Wednesday, May 22, 2024
होमराज्यगाजीपुर : सरकारी राशन की दुकानों में कम खाद्यान्न वितरण से ग्रामीण...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

गाजीपुर : सरकारी राशन की दुकानों में कम खाद्यान्न वितरण से ग्रामीण परेशान

उत्तर प्रदेश में आए दिन सरकारी राशन की दुकानों पर कम खाद्यान्न वितरण के साथ ही घटतौली की शिकायत मिलती रहती हैं। इसी क्रम में ताजा मामला गाजीपुर जिले के जमानिया के भरईपुर का है। ग्रामीणों की शिकायत थी कि बीते दिसम्बर माह में खाद्यान्न का वितरण बेहद कम हुआ।

गाजीपुर। उत्तर प्रदेश में आए दिन सरकारी राशन की दुकानों पर कम खाद्यान्न वितरण के साथ ही घटतौली की शिकायत मिलती रहती हैं। इसी क्रम में ताजा मामला गाजीपुर जिले के जमानिया के भरईपुर का है। ग्रामीणों की शिकायत थी कि बीते दिसम्बर माह में खाद्यान्न का वितरण बेहद कम हुआ। गांव के लोगों की शिकायत को आधार बनाकर जिलापूर्ति अधिकारी ने गुरूवार को क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी और पूर्ति निरीक्षक सेवराई को मामले की जांच के लिए गांव में भेजा। क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी और पूर्ति निरीक्षक सेवराई ने जांच कर विक्रेता की दुकान को सील कर दिया।

क्या है पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीणों की शिकायत थी कि दिसम्बर माह में दुकानदार ने 2.19 प्रतिशत कार्डधारकों को खाद्यान्न का वितरण किया। शिकायत की जांच के लिए पहुंचे क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी मनीष पटेल और पूर्ति निरीक्षक सेवराई मुहम्मद मोहिद खां ने बताया कि जब वे गांव में दुकान पर पहुंचे तो दुकान बंद पड़ी मिली और दुकानदार गायब मिला। दुकान पर स्टाॅक बोर्ड, रेट बोर्ड, साइन बोर्ड, राशन कार्डों की सूची की वाल पेटिंग नहीं पायी गई।

मोबाइल पर सूचना देने के बावजूद भी विक्रेता उपस्थित नहीं हुए जिससे स्टाॅक रजिस्टर, वितरण रजिस्टर व गोदाम में उपलब्ध स्टाॅक का सत्यापन नहीं हो पाया। जिसके कारण दुकान को सील कर दिया गया। अधिकारी मनीष पटेल ने आगे बताया कि दुकानदार को तीन कार्य दिवस के अन्दर समस्त अभिलेख प्रस्तुत कर सील खुलवाकर सत्यापन कराने का निर्देश दिया गया है। जांच की रिपोर्ट सीनियर अफसरों को सौंप दी गई है।

स्थानीय लोगों की माने तो भगत सिंह की राजनीतिक लोगों में काफी पैठ है। इसलिए वह किसी से डरते नहीं हैं। अनाज वितरण में वे काफी हीला-हवाली करते हैं।

दूसरी तरफ गाजीपुर जिले के ही मरदह के तेजपुरा के ग्राम प्रधान रामसुधार यादव ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर तेजपुर गांव की सरकारी राशन की दुकान को निरस्त कर कानूनी कार्रवाई की मांग की है। ग्राम प्रधान ने अपने पत्र में आरोप लगाया है कि 19 दिसम्बर को को शिकायत के आधार पर नायब तहसीलदार कासिमाबाद अनुराग यादव द्वारा जांच की गयी थी, जिसमें मनमाने ढंग से सुबह छह बजे राशन बांटने, एक से पांच किलो वितरण किए गए कार्डधारकों का राशन कम मिलने, स्टाॅक में काफी विसंगति मिलने, राशन के दुकान के अभिलेखों के पूर्ण न होने की विसंगति मिली थी। साथ ही जांच के दौरान सैकड़ों की तादात में ग्रामीण उपस्थित थे।

नायब तहसीलदार द्वारा एसडीएम कासिमाबाद को जांच रिपोर्ट सौंपने पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। ग्राम प्रधान रामसुधार यादव ने प्रार्थना पत्र में एसडीएम द्वारा कोटेदार पर राजनैतिक दबाव के कारण कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए कोटेदार के खिलाफ तत्काल कार्यवाही न होने पर कार्यवाही की मांग को लेकर ग्रामीणों के साथ धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

सरकारी राशन की दुकानों पर बंटने वाला राशन में बड़े पैमाने पर हेराफेरी हो रही है और प्रदेश सरकार इस ओर से आंखें बंद किए हुये है।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें