गांधीवादी अमरनाथ भाई के गांव में लगा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

वल्लभाचार्य पांडेय

0 118

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में आक्सीजन की किल्लत एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने आई थी. जिससे लोग काफी असहाय महसूस कर रहे थे.  वहीं अब तीसरी लहर की चेतावनी भी विभिन्न विशेषज्ञों और सरकार द्वारा की गयी है, इससे निपटने के लिए युद्धस्तर पर तमाम सरकारी और गैर सरकारी प्रयास जारी है.

सामाजिक संस्था ‘आशा ट्रस्ट’ ने संभावित तीसरी लहर को चुनौती के रूप में स्वीकारते हुए ‘कोविड राहत अभियान’ का संचालन किया है. ग्रामीण चिकित्सकों को चिन्हित किया जा रहा है जिन्होंने दूसरी लहर के दौरान उल्लेखनीय सेवा समाज को प्रदान की. संस्था द्वारा इन चिकित्सकों को “कोरोना योद्धा सम्मान पत्र एवं स्वास्थ्य किट देकर सम्मानित किया जा रहा है. रविवार को वरिष्ठ गांधीवादी एवं सर्व सेवा संघ के पूर्व अध्यक्ष अमरनाथ भाई के गाँव बनकट में आयोजित एक कार्यक्रम में चिकित्सक डा. डी एन सिंह, डा. बाबूलाल एवं डा. ज्ञान प्रसाद मौर्या को सम्मानित किया गया.

कार्यक्रम में अपने विचार रखते हुए अन्दोलनकारी रामजनम

अमेरिका की संस्था आई एम आर सी के सहयोग से आशा ट्रस्ट की तरफ से सामाजिक कार्यकर्त्री तनुजा मिश्र को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किया गया.  इसी क्रम में बडागांव में आयोजित एक कार्यक्रम में डा कमलेश कुमार सिंह को सम्मानित किया गया और सामाजिक कार्यकर्त्री नीलम पटेल को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किया गया. आशा ट्रस्ट द्वारा अभी तक वाराणसी जिले में कुल 7 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराया है, जिसे कैथी, भगवानपुर, भंदहा कला, कादीपुर खुर्द, चौबेपुर बाजार, बनकट और बडागांव में सामाजिक सोच वाले लोगों के यहाँ स्थापित कराया गया है जो आवश्यकता पड़ने पर सार्वजनिक रूप से लोगों को इसकी सेवा निःशुल्क उपलब्ध करायेंगे.

इस अवसर पर आशा संस्था के समन्वयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने कहा कि देश में विभिन्न संस्थाएं इस दिशा में काम कर रही हैं इनका उद्देश्य मात्र इतना ही है  कि किसी को भी भविष्य में आक्सीजन की आवश्यकता पड़े तो उसे दूरदराज भटकना न पड़े आप पास के इलाके में सर्व सुलभ स्थान पर कंसंट्रेटर उपलब्ध हो. उन्होंने कहा कि ग्रामीण चिकित्सकों ने पिछली आपदा के समय खतरे से खेलते हुए लोगों की सेवा की है हमे उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करनी चाहिए. किसान नेता राम जनम भाई ने कहा कि प्रत्येक गाँव में मानदेय पर जन स्वास्थ्य रक्षकों की नियुक्ति की जानी चाहिए जिससे ग्रामीण क्षेत्र में सामान्य जांच जैसे रक्तचाप, मधुमेह, ऑक्सीजन स्तर आदि आसानी से सुलभ हो सके. महेश पाण्डेय ने ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर के प्रयोग करने के तरीके से अवगत कराया.

कार्यक्रम में  महेश पाण्डेय,  रामजनम भाई , तनुजा मिश्रा, दीपक पुजारी, नीलम पटेल, अखिलेश मिश्रा, मैत्री मिश्रा, गोपाल जी आदि का विशेष योगदान रहा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.