Saturday, March 2, 2024
होमराजनीतिभाजपाई ही मुख्यमंत्री की मंशा पर फेर रहे हैं पानी, खुलकर कर...

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

भाजपाई ही मुख्यमंत्री की मंशा पर फेर रहे हैं पानी, खुलकर कर रहे हैं दबंगई

भाजपा नेता खड़े होकर करवा रहे हैं जमीन कब्जा, वीडियो हुआ वायरल, बीजेपी के जिला महामंत्री को लेकर बढ़ने लगा है आक्रोश,पीड़ित परिवार के ही लोगों को थाने में बैठाया गया  मिर्जापुर।  सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही प्रदेश में माफियाओं के न पनपने की चेतावनी देते फिर रहे हो, लेकिन खुद भाजपाई ही […]

भाजपा नेता खड़े होकर करवा रहे हैं जमीन कब्जा, वीडियो हुआ वायरल, बीजेपी के जिला महामंत्री को लेकर बढ़ने लगा है आक्रोश,पीड़ित परिवार के ही लोगों को थाने में बैठाया गया
 मिर्जापुर।  सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही प्रदेश में माफियाओं के न पनपने की चेतावनी देते फिर रहे हो, लेकिन खुद भाजपाई ही उनकी मंशा की संदिग्धता उजागर करते नजर आ रहे हैं। बुलडोजर नीति के तहत योगी आदित्यनाथ की सरकार प्रदेश में माफियाओं की कमर तोड़ने की बात भले ही करती है पर जमीनी सच्चाई इससे अलग दिखती है। हकीकत यह है कि खुद भाजपाई भू-माफियाओं को बढ़ावा देने के साथ-साथ जमीन कब्जे के मामले में बढ़-चढ़कर सहभागिता निभाते हुए दिखाई दे रहे हैं।
ऐसा ही एक मामला जिले के मड़िहान तहसील क्षेत्र के ग्राम खुटारी से जुड़ा हुआ है। जहां भाजपा के  एक जिला महामंत्री का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वह जमीन कब्जा किए जाने को लेकर शासन सत्ता का धौंस जमाते हुए दिखाई दे रहे हैं।
राजस्व रिकॉर्ड में फर्जीवाड़े को लेकर सुर्खियों में रहती  है मड़िहान तहसील
 यह वहीं मड़िहान तहसील है जो पूरे जिले में अपने फर्जीवाड़े के लिए कुख्यात है। जमीनों पर अवैध कब्जे से लेकर राजस्व रिकॉर्ड में फर्जीवाड़ा करने को लेकर मड़िहान तहसील पूरे जिले में सरनाम है। यह कोई एक-दो दिन की बात नहीं है बल्कि लंबे समय से यह तहसील फर्जीवाड़े में अपना रिकार्ड कायम किए हुए। समय-समय पर कार्यवाही होने के बाद भी फर्जीवाड़े से यह तहसील मुक्त नहीं हो पा रहा है। राजस्व रिकॉर्ड से लेकर अन्य दस्तावेजों में फर्जीवाड़े के मामले में इस तहसील और यहां के कर्मचारियों का कोई तोड़ नहीं है।
क्या है पूरा मामला
 मिर्ज़ापुर की  बहुचर्चित तहसील मड़िहान के ग्राम खुटारी में दिनेश सिंह के घर पर उपजिलाधिकारी मड़िहान के आदेश पर शान्ति पूर्वक निर्माण कार्य चल रहा था, वह अपने भू-भाग पर भवन निर्माण के लिए काम करवा रहे थे कि तभी वहां पहुंचे भाजपा के जिला महामंत्री हरिशंकर सिंह पटेल अपने को भाजपा सरकार का कद्दावार नेता बताते  हुए खुटारी गांव के रामपोष सिंह जो कि  उनके रिश्तेदार बताए  जा रहे हैं के साथ खड़े होकर उनको जबरिया कब्ज़ा दिलवाते हुए बोल रहे हैं कि  “मैं बैठा हूं गिरवाओं ढोका (पत्थर का टुकड़ा) कोई नहीं रोक पायेगा सरकार हमारी है मैं जिले का मालिक हूं।” पीड़ित परिवार का आरोप है कि मौके पर उनके रिश्तेदार रामपोष भी धमकियां देते हुए ललकार रहे हैं “मैं कब्जा लेकर रहूंगा कोई कुछ नहीं उखाड़ पायेगा, क्षेत्र में इस प्रकरण को लेकर चर्चा हो रही है कि जब समाज (कुर्मी/पटेल/ के नेता लोग ही दो परिवारों के बीच मारपीट करवाने पर अमादा हो तो भला गैरों से क्या उम्मीद की जा सकती है। वायरल हो रहे वीडियो में मिर्ज़ापुर भाजपा के जिला महामंत्री हरिशंकर सिंह पटेल के रिश्तेदारों द्वारा गंदी गालिया दी जा रही है, ऐसे में पीड़ित पक्ष के लोगों द्वारा सवाल उठाया जा रहा है कि क्यों ऐसे लोगों को जो गुंडों-बदमाशों की भाषा बोल रहे हैं सरकार पाल रही है, क्यों एक गरीब  परिवार  को सताया जा रहा है?  क्या क़ानून की कोई गरिमा नहीं है?

मौके पर गिरा ढ़ोका पत्थर और दबंगई के बल पर निर्माण रूकवाने से मौके पर पड़ा मलवा।

बताया जा रहा है कि उपजिलाधिकारी मड़िहान द्वारा उक्त ज़मीन के स्टे को हटा दिया गया है फिर भी दिनेश सिंह का घर नहीं बनने दिया जा रहा है, जब की दिनेश सिंह के पक्ष में आर्डर भी उपजिलाधिकारी मड़िहान का है, बावजूद सत्तामद में चूर नेता के इशारे पर सरकारी मुलाजिमों द्वारा पीड़ित परिवार का लगातार उत्पीड़न जारी है। आरोप है कि उपजिलाधिकारी मड़िहान, मड़िहान कोतवाली पुलिस को काम रोकने के लिये बार-बार बिना किसी लिखित आदेश के भेज रही है, तो वहीं दूसरी ओर भाजपा जिला महामंत्री हरिशंकर सिंह पटेल लगातार अपने को सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी का पदाधिकारी होने का हवाला देकर सत्ता का दूरुपयोग कर रहे है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि मड़िहान तहसील और थाना कोतवाली पूरी तरह से विपक्षियों से मिलकर भाजपा नेता के इशारे पर किसी बड़े वारदात को अंजाम दिलाने पर तुला हुआ है।
वायरल वीडियो ने बढ़ाई परेशानी
मीरजापुर जिले के मड़िहान तहसील क्षेत्र के खुटारी गांव में भूमि विवाद के मामले में मौके पर खड़े होकर एक पक्ष का सहयोग करते नजर आ रहे भाजपा जिला महामंत्री पूरी तरह से लोगों के निशाने पर आ गए हैं। इनके इस कार्यप्रणाली से ना केवल शासन सत्ता की मंशा पर भी पानी फिरता हुआ नजर आ रहा है, बल्कि मुख्यमंत्री के उस बयान की भी धज्जियां उड़ती हुई नजर आ रही थी जिसमें वह कहते सुनाई दे रहे हैं कि प्रदेश में अब माफियाओं की खैर नहीं है, किसी की भी जमीन कब्जा करने का कोई अब साहस नहीं करेगा।
मदद की गुहार लगा रहे परिवार को ही डाल दिया थाने के लॉकअप में
इसे विडंबना नहीं तो और क्या कहेंगे कि जिस पीड़ित परिवार ने दबंगों से बचने के लिए मदद की गुहार लगाते हुए पुलिस को सूचित किया , कुछ देर बाद मौके पर पहुंची पुलिस मदद की बात तो दूर रही पीड़ित परिवार के पुरुषों और महिला को ही उठाकर थाने के लॉकअप में डाल दिया।

 पीड़ित परिवार की महिला।

किशन कन्हैया बने बीजेपी जिला महामंत्री
कहने को तो भाजपा के जिला महामंत्री कहे जाते हैं, लेकिन किशन कन्हैया की भूमिका में ज्यादा नजर आते हैं, महिला नेत्रियों के बीच घिरा रहना इन्हें काफी सकून देता है। महिलाओं की टोली लेकर गुजरात तक का भ्रमण करने से भी गुरेज नहीं है। इनका अपना एक स्वजाति संगठन भी है जिसको लेकर इनके समाज के लोग ही इनका विरोध करते हुए धन वसूली करने का आरोप लगा चुके हैं। स्वजातीय संगठन में राज्यपाल के आगमन को लेकर की गई धन वसूली तथा संगठन में चल रहे विरोध को देख राज्यपाल ने कार्यक्रम में आने का निर्णय टाल दिया था। जिसको लेकर इनकी खूब किरकिरी भी हुई थी। अब यही नेता जी जमीन कब्जाने को लेकर विवादों में घिर गए हैं। क्या सूबे के मुख्यमंत्री और भाजपा प्रदेश नेतृत्व ऐसे लोगों पर नकेल कसने का साहस करेगा।
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें