निष्कर्ष निकलेगा या राजनीति होगी?

देवेन्द्र यादव

0 193

5 जनवरी को पंजाब मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले में चूक होने के प्रकरण ने बड़ा तूल पकड़ लिया है। 6 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्रपति कोविंद से मिलना, घटना से अवगत कराना काफी सुर्खियों में रहा। वहीँ इस घटना को लेकर एक सीनियर वकील के द्वारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करना, पंजाब सरकार और केंद्र सरकार के द्वारा इस घटना की जांच के लिए कमेटी नियुक्त करना, यह इशारा करता है घटना गंभीर है, जिसका निष्कर्ष अवश्य निकलेगा। लेकिन दूसरी तरफ भाजपा और कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों का देश के सामने आना, जांच के बाद निष्कर्ष तक पहुंचना या फिर इस पर राजनीति करना यह सवाल भी अब खड़ा हो गया है क्योंकि 6 जनवरी को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री मोदी की सलामती के लिए महामृत्युंजय यज्ञ का आयोजन किया तो  वहीँ  कांग्रेस के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भूपेश बघेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसे दलित एंगल देने का प्रयास किया। पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी दलित हैं, और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले में चूक का प्रकरण पंजाब में सामने आया है। भाजपा के नेता इस चूक के लिए कांग्रेस और कांग्रेस के मुख्यमंत्री चन्नी पर आरोप लगाते हुए दिखाई दे रहे हैं।

6 जनवरी को इस प्रकरण को लेकर अनेक प्रकार की चर्चाएं होते हुए देखी व सुनी गईं।

इस पूरे प्रकरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का थैंक्स मुख्यमंत्री वाला बयान मीडिया और देश में छाया रहा, मगर पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी का वह शब्द अधिक सुनाई नहीं दिया जो चन्नी ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कुछ होने से पहले मैं अपना खून बहा दूंगा! चन्नी का यह भावुक शब्द अधिक सुर्खियां नहीं बटोर पाया जबकि थैंक्यू मुख्यमंत्री शब्द मीडिया में गूंजता रहा।

भाजपा और कांग्रेस के बीच इस प्रकरण पर राजनीतिक चर्चा भी होते हुए सुनाई दी। इस बीच पूर्व प्रधानमंत्रियों के दौरे में सुरक्षा चूक होने के हवाले भी दिए गए।

इस पूरे प्रकरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का थैंक्स मुख्यमंत्री वाला बयान मीडिया और देश में छाया रहा, मगर पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी का वह शब्द अधिक सुनाई नहीं दिया जो चन्नी ने अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए कहा  कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कुछ होने से पहले मैं अपना खून बहा दूंगा! चन्नी का यह भावुक शब्द अधिक सुर्खियां नहीं बटोर पाया जबकि थैंक्यू मुख्यमंत्री शब्द मीडिया में गूंजता रहा।

अगोरा प्रकाशन कि यह बुक अब किंडल पर भी उपलब्ध है:

भाजपा के नेता कांग्रेस और गांधी परिवार को कोसते नजर आए वही दूसरी तरफ कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले मैं हुई चूक को गंभीरता से लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से कहा है कि इस प्रकरण की तुरंत जांच हो और दोषियों को इसकी सजा मिले। सोनिया गांधी ने चन्नी से कहा कि नरेंद्र मोदी देश और हमारे प्रधानमंत्री हैं ।

सोनिया गांधी का आदेश और बयान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि सोनिया गांधी ने सुरक्षा में चूक होने का खामियाजा उठाया है उन्होंने अपनी सास इंदिरा गांधी और पति राजीव गांधी की शहादत को देखा है।

   सवाल वही है की निष्कर्ष निकलेगा या राजनीति होती रहेगी ?

देवेंद्र यादव कोटा स्थित वरिष्ठ पत्रकार हैं। 
Leave A Reply

Your email address will not be published.