Saturday, April 13, 2024
होमसामाजिक न्यायपीएस-4 ने पीएम मोदी के कार्यक्रम के विरोध में मनाया काला दिवस

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

पीएस-4 ने पीएम मोदी के कार्यक्रम के विरोध में मनाया काला दिवस

 25 अक्टूबर को वाराणसी प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) ने मेंहदीगंज में आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा का विरोध करते हुए आज ‘काला दिवस’ मनाया। इस दौरान समिति के प्रमुख छेदी लाल प्रजापति ‘निराला’ ने बताया कि, भाजपा की योगी सरकार में कुम्हारों की हत्या, बलात्कार और उत्पीड़न के खिलाफ वाराणसी के करीब […]

 25 अक्टूबर को वाराणसी प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) ने मेंहदीगंज में आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा का विरोध करते हुए आज ‘काला दिवस’ मनाया। इस दौरान समिति के प्रमुख छेदी लाल प्रजापति ‘निराला’ ने बताया कि, भाजपा की योगी सरकार में कुम्हारों की हत्या, बलात्कार और उत्पीड़न के खिलाफ वाराणसी के करीब दो दर्जन गांवों में कुम्हारों ने आज काला पट्टी बांधकर सामुहिक रूप से ‘काला दिवस’ मनाया। इसके अलावा कुम्हार समुदाय के लोगों ने चंदौली, मिर्जापुर और गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के विरोध में आज विभिन्न जगहों पर ‘काला दिवस’ मनाया। उन्होंने भाजपा और उसकी सरकारों को चेतावनी दी कि अगर कुम्हारों की हत्या, बलात्कार और उत्पीड़न के आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा का बहिष्कार करेंगे। पीएस4 ने मारे गए कुम्हारों के परिजनों को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को ‘ओएसडी’ पद की नौकरी देने की मांग भी की।
कुम्हार समुदाय के सामाजिक, शैक्षिक, आर्थिक और राजनीतिक विकास और सुरक्षा के लिए कार्य करने वाले गैर-राजनीतिक संगठन ‘प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4)’ के प्रमुख छेदी लाल प्रजापति ‘निराला’ की ओर से सोमवार को जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की योगी सरकार आने के बाद से अब तक कुम्हार समुदाय के 50 से ज्यादा लोगों की हत्याएं हो चुकी हैं लेकिन न्याय के नाम पर कुम्हार समुदाय को कुछ भी हासिल नहीं हुआ है। भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेंहदीगंज में करोड़ों रुपये खर्च कर सभा कर रहे हैं लेकिन मारे गए कुम्हारों को आर्थिक मदद देने के लिए उनके पास पैसे नहीं है और ना ही नियत है। यहां तक भाजपा की योगी सरकार कुम्हारों की हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार भी नहीं कर रही है। इनमें अधिकतर ऊंची जातियों के लोग हैं। वे खुलेआम घूम रहे हैं। प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) और पीड़ित परिवारों के परिजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दर्जनों बार ज्ञापन भेज चुके हैं लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। लोहता थाना के केराकतपुर गांव निवासी मृतक कन्हैयालाल प्रजापति की पत्नी माया प्रजापति अपने छोटे-छोटे बच्चों संग योगी सरकार के मंत्री अनिल राजभर से व्यक्तिगत रूप से गुहार लगा चुकी है लेकिन आज तक उसे न्याय नहीं मिला और ना ही आर्थिक सहायता।

[bs-quote quote=” निराला ने यह भी कहा है कि भारतीय जनता पार्टी और उसकी सरकार के जातिवादी कार्यशैली को ध्यान में रखते हुए प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (PS4) ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के विरोध में ‘काला दिवस’ मनाया। अगर सरकार कुम्हार समुदाय के लोगों की हत्या, बलात्कार और उत्पीड़न की घटनाओं को जल्द से जल्द नहीं रोकती है तो आगामी चुनावों में पीएस4 और कुम्हार समुदाय भाजपा का बहिष्कार करेगा।” style=”style-2″ align=”center” color=”” author_name=”” author_job=”” author_avatar=”” author_link=””][/bs-quote]

 

उन्होंने आगे कहा है कि पिछले करीब दो सालों के दौरान ही कुम्हारों की हत्याओं की एक दर्जन से ज्यादा वारदातें हो चुकी है (विवरण संलग्नक में है) लेकिन आज तक इन मामलों में प्रजापति समाज को ना ही न्याय मिला है और ना ही मामले में शामिल ऊंची जातियों के लोगों की गिरफ्तारी हुई है। आर्थिक सहायता के नाम पीड़ित परिवारों को एक फूटी कौड़ी सरकार की ओर से नहीं मिली है। भाजपा के किसी नेता या मुख्यमंत्री की ओर से संवेदना के दो शब्द भी मृतक कुम्हारों के लिए नहीं कहा गया है। मैनपुरी में कुम्हार परिवार के पांच लोगों को जिंदा जला देने पर भी प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ या उनकी राजनीतिक पार्टी भाजपा के किसी वरिष्ठ पदाधिकारी ने दुःख एवं संवेदना के एक शब्द पीड़ित परिवार के लिए नहीं बोला। प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) और प्रजापति अंतर-विश्वविद्यालयी विद्यार्थी समूह (PIUS)समेत कुम्हार समुदाय के लोगों के डेढ़ महीने के आंदोलन के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पीड़ित परिवार को केवल पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराई। वहीं, ऊंची जाति के एक व्यक्ति की हत्या पर भाजपा की योगी सरकार पीड़ित परिवार को 40-50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और समूह ‘क’ की ओएसडी की नौकरी देती है। योगी सरकार जाति देखकर हत्याओं का हिसाब लगाती है। कुम्हार समुदाय के लोगों की हत्या उसके लिए चिंता का विषय ही नहीं है।
 निराला ने यह भी कहा है कि भारतीय जनता पार्टी और उसकी सरकार के जातिवादी कार्यशैली को ध्यान में रखते हुए प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (PS4) ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के विरोध में ‘काला दिवस’ मनाया। अगर सरकार कुम्हार समुदाय के लोगों की हत्या, बलात्कार और उत्पीड़न की घटनाओं को जल्द से जल्द नहीं रोकती है तो आगामी चुनावों में पीएस4 और कुम्हार समुदाय भाजपा का बहिष्कार करेगा। उन्होंने बताया कि वाराणसी के नारायणपुर (डाफी), अमरा खैरा, मेंहदीगंज, बेनीपुर, सिंधोरा, परानापट्टी, भट्ठी, गुड़ियां, बनौली, कोहारे का पुरा आदि करीब दो दर्जन गांवों में कुम्हारों ने प्रजापति शोषित समाज संघर्ष समिति (पीएस4) के बैनर तले आज काला दिवस मनाया। मिर्जापुर में सिद्धि और गाजीपुर के परवल गांवों में भी कुम्हारों ने काला दिवस मनाया।
नारायणपुर डाफी गांव में पीएस4 प्रमुख छेदीलाल प्रजापति निराला के नेतृत्व में कुम्हारों एवं वंचित समुदाय के लोगों ने काला दिवस मनाया जिसमें प्रमुख रूप से कम्युनिस्ट फ्रंट के मनीष शर्मा, सुनील चौधरी, मंशा राजभर, लाल जी राजभर, मीरा वनवासी, गुड्डी राजभर, शालिंद्री चौधरी , सावित्री प्रजापति निराला आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। अमरा गांव में पीएस4 के महासचिव राजेश कुमार प्रजापति, उपाध्यक्ष जिउत लाल प्रजापति, कृष्ण कुमार प्रजापति आदि दर्जनों लोग उपस्थित रहे।
संलग्नकः  
उत्तर प्रदेश में पिछले दो सालों के दौरान कुम्हारों की हुई प्रमुख हत्याओं का विवरणः
(1) 13 अक्टूबर 2021         कौशाम्बी में किसान देवराज प्रजापति की हत्या, ग्राम- बिशारा, थाना-कोखराज, जिला-कौशाम्बी
(2) 30 सितंबर 2021          गोरखपुर में वेटर मनीष प्रजापति की हत्या, स्थान- मॉडल शॉप, थाना- रामगढ़ ताल, जिला गोरखपुर, पिता का नाम- श्रवण प्रजापति, ग्राम- पनगढ़ी, जिला- रिवा, राज्य-मध्य प्रदेश
(3) 10 सितंबर 2021          गोरखपुर में विजय प्रजापति का फर्जी एनकाउंटर, ग्राम- जगदीशपुर भलुआन, थाना- गगहा, जिला गोरखपुर
(4) 13 जुलाई 2021           वाराणसी में प्लंबर कन्हैया लाल प्रजापति की दिन-दहाड़े हत्या, ग्राम- केराकतपुर, थाना लोहता, जिला-वाराणसी
(5) 6 जून 2021                 प्रयागराज में सोनी प्रजापति की हत्या, शांतिनगर, राजरूपपुर, प्रयागराज/इलाहाबाद
(6) 27 मई 2021               हमीरपुर में कर्ज से डूबे इंडियन बैंक का ग्राहक सेवा केंद्र संचालक ओम प्रकाश प्रजापति की हत्या, ग्राम कुरारा, जिला-हमीरपुर
(7) 13 फरवरी, 2021         अमेठी में शुभम प्रजापति की हत्या, ग्राम- परसावा छोटा बेनीपुर, कोतवाली-अमेठी, जिला अमेठी  पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति का भतीजा
(8) 31 जनवरी 2021          प्रतापगढ़ में छात्र लकी प्रजापति की हत्या, ग्राम- सराय सुजान सुजहा, थाना- मान्धाता, जिला- प्रतापगढ़
(9) 25 सितंबर 2020          महराजगंज में ग्राम प्रधान के पिता श्रीनंद प्रजापति की हत्या, ग्राम- विसोखोर, थाना-  के कोठीभार, जिला-महाराजगंज
(10) 13 जुलाई 2020         जौनपुर में चंदन प्रजापति की हत्या, ग्राम कुसवा, तहसील- केराकत, थाना- जलालपुर, जिला- जौनपुर
(11) 17-18 जून 2020        मैनपुरी में कुम्हार परिवार के पांच लोगों को जिंदा जलाया गया। राम बहादुर प्रजापति, सरला देवी, संध्या प्रजापति उर्फ रोली, शिखा प्रजापति, ऋषि प्रजापति, माधोनगर मोहल्ला, खरपरी गांव, मैनपुरी
(12) 14 जनवरी 2020        जौनपुर में लेखपाल अनिल प्रजापति की हत्या, घटनाः ग्राम- बगेरवां (बम्बावन), थाना-केराकत, जिला जौनपुर, निवासी ग्राम-मिर्जापुर देवगांव, थाना-देवगांव कोतवाली, लालगंज, जिला आजमगढ़

राजेश कुमार प्रजापति पीएस-4 के महासचिव हैं।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें