क्या कांग्रेस सपा के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारेगी

देवेंद्र यादव

1 177

क्या गांधी परिवार उत्तर प्रदेश से नया इतिहास लिखने जा रहा है? क्या कांग्रेस की राष्ट्रीय महामंत्री उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी? यह अटकलें तो देश में लंबे समय से लगाई जा रही है, मगर इन अटकलों को बल इस बात से और अधिक मिल रहा है कि कांग्रेस समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और अखिलेश के चाचा शिवपाल यादव के खिलाफ अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं कर रही है।
हालांकि यदि कांग्रेस अखिलेश और शिवपाल यादव के खिलाफ अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं करती है तो कांग्रेस अपनी उस परंपरा को निभा रही है जिस परंपरा के तहत समाजवादी पार्टी लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी और सोनिया गांधी के खिलाफ भी अपने प्रत्याशी खड़े नहीं करती है।

राजनीतिक गलियारों में तो अभी केवल यह चर्चा है कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी अंदर से एक हैं, और इसीलिए कांग्रेस अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के खिलाफ अपना प्रत्याशी खड़ा नहीं करने का मन बना रही है। वहीं, भाजपा के नेता कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर यह आरोप लगाते हुए नजर आ रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का अलग-अलग चुनाव लड़ना बहाना है दोनों पार्टियां अंदर से एक हैं। इसमें कितनी सच्चाई है यह तो अभी पता नहीं चला है। लेकिन कयास अब यह लग रहा है कि क्या प्रियंका गांधी भी विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी? यदि ऐसा होता है तो, प्रियंका गांधी इतिहास लिखेंगी और प्रियंका गांधी अपने राजनीतिक जीवन का पहला चुनाव भी लड़ेंगी। प्रियंका गांधी ने अभी तक  विधानसभा और लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ा है।

वहीं, भाजपा के नेता कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर यह आरोप लगाते हुए नजर आ रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का अलग-अलग चुनाव लड़ना बहाना है दोनों पार्टियां अंदर से एक हैं। इसमें कितनी सच्चाई है यह तो अभी पता नहीं चला है। लेकिन कयास अब यह लग रहा है कि क्या प्रियंका गांधी भी विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी? यदि ऐसा होता है तो, प्रियंका गांधी इतिहास लिखेंगी और प्रियंका गांधी अपने राजनीतिक जीवन का पहला चुनाव भी लड़ेंगी। प्रियंका गांधी ने अभी तक विधानसभा और लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ा है।

अमेठी और रायबरेली की सदर सीट का कांग्रेस ने अभी तक प्रत्याशी घोषित नहीं किया है। क्या प्रियंका गांधी अमेठी या रायबरेली सदर से विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी? इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की गाहे -बगाहे चर्चा भी सुनाई देती है।
अखिलेश यादव ने पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ने की घोषणा कर सभी को चौंकाया था। क्या प्रियंका गांधी भी विधानसभा का चुनाव लड़ने की घोषणा कर चौकने वाली हैं? उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर प्रियंका गांधी से सवाल किए जाते हैं। क्या प्रियंका गांधी ही उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री का चेहरा होंगी। अब समय कम है लेकिन अभी भी इंतजार है प्रियंका गांधी की घोषणा का है।

यह भी पढ़े:

क्या उत्तर प्रदेश चुनाव में चौंकाने वाला परिणाम आएगा

अखिलेश यादव के बाद यदि प्रियंका गांधी भी विधानसभा चुनाव लड़ती हैं तो उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव रोचक हो जाएगा। और उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव त्रिकोणीय टक्कर का हो जाएगा।
उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी की मेहनत के कारण कांग्रेस अब चुनाव में रेस में तेजी से नजर आ रही है। कांग्रेस की चुनावी घोषणाएं और चुनाव में अपने वादों को निभाने के कारण जनता के बीच कांग्रेस की अच्छी छवि बनती हुई दिखाई दे रही है।
कांग्रेस को भाजपा की धर्म की राजनीति और समाजवादी पार्टी की जाति की राजनीति से इतर महिला और युवाओं के मुद्दों को उठाने का लाभ मिल सकता है।
कांग्रेस की महिला और युवा नेताओं ने उत्तर प्रदेश चुनाव में प्रचार के लिए डेरे डाल लिए हैं। सचिन पायलट, कन्हैया कुमार और हार्दिक पटेल तीनों युवा नेता उत्तर प्रदेश चुनाव में देखे जा रहे हैं। जो डोर टू डोर प्रचार करने में जुट गए हैं। यही नहीं तीनों नेता उत्तर प्रदेश के युवाओं से सीधे संवाद भी करने में जुट गए हैं। उत्तर प्रदेश में यदि युवाओं की बात करें तो, युवाओं को कांग्रेस के प्रति आकर्षित करने में सचिन पायलट बहुत बड़ा रोल अदा कर सकते हैं और सचिन पायलट इस मिशन में लगे भी हुए हैं । लेकिन अभी भी सवाल वही है क्या प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश से विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी?

देवेंद्र यादव कोटा स्थित वरिष्ठ पत्रकार हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.