Saturday, July 13, 2024
होमग्राउंड रिपोर्टआंदोलन के बाद पेड़ों के मुआवजे का आश्वासन

ताज़ा ख़बरें

संबंधित खबरें

आंदोलन के बाद पेड़ों के मुआवजे का आश्वासन

कोरबा में छत्तीसगढ़ किसान सभा के नेतृत्व में कल 20 जनवरी को पुरैना मड़वाढोढा के पास तीन गांवों के आक्रोशित ग्रामीणों ने मिलकर गेवरा-पेंड्रा रोड रेल कॉरिडोर निर्माण का काम रूकवा दिया और अपनी अधिग्रहित जमीन और पेड़ों के मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। किसानों के उग्र तेवर को देखते हुए […]

कोरबा में छत्तीसगढ़ किसान सभा के नेतृत्व में कल 20 जनवरी को पुरैना मड़वाढोढा के पास तीन गांवों के आक्रोशित ग्रामीणों ने मिलकर गेवरा-पेंड्रा रोड रेल कॉरिडोर निर्माण का काम रूकवा दिया और अपनी अधिग्रहित जमीन और पेड़ों के मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। किसानों के उग्र तेवर को देखते हुए रेल कॉरिडोर के लिए मिट्टी पाटने का काम बंद हो गया था, जिसके बाद दीपका तहसीलदार रवि राठौर कटघोरा के नायब तहसीलदार और बांकी थाना प्रभारी के साथ मौके पर पहुंचे। तहसीलदार रवि राठौर ने प्रभावित किसानों को आश्वासन दिया कि सोमवार को पेडों का मुआवजा सभी किसानों को मिल जाएगा और जिनकी जमीन अधिग्रहण के समय छूट गई थी, उनका जल्द पत्रक प्रकाशन कर मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। तहसीलदार के आश्वासन के बाद आंदोलन समाप्त हुआ।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार द्वारा कोयला ढुलाई को आसान बनाने के लिए गेवरा-पेंड्रा रोड रेल कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए सैकड़ों गांवों के हजारों किसानों की हजारों हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया गया है, जिनमें से अधिकांश आदिवासी, दलित और कमजोर तबके से जुड़े हैं।

रेल कॉरिडोर के लिए मिट्टी पाटने का काम बंद

प्रभावित किसान शिवरतन, मोहपाल सिंग, अजित सिंह, जगदीश, भैया राम ने आरोप लगाया है कि उनकी अधिग्रहित जमीन और पेड़ों का मुआवजा उन्हें अभी तक मिला नहीं है और कार्यालयों का चक्कर काट-काट कर वे थक चुके हैं। उन्होंने बताया कि कुछ माह पूर्व भी इसी मुद्दे पर किसान सभा ने आंदोलन किया था, जिसके बाद प्रभावित किसानों की जमीन नापी गई थी और पेड़ों की गिनती की गई थी। लेकिन प्रशासन द्वारा शीघ्र मुआवजा देने का आश्वासन आज तक पूरा नहीं हुआ है।

गाँव के लोग
गाँव के लोग
पत्रकारिता में जनसरोकारों और सामाजिक न्याय के विज़न के साथ काम कर रही वेबसाइट। इसकी ग्राउंड रिपोर्टिंग और कहानियाँ देश की सच्ची तस्वीर दिखाती हैं। प्रतिदिन पढ़ें देश की हलचलों के बारे में । वेबसाइट की यथासंभव मदद करें।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय खबरें