Sunday, April 14, 2024
होमTagsNaugarh

TAG

Naugarh

नौगढ़ स्वास्थ्य केंद्र में लम्बे समय से ख़राब है सोलर सिस्टम, क्या प्रदेश में ऐसे विकसित होगी सौर ऊर्जा

नौगढ़: देश में दिन-ब-दिन बिजली की लागत महँगी होती जा रही है। इस स्थिति में बिजली की समस्या से निपटने के लिए सौर ऊर्जा...

मजदूर दिवस पर जमीनी स्तर पर काम करने की ली गई शपथ

नौगढ़। एक मई अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के अवसर पर मजदूर किसान मोर्चा के बैनर तले क्षेत्र के बसौली गांव में सामुदायिक भवन पर गोष्ठी आयोजित...

हर स्तर पर दमन और भ्रष्टाचार से लड़ना पड़ता है

चंदौली जिले के नौगढ़ तहसील की कुछ गाँव की महिलाओं ने भ्रष्टाचार और अव्यवस्था के खिलाफ कैसे आवाज उठाईं और लड़ाई जीतीं, इस बात...

महिला हिंसा के विरुद्ध कार्यक्रम

प्रतिवर्ष 25 नवम्बर को अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा विरोध दिवस हिंसा के खिलाफ समाज को जागृत करने के लिए पूरे विश्व में मनाया जाता है।...

नौगढ़ के एक गाँव के विस्थापित अपना गाँव उठा लाए दूसरी जगह

चंदौली के आदिवासी इलाकों में वनाधिकार पट्टे के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे ग्रामवासी अपने पुराने कागज़-पत्तर ठीक कर रहे हैं। बहुतों के पास...

समान अवसर मिलने पर लडकियाँ बेहतर करने की क्षमता रखती हैं

11 अक्टूबर को ग्राम्या संस्थान द्वारा  अन्तर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर राजकीय इंटर कॉलेज, नौगढ़ में बच्चों एवं शिक्षकों के साथ गोष्ठी का...

आप हमारी पीठ पर डंडा मारें और हम उंगली भी न उठायें

प्यारी के बारे में जब हमें ग्राम्या संस्थान की बिन्दू सिंह ने बताया था तभी से हमारी जिज्ञासा जाग उठी कि प्यारी से चलकर...

क्या रिंकू को अपने परिवार का कहना मान लेना चाहिए?

‘ज़िंदगी में कभी-कभी कोई ऐसा मोड़ आता है जब यह समझ में नहीं आता कि किधर जाएँ। और अगर घर के लोग अपने मन-मुताबिक...

घरेलू हिंसा सहते रहने से मैंने विद्रोह करना बेहतर समझा : शशिकला गौतम

शशिकला गौतम नौगढ़ में ग्राम्या संस्थान, लालतापुर द्वारा संचालित स्कूल में पढ़ाती है। इसके साथ ही वह संस्था द्वारा संचालित चिराग केंद्र में किशोरियों...

कभी कालीन उद्योग की रीढ़ रहा एशिया का सबसे बड़ा भेड़ा फार्म आज धूल फाँक रहा है!

नौगढ़। उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जिले चंदौली के तालुके नौगढ़ का भेड़ प्रजनन केंद्र जिसको स्थानीय लोग भेड़ा फार्म कहते हैं, एशिया का सबसे...

मुसहर समुदाय को नहीं पता वह आदिवासी है कि दलित लेकिन द्रौपदी मुर्मू को अपनी बिरादरी का मानता है

आज़ादी के अमृत महोत्सव के समय भी मुसहर एक दंतकथा बने हुए हैं। बोलचाल में उनको लोग बन (वन) का राजा कहते हैं और...

ताज़ा ख़बरें