चन्नी के बयान को लपककर मोदी-योगी क्या हासिल कर लेंगे

देवेंद्र यादव

0 95
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के बयान को लेकर राजनीति गरमा गई है। 16 फरवरी को पंजाब में चन्नी द्वारा उत्तर प्रदेश और बिहार के संदर्भ में दिए गए बयान की गूंज राजनीतिक गलियारों में 17 फरवरी को तेजी से सुनाई पड़ी। जहां एक तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चन्नी के बयान की निंदा की तो वहीं कांग्रेस के नेता प्रियंका गांधी सहित चन्नी के बयान पर अपनी सफाई देते हुए नजर आए !
चन्नी के बयान से राजनीतिक पंडित उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में राजनीतिक नफा और नुकसान भी ढूंढने लगे।
‘जिसका मुझे था इंतजार, वह घड़ी आ गई, आ गई’ की तर्ज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी चन्नी के बयान पर एक चुनावी सभा में कांग्रेस को आड़े हाथों लिया !

उत्तर प्रदेश में राजनीतिक पंडित राजनीतिक विश्लेषक और भाजपा के नेता अभी तक कांग्रेस को चुनावी रेस में नहीं मानते थे अब चन्नी के बयान के बाद वह नेता चन्नी के बयान पर उत्तर प्रदेश में राजनैतिक असर पड़ने की बात करने लगे हैं, क्योंकि उत्तर प्रदेश को लेकर कांग्रेस के मुख्यमंत्री चन्नी ने बयान दिया है और बयान भी कांग्रेस की राष्ट्रीय महामंत्री और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी की मौजूदगी में दिया है, इसलिए राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि चन्नी के बयान से कांग्रेस को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में नुकसान होगा क्या ?

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की घोषणा होने से पहले और घोषणा होने के बाद कांग्रेस फूंक फूंक कर कदम रख रही थी, कांग्रेस के नेता चुनाव के समय ऐसा कोई भी बयान नहीं दे रहे थे जिस बयान पर, भाजपा और उसके नेता चुनाव में कांग्रेस को घेर सके।
चुनावों के मौसम में पूर्व में अक्सर कांग्रेस के भाषण वीर नेता, ऐसा बयान दे दिया करते थे जिसके कारण कांग्रेस को भाजपा के नेता घेर लिया करते थे जिसका चुनाव में कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ता था? पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में, दो चरणों के मतदान से पहले कांग्रेस के किसी भी भाषण वीर नेता का ऐसा कोई बयान नहीं आया जिस बयान के कारण कांग्रेस को चुनाव में नुकसान हो, मगर पंजाब विधानसभा चुनाव से 2 दिन पहले आखिर वह बयान सामने आ ही गया जिसका इंतजार शायद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के नेता कर रहे थे चन्नी के बयान के बाद सवाल यह खड़ा हो गया की, चन्नी के बयान का असर उत्तर प्रदेश चुनाव में दिखाई देगा क्या।
जहां तक चुनाव में नफा नुकसान की बात करें तो, चन्नी के बयान के बाद, उत्तर प्रदेश में कांग्रेस भी चुनावी रेस में दिखाई देने लगी है।

चन्नी का बयान भले ही अशोभनीय है, जिसकी निंदा हो भी रही है, कांग्रेस और कांग्रेस के नेता चन्नी के बयान पर सफाई भी दे रहे हैं। लेकिन चन्नी के बयान के बाद, कांग्रेस में एकजुटता नजर आई वहीं कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व अपने मुख्यमंत्री चन्नी के साथ खड़ा नजर आया।

उत्तर प्रदेश में राजनीतिक पंडित राजनीतिक विश्लेषक और भाजपा के नेता अभी तक कांग्रेस को चुनावी रेस में नहीं मानते थे अब चन्नी के बयान के बाद वह नेता चन्नी के बयान पर उत्तर प्रदेश में राजनैतिक असर पड़ने की बात करने लगे हैं, क्योंकि उत्तर प्रदेश को लेकर कांग्रेस के मुख्यमंत्री चन्नी ने बयान दिया है और बयान भी कांग्रेस की राष्ट्रीय महामंत्री और उत्तर प्रदेश की प्रभारी  प्रियंका गांधी की मौजूदगी में दिया है, इसलिए राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि चन्नी के बयान से कांग्रेस को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में नुकसान होगा क्या ? कांग्रेस को उत्तर प्रदेश के चुनाव में नुकसान होगा या नहीं इसका पता तो 10 मार्च को चलेगा, लेकिन वर्तमान में यह पता तो चल ही गया है कि भाजपा उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर कांग्रेस को कितना गंभीर ले रही है ! कांग्रेस को भा जा पा गंभीरता से ले रही है इसका नजारा तब देखने को मिला जब चन्नी के बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रतिक्रिया आई !
चन्नी का बयान भले ही अशोभनीय है, जिसकी निंदा हो भी रही है, कांग्रेस और कांग्रेस के नेता चन्नी के बयान पर सफाई भी दे रहे हैं।
लेकिन चन्नी के बयान के बाद, कांग्रेस में एकजुटता नजर आई वहीं कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व अपने मुख्यमंत्री चन्नी के साथ खड़ा नजर आया।
वही कांग्रेस की राष्ट्रीय महामंत्री और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी की राजनीतिक ताकत का भी उत्तर प्रदेश में राजनैतिक पंडितों को एहसास हुआ।
प्रियंका गांधी की उत्तर प्रदेश में बढ़ती लोकप्रियता और राजनीतिक ताकत का ही परिणाम है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ चन्नी के बयान की सार्वजनिक मंच से आलोचना करते हुए नजर आए।
चन्नी के बयान के बाद उत्तर प्रदेश के चुनाव में राजनीतिक फायदा और नुकसान क्या होगा इसका अभी इंतजार करना होगा।
देवेंद्र यादव कोटा स्थित वरिष्ठ पत्रकार हैं।
Leave A Reply

Your email address will not be published.