जनकवि धूमिल के गाँव खेवली में सामाजिक संस्था ने उपलब्ध कराया ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

तीसरी लहर का प्रभाव न्यूनतम करने की कोशिश

0 203

अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर के सहयोग से आशा ट्रस्ट का प्रयास

वाराणसी। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में आक्सीजन की किल्लत एक बड़ी चुनौती के रूप में सामने आई थी जिससे लोग काफी असहाय महसूस कर रहे थे। वहीं अब तीसरी लहर भी पाँव पसार रही है, संकरण के मामले दिनोंदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। इससे निपटने के लिए युद्धस्तर पर तमाम सरकारी और गैर सरकारी प्रयास जारी है। इसी कड़ी में सामाजिक संस्था ‘आशा ट्रस्ट’ ने अमेरिका की संस्था अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर के सहयोग से वाराणसी में जनकवि सुदामा प्रसाद धूमिल के पैतृक गाँव खेवली में सामाजिक कार्यकर्ता मनीष कुमार और चिकित्सक अशोक पटेल को एक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान कराया। कंसंट्रेटर का उपयोग ग्राम सभा और आस-पास के गाँव में हो सकेगा।

अगोरा प्रकाशन की किताबें अब किन्डल पर भी..

आशा संस्था के समन्वयक वल्लभाचार्य पाण्डेय ने कहा कि देश में विभिन्न संस्थाएँ इस दिशा में काम कर रही हैं। इनका उद्देश्य मात्र इतना ही है कि किसी को भी भविष्य में आक्सीजन की आवश्यकता पड़े तो उसे दूर दराज भटकना न पड़े और आस-पास के इलाके में सर्वसुलभ स्थान पर कंसंट्रेटर उपलब्ध हो। उन्होंने बताया कि अमेरिका की संस्था अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर के संयोजक महेंद्र कुमार वाराणसी के क्वींस कालेज के पुरा छात्र हैं उनके सहयोग से चार ऑक्सीजन कन्सेन्ट्रेटर प्रदान किये गये हैं। कार्यक्रम में दीनदयाल सिंह, प्रदीप सिंह, सूरज पाण्डेय, गौतम, मनीष पटेल, अशोक पटेल, लौटन भाई, आशा, उर्मिला आदि की उपस्थिति रही।

Leave A Reply

Your email address will not be published.