Wednesday, May 29, 2024
होमसामाजिक न्यायबहुजननहीं रहे पीएल मिमरोठ

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

नहीं रहे पीएल मिमरोठ

राजस्थान में मानवाधिक के सजग प्रहरी, अधिवक्ता और लेखक पीएल मिमरोठ अब हमारे बीच नहीं रहे। वे सेंटर फॉर दलित राइट्स के संस्थापक थे और दलित मानवाधिकारों को एक बड़े मुद्दे के रूप में उठाते रहे। उनके जाने से दलित मानवाधिकारों की वकालत करने वाला एक महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व नहीं रहा। यह एक अपूरणीय सामाजिक क्षति […]

राजस्थान में मानवाधिक के सजग प्रहरी, अधिवक्ता और लेखक पीएल मिमरोठ अब हमारे बीच नहीं रहे। वे सेंटर फॉर दलित राइट्स के संस्थापक थे और दलित मानवाधिकारों को एक बड़े मुद्दे के रूप में उठाते रहे। उनके जाने से दलित मानवाधिकारों की वकालत करने वाला एक महत्त्वपूर्ण व्यक्तित्व नहीं रहा। यह एक अपूरणीय सामाजिक क्षति है। उनके प्रति हमारी विनम्र श्रद्धांजलि। इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता और लेखक विद्या भूषण रावत द्वारा पीएल मिमरोठ से लिया गया एक लम्बा साक्षात्कार का लिंक हम शेयर कर रहे हैं।

पहला भाग 

अभिशाप नहीं हैं स्त्रियों में समानता के हक पर दावा करना,डायरी (20 अप्रैल, 2022)

दूसरा भाग

विद्रोही का आक्रोश छाती पीटने वाला आक्रोश नहीं है

तीसरा और अंतिम भाग

झूठ का पुलिंदा है वाय आई किल्ड गांधी

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें