Browsing Tag

pm modi

राहुल गांधी के भाषण में दर्द, चिंता और कटाक्ष

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के द्वारा 2 फरवरी बुधवार को संसद के बजट सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर दिया गया भाषण इन…
Read More...

गांधी और आज उनके हत्यारे(डायरी 31 जनवरी, 2022)

कल राजघाट गया था। दिल्ली में रहते हुए 30 जनवरी को राजघाट जाकर महामानव गांधी को श्रद्धांजलि देने का यह पहला मौका था। वहां पीएम नरेंद्र मोदी,…
Read More...

 पत्रकारिता, देश और नौजवान (डायरी 28 जनवरी, 2022) 

आज का दिन भी बहुत खास है। दिल्ली से प्रकाशित जनसत्ता के पहले पृष्ठ पर एक तस्वीर है। इस तस्वीर में वैसे तो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी…
Read More...

क्या मोदी के नए भारत के निर्माण का सपना कांग्रेस नेताओं के बगैर अधूरा है ?

उत्तर प्रदेश के दिग्गज कांग्रेसी नेता आरपीएन सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद, एक बार फिर से राजनीतिक गलियारों में कांग्रेस मुक्त भारत और…
Read More...

विषमतम दौर में भारत और भारतीय संविधान (डायरी 27 जनवरी, 2022)

कल भारत में जनतंत्र दिवस दिवस मनाया गया। कायदा तो यह होना चाहिए था कि इस मौके पर भारतीय संविधान को याद किया जाता कि कैसे डॉ. आंबेडकर द्वारा…
Read More...

अगर रामनाथ कोविंद दलित के बजाय ब्राह्मण होते! डायरी (26 जनवरी, 2022)

जाति कभी नहीं जाती। अक्सर यह बात सुनता हूं और कभी--कभार तो मैं भी लिख देता हूं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि जाति नामक यह सामाजिक बीमारी…
Read More...

नफरत के दौर में सद्भाव की बात

पिछले माह मन को विचलित करने वाली अनेक घटनाएं हुईं। ये घटनाएं हिंसा और स्त्रियों के प्रति द्वेष को बढ़ावा देने वाली, मुस्लिम महिलाओं को निशाना…
Read More...

शातिर नरेंद्र मोदी की ‘ताकत’ (डायरी 22 जनवरी, 2022)

सत्ता का मतलब ही ताकत है। एक ऐसी ताकत जो चाहे तो कुछ भी कर सकती है। उदाहरण भारत में मौजूदा सत्ता है। यह सत्ता की ताकत का ही असर है कि…
Read More...

कांग्रेस का डबल अटैक, पंजाबियत और दलित कार्ड

पंजाब विधानसभा का चुनाव यूं तो भाजपा के लिए किसान आंदोलन से ही मुश्किल भरा चुनाव नजर आ रहा था, और कांग्रेस के लिए आसान। मगर प्रधानमंत्री…
Read More...

और अब निशाने पर चरणजीत सिंह चन्नी(डायरी, 19 जनवरी 2022)

बिंब बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। हालांकि यह बात तब की है जब साहित्य से मेरा बस इतना ही लगाव था कि समय हुआ तो पढ़ लिया। तब तो मुझे साहित्य…
Read More...