निशाना साधते हुए पूछा, क्या कारण है कि लोगों के आधार कार्ड निष्क्रिय कर दिये गए हैं।

पश्चिम बंगाल : सात दिन के अंदर बकाया भुगतान न करने पर ममता ने पीएम को दिया अल्टीमेटम

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी ने शुक्रवार को केंद्र को सभी बकाया राशि का भुगतान करने के...

भाजपा सांसद निरहुआ का एयरपोर्ट के मुद्दे पर आ रहा बयान झूठ का पुलिंदा है : राजीव यादव

निरहुआ ने कहा था- एयर कंपनियों ने बताया है कि एयरपोर्ट बहुत छोटा है, उड़ान नहीं हो सकती। अब निरहुआ कैसे बयान दे रहे हैं कि मंदिर उद्घाटन से पहले मंदुरी से उड़ान शुरू होगी।

कुश्ती संघ के नए अध्यक्ष के विरोध में बजरंग पूनिया ने लौटाया पद्मश्री पुरस्कार, पीएम को लिखा पत्र

नई दिल्ली। भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने भारतीय कुश्ती संघ के नए अध्यक्ष संजय सिंह के विरोध में अपना पद्मश्री पुरस्कार लौटा दिया है।...

क्या छत्तीसगढ़ में जमीनी हकीकत को दरकिनार करते हुए कांग्रेस अर्श से फर्श पर पहुंच गई?

पिछले चुनाव में 15 सीटों पर सिमट जाने वाली भाजपा ने पांच साल बाद 90 में से 54 सीटें जीत कर वापसी की है, वहीं 71 सीटों पर काबिज कांग्रेस 35 सीटों पर सिमट कर रह गई। छत्तीसगढ़ में विधानसभा के चुनावी नतीजों पर गौरव गुलमोहर की ग्राउन्ड रिपोर्ट

उत्तरकाशी पहुंचे धामी, सुरंग में फंसे हैं 40 मजदूर

उत्तरकाशी (भाषा)। उत्तरकाशी जिले में ब्रह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा से डंडालगांव के बीच निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा रविवार सुबह अचानक ढह गया...

स्टालिन ने जाति आधारित गणना को रूटीन जनगणना में शामिल करने की उठाई मांग

उन्होंने इस मामले में मोदी से निजी हस्तक्षेप करने का अनुरोध करते हुए कहा कि प्रस्तावित राष्ट्रीय दशकीय जनगणना के साथ जाति आधारित गणना को एकीकृत करने से समाज की जातीय संरचना और सामाजिक-आर्थिक संकेतकों में इसके असर के संबंध में समग्र और विश्वसनीय आंकड़े मिल सकते हैं।

ताज़ा ख़बरें